scorecardresearch

इंफ़ोसिस सीईओ सलिल पारेख का पैकेज करीब 80 करोड़ का, 88 फ़ीसदी इंक्रीमेंट

सलिल पारेख ने जनवरी 2018 में इंफोसिस कंपनी के मैनेजिंग डायरेक्टर और सीईओ का पद संभाला था।

salil parekh| it sector| buisness news|
इंफोसिस सीईओ सलिल पारेख (Photo credit: Samyukta Lakshmi/Bloomberg)

मई का महीना चल रहा है और लगभग सभी कंपनियां अप्रेजल दे रही हैं। लेकिन देश की जानी-मानी आईटी कंपनी इंफोसिस ने अपने सीईओ की सैलरी में जबरदस्त इजाफा किया है। आपको आपको इन्फोसिस के सीईओ सलिल पारेख की सैलरी करीब 88% बढ़ाई गई है। पहले उनकी सैलरी करीब 42 करोड़ रुपए थी लेकिन अब यह करीब 80 करोड़ रुपए पहुंच गई है।

कंपनी ने यह फैसला सलिल पारेख को मैनेजिंग डायरेक्टर बनाने के कुछ दिन बाद ही लिया है। हाल ही में सलिल पारेख को इन्फोसिस का मैनेजिंग डायरेक्टर बनाया गया और यह नियुक्ति 2027 तक लागू रहेगी। यानी उन्हें 5 साल के लिए मैनेजिंग डायरेक्टर बनाया गया है। सलिल पारेख को इतनी बड़ी इंक्रीमेंट उनके काम को देखते हुए दिया गया है। बता दें कि पिछले 1 साल में इंफोसिस ने जबरदस्त ग्रोथ किया है।

कंपनी ने वार्षिक रिपोर्ट में बताया कि पारेख के प्रस्तावित वार्षिक पारिश्रमिक में लगभग 97 प्रतिशत वृद्धि उनके प्रदर्शन से जुड़ी है। संशोधित पारिश्रमिक के तहत, उनका निर्धारित मुआवजा लक्ष्य पर इस कुल मुआवजे के 15 प्रतिशत से भी कम होगा, जो कि उनकी मौजूदा शर्तों के तहत लगभग 23 प्रतिशत है।

कंपनी ने एक बयान में कहा, “सलिल के नेतृत्व में कंपनी का कुल शेयरधारक रिटर्न (टीएसआर) 314 प्रतिशत था, जो प्रतिस्पर्धियों में सबसे अधिक था। सलिल के नेतृत्व में कंपनी की राजस्व वृद्धि 70,522 करोड़ रुपये (वित्तीय वर्ष 2018) से बढ़कर 1,21,641 करोड़ रुपये (वित्तीय 2022) हो गई और सीएजीआर 9 फीसदी से बढ़कर 15 फीसदी पहुंच गया। साथ ही शुद्ध मुनाफा भी 16,029 करोड़ रुपये से बढ़कर 22,110 करोड़ रुपये हो गया है।”

सलिल पारेख ने जनवरी 2018 में इंफोसिस कंपनी का मैनेजिंग डायरेक्टर और सीईओ पद संभाला था और उन्हें आईटी इंडस्ट्री में काम करते हुए 30 साल से भी अधिक का समय हो चुका है। इसके पहले वह कैपजेमिनी कंपनी में थे और वहां पर उन्होंने करीब 25 साल तक काम किया। सलिल पारेख की सैलरी दुनिया में कई सीईओ की सैलरी से भी अधिक है। टि्वटर के सीईओ पराग अग्रवाल की सैलरी से भी अधिक इंफोसिस के सीईओ की सैलरी है।

पढें व्यापार (Business News) खबरें, ताजा हिंदी समाचार (Latest Hindi News)के लिए डाउनलोड करें Hindi News App.

अपडेट