ताज़ा खबर
 

Indian Railways चलाने जा रहा खादी एक्सप्रेस, जानें क्या है खासियत

खादी के कारोबार में बीते चार साल में तीन गुना की तेजी आई है। खादी ने 2014-15 में 811 करोड़ रुपये का कारोबार किया। वहीं 2017-18 में यह कारोबार 2,509 करोड़ रुपये पार कर गया।

ट्रेन में खादी से जुड़ी गांधी जी की प्रदर्शनी लगाई जाएगी। (फोटो सोर्स : Indian Express)

भारतीय रेलवे खादी एक्सप्रेस चलाने की योजना बना रहा है। इस खास ट्रेन को चलाने का मकसद खादी के उत्पादों को लेकर लोगों में जागरूकता फैलाना है। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी भी खादी के इस्तेमाल के लिए लोगों से अपील कर चुकेहैं। खादी के उत्पादों में बीते चार साल में आई तीन गुना की तेजी से उत्साहित खादी ग्रामोद्योग आयोग ने ही रेल मंत्रालय को पत्र लिख खादी एक्सप्रेस चलानी की मांग की है।

पीटीआई की खबर के अनुसार, खादी एंड विलेज इंडस्ट्रीज कमीशन (केवीआईसी) के चेयरमैन विनय कुमार सक्सेना ने बताया कि, आयोग ने राष्ट्रपिता महात्मा गांधी की 150वीं जयंती को ध्यान में रखते हुए रेल मंत्रालय को एक विशेष ‘खादी एक्सप्रेस ट्रेन’ चलाने की मांग की है। यह ट्रेन पांच डिब्बों की होगी। खादी एक्सप्रेस ट्रेन में खादी से जुड़ी गांधी जी की प्रदर्शनी लगाई जाएगी। साथ ही खादी उत्पादों को बेचा भी जाएगा। यह विशेष ट्रेन गांधी जी के भ्रमण किए स्थानों पर पहुंचेगी। ऐसे हर स्टेशन पर ट्रेन को एक दिन रोकने की योजना बनाई जा रही है।

चेयरमैन विनय कुमार सक्सेना ने बताया कि, खादी के कारोबार में बीते चार साल में तीन गुना की तेजी आई है। उन्होंने कहा, खादी ने 2014-15 में 811 करोड़ रुपये का कारोबार किया। वहीं 2017-18 में यह कारोबार 2,509 करोड़ रुपये पार कर गया। सक्सेना ने कहा, अगर प्रतिशत के लिहाज से देखा जाए तो केंद्र में मोदी सरकार आने के बात खादी में 37 परसेंट की बढ़ोत्तरी हुई। इससे पहले 2004 से 2014 के बीच हर साल केवल 6.68 प्रतिशत की वृद्धि हुई। इतना ही खादी के प्रति लोगों के रुझान को देखते हुए खादी के केंद्र की संख्या में भी तेजी रही। अब तक खादी के 1,060 केंद्र खुल चुके हैं।

 

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App