अगस्त में औद्योगिक उत्पादन की वृद्धि दर मात्र 0.4 प्रतिशत रही

नई दिल्ली। देश का औद्योगिक क्षेत्र अभी नरमी से बाहर नहीं आया है। अगस्त में औद्योगिक उत्पादन की वृद्धि दर मात्र 0.4 प्रतिशत रही जो पांच महीने का निम्नतम स्तर है। वृद्धि दर में यह गिरावट मुख्य रूप से विनिर्माण क्षेत्र तथा उपभोक्ता वस्तु क्षेत्र के उत्पादन के घटने के कारण है। औद्योगिक उत्पादन सूचकांक […]

नई दिल्ली। देश का औद्योगिक क्षेत्र अभी नरमी से बाहर नहीं आया है। अगस्त में औद्योगिक उत्पादन की वृद्धि दर मात्र 0.4 प्रतिशत रही जो पांच महीने का निम्नतम स्तर है। वृद्धि दर में यह गिरावट मुख्य रूप से विनिर्माण क्षेत्र तथा उपभोक्ता वस्तु क्षेत्र के उत्पादन के घटने के कारण है। औद्योगिक उत्पादन सूचकांक (आईआईपी) द्वारा मापी जाने वाली औद्योगिक वृद्धि पिछले साल अगस्त में भी 0.4 प्रतिशत ही थी।

केंद्रीय सांख्यिकी कार्यालय की ओर से जारी आंकड़ों के अनुसार,इस बार जुलाई की वृद्धि दर को संशोधित कर 0.41 प्रतिशत किया गया है। प्रारंभिक आंकड़ों के आधार पर इसे पहले 0.5 प्रतिशत बताया गया था। वित्त वर्ष 2014-15 के अप्रैल-अगस्त के दौरान औद्योगिक उत्पादन वृद्धि 2.8 प्रतिशत रही जबकि पिछले वित्त वर्ष की इसी अवधि में उत्पादन एक साल पहले के स्तर पर ही बना हुआ था।

 

Next Story
सीबीआइ निदेशक रंजीत सिंह मुश्किल में
अपडेट