ताज़ा खबर
 

डॉलर के मुकाबले रुपए दो पैसे चढ़कर ₹66.69/डॉलर पर पहुंचा

अन्तरमुद्रा कारोबार में पौंड, यूरो और जापानी येन के मुकाबले रुपए में गिरावट आई।

Author मुंबई | February 28, 2017 9:02 PM
बाजार में 28 फरवरी (मंगलवार) को भारतीय रुपया बनाम अमेरिकी डॉलर। (पीटीआई ग्राफिक्स)

निर्यातकों और बैंकों की छिटपुट डॉलर बिकवाली से सुस्त और नीरस कारोबार के दौरान रुपया मंगलवार (28 फरवरी) को दो पैसे की मामूली तेजी के साथ 66.69 रुपए प्रति डॉलर पर बंद हुआ। दिन के उत्तरार्द्ध में अमेरिकी कांग्रेस के संयुक्त सत्र की बैठक में अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप के भाषण और प्रमुख घरेलू वृहद आर्थिक आंकड़ों के आने से पहले व्यापारी ताजा बड़े सौदों को खरीदने में सतर्कता बरतते नजर आये। केंद्रीय सांख्यिकी कार्यालय (सीएसओ) द्वारा बाजार के बंद होने के बाद तीसरी तिमाही के (अक्तूबर से दिसंबर) सकल घरेलू उत्पाद (जीडीपी) के आंकड़े घोषित किये जायेंगे जिसमें दूसरी बार पूरे वर्ष के अग्रिम अनुमान को भी जारी किया जायेगा।

अन्तरबैंक विदेशी मुद्रा बाजार में आयातकों की मासांत डॉलर मांग के कारण रुपया 66.80 रुपए प्रति डॉलर पर कमजोर खुला लेकिन दोपहर के कारोबार में यह रुख पलट गया और यह दिन के ताजा उच्चतम स्तर 66.68 रुपए प्रति डॉलर के स्तर को छू गया और अंत में यह दो पैसे अथवा 0.03 प्रतिशत की मामूली तेजी दर्शाता 66.69 रुपए प्रति डॉलर पर बंद हुआ। पिछले लगातार तीन दिन के कारोबार में रुपए में 27 पैसे की तेजी आई है।

बंबई शेयर बाजार का सूचकांक आज (मंगलवार, 28 फरवरी) 69.56 अंक की गिरावट दर्शाता 28,743.32 अंक पर बंद हुआ। इस बीच भारतीय रिजर्व बैंक ने मंगलवार (28 फरवरी) के कारोबार के लिये संदर्भ दर 66.7375 रुपए प्रति डॉलर और यूरो-रुपए के लिये 70.7151 रुपए प्रति यूरो निर्धारित की थी। अन्तरमुद्रा कारोबार में पौंड, यूरो और जापानी येन के मुकाबले रुपए में गिरावट आई।

सेंसेक्स में 70 अंकों की गिरावट, निफ़्टी 8879 पर बंद

बाजार में मंगलवार (28 फरवरी) को लगातार दूसरे दिन गिरावट रही और सेंसेक्स 70 अंक की गिरावट के साथ 28,743 अंक पर बंद हुआ। चाले वित्त वर्ष की तीसरी तिमाही के जीडीपी आंकड़े जारी होने से पहले यह गिरावट आयी है। निवेशकों को दिसंबर तिमाही के जीडीपी आंकड़ों का इंतजार है। वे देखना चाहते हैं कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के पिछले वर्ष नवंबर में लिये गये नोटबंदी के फैसले से मांग पर वास्तव में कितना प्रभाव पड़ा है। जीडीपी आंकड़े मंगलवार को शाम जारी होने वाले हैं। तीस शेयरों वाला सूचकांक आज कारोबार के दौरान 28,876.54 से 28,721.12 अंक के दायरे में रहा और अंत में 69.56 अंक या 0.24 प्रतिशत की गिरावट के साथ 28,743.31 अंक पर बंद हुआ। सेंसेक्स में सोमवार को 80.09 अंक की गिरावट आयी थी। नेशनल स्टॉक एक्सचेंज का निफ्टी भी 17.10 अंक या 0.19 प्रतिशत की गिरावट के साथ 8,879.60 अंक पर बंद हुआ। कारोबार के दौरान यह 8,914.75 से 8,867.60 अंक के दायरे में रहा।

अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड्र ट्रंप के मंगलवार को कांग्रेस को संबोधित करने से पहले निवेशकों ने सतर्क रुख अपनाया। अपने संबोधन में वह कर सुधारों और बुनियादी ढांचा व्यय के बारे में बात कर सकते हैं। आइडिया सेल्यूलर शुरुआती कारोबार में 6.5 प्रतिशत गिरने के बाद बढ़त के साथ बंद हुआ। ऐसी खबर थी कि प्रोवाइडेंस इक्विटी पार्टनर्स दूरसंचार कंपनी में अपनी 3.33 प्रतिशत हिस्सेदारी बेचकर दूरसंचार कंपनी से बाहर निकल सकती है। हालांकि, स्मॉल कैप और मिड कैप सूचकांकों में 0.59 प्रतिशत और 0.14 प्रतिशत की बढ़त दर्ज की गयी। बिक्री के आंकड़े बुधवार (1 मार्च) को जारी होने से पहले बजाज ऑटो, हीरो मोटो कॉर्प, मारुति सुजुकी और टाटा मोटर्स जैसी वाहन कंपनियों में बिकवाली गतिविधियां रही और इन शेयरों में 1.56 प्रतिशत तक की गिरावट आयी।

SBI के ATM से निकले 2000 रुपए के ‘चिल्ड्रन बैंक ऑफ इंडिया’ के नोट

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App