ताज़ा खबर
 
  • राजस्थान

    Cong+ 94
    BJP+ 80
    RLM+ 0
    OTH+ 25
  • मध्य प्रदेश

    Cong+ 109
    BJP+ 110
    BSP+ 6
    OTH+ 5
  • छत्तीसगढ़

    Cong+ 60
    BJP+ 21
    JCC+ 8
    OTH+ 1
  • तेलांगना

    TRS-AIMIM+ 89
    TDP-Cong+ 22
    BJP+ 2
    OTH+ 6
  • मिजोरम

    MNF+ 29
    Cong+ 6
    BJP+ 1
    OTH+ 4

* Total Tally Reflects Leads + Wins

Indian Railways: भगवान विश्वनाथ के दर्शन के लिए चली स्पेशल ट्रेन, जानें टाइमिंग और बाकी डिटेल्स

वाराणसी लेकर जाने वाली एक विशेष ट्रेन के लिए बक्सर में जनता की मांग पूरी करते हुए रेलवे ने बुधवार को एक मेमू ट्रेन शुरू की, जो दोनों शहरों को जोड़ेगी।

Author नई दिल्ली | November 29, 2018 1:49 PM
गंगा में पवित्र स्रान और भगवान विश्वनाथ के दर्शन करने के लिए श्रद्धालुओं को वाराणसी लेकर जाने वाली एक विशेष ट्रेन के लिए बक्सर में जनता की मांग पूरी करते हुए रेलवे ने बुधवार को एक मेमू ट्रेन शुरू की, जो दोनों शहरों को जोड़ेगी।

गंगा में पवित्र स्रान और भगवान विश्वनाथ के दर्शन करने के लिए श्रद्धालुओं को वाराणसी लेकर जाने वाली एक विशेष ट्रेन के लिए बक्सर में जनता की मांग पूरी करते हुए रेलवे ने बुधवार को एक मेमू ट्रेन शुरू की, जो दोनों शहरों को जोड़ेगी। बिहार के बक्सर में 16 बोगियों वाली मेनलाइन इलेक्ट्रिक मल्टीपल यूनिट (मेमू) ट्रेन सुबह छह बजकर 15 मिनट पर अपनी यात्रा शुरू करेगी और सुबह नौ बजकर 45 मिनट पर उत्तर प्रदेश के वाराणसी पहुंचेगी। रेल राज्यमंत्री मनोज सिन्हा ने वीडियो कांफ्रेसिंग के जरिए ट्रेन को हरी झंडी दिखाई।
सिन्हा ने कहा, ‘‘लोग सुबह छह बजकर 15 मिनट पर अपनी यात्रा शुरू कर सकते हैं और दस बजे तक पहुंच सकते है।

इसके बाद वे भगवान विश्वनाथ के दर्शन कर सकते हैं, गंगा में स्रान कर सकते हैं और शाम छह बजकर 45 मिनट पर वापसी की यात्रा शुरू करके रात 10 बजे तक बक्सर लौट सकते हैं। 16 बोगियों वाली मेमू ट्रेन में 1,500 लोगों को ले जाने की क्षमता है।’’ इस मौके पर बक्सर से सांसद एवं स्वास्थ्य और परिवार कल्याण राज्य मंत्री अश्विनी कुमार चौबे भी मौजूद रहे।
उन्होंने कहा, ‘‘आज बक्सर के लोगों के लिए खुशी का क्षण है क्योंकि इस सीधी ट्रेन से उन्हें काशी जाने में मदद मिलेगी। यह उल्लेखनीय है कि इस सरकार के कार्यकाल के दौरान बक्सर में कई विकास कार्य किए गए।’’ चौबे ने यह भी प्रस्ताव दिया कि मेमू में मुनि विश्वमित्र और भगवान राम के चित्र लगे होने चाहिए ताकि ंिहदू देवता से बक्सर के जुड़ाव का देशभर में प्रचार किया जा सके।

उन्होंने कहा, ‘‘हालांकि अयोध्या भगवान राम की जन्म भूमि है लेकिन बक्सर उनकी ‘कर्मभूमि’ है। यहां पर उन्होंने प्रशिक्षण लिया।’’ बहरहाल, सिन्हा ने इस अनुरोध पर कोई वादा नहीं किया। उन्होंने कहा कि यह ट्रेन कई ऐतिहासिक महत्व के शहरों से होकर गुजरेगी और किसी खास थीम पर इस पर तस्वीरें बनाना दूसरों की भावनाओं को ठेस पहुंचा सकता है।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App