ताज़ा खबर
 

अब स्‍टेशन पर सुव‍िधा देने के नाम पर यात्र‍ियों से पैसे वसूलेगा रेलवे, ये है प्‍लान

रेलवे का मानना है कि अगर यात्रियों को सुविधाएं दी जाए तो वे खर्च करने के लिए तैयार दिखते हैं। ऐसा कई सर्वे में सामने आया है। लिहाजा कमाई बढ़ाने के लिए विकास शुल्क एक सही रास्ता रेलवे को नजर आता है।

इंडियन रेलवे। (प्रतीकात्मक तस्वीर)

रेलवे यात्रियों से यूजर डेवलपमेंट फी के नाम पर यात्रियों से पैसे वसूल सकता है। रेलवे की योजना है कि स्टेशनों पर एयरपोर्ट जैसी मिलने वाली सुविधाएं दी जाए, इसके लिए रेलवे यात्रियों से 10 रुपये प्रति यात्रा वसूलने की योजना बना रहा है। एयरपोर्ट पर भी पैसेंजर्स से ऐसे ही चार्ज लिये जाते हैं। हालांकि इस योजना का खाका अभी तैयार ही किया जा रहा है। अंग्रेजी अखबार मिंट में छपी एक खबर के मुताबिक ये चार्ज सिर्फ एयर कंडीशन और चेयर कार में सफर करने वाले यात्रियों से लिया जाएगा। साथ ही ये चार्ज सिर्फ उन्ही टिकटों पर लिया जाएगा जहां इनकी कीमत 500 रुपये से ज्यादा है। नाम ना बताने की शर्त पर एक रेलवे अधिकारी ने कहा, “हमारी योजना है कि यात्रियों से 5 और 10 रुपये की छोटी रकम ली जाए, ये रकम एसी और चेयर कार की उन टिकटों पर लिया जाएगा जिसकी कीमत 500 से ज्यादा है। अब स्टेशनों में स्वचालित सीढ़ियां लगाई जा रही है, इनका सौंदर्यीकरण किया जा रहा है, इसे मैंटेन करने के लिए हमें पैसे चाहिए होंगे।” हालांकि इस प्रस्ताव पर रेलवे ने अंतिम फैसला नहीं लिया है। इस बावत जब रेल मंत्रालय से ईमेल से प्रतिक्रिया मांगी गई तो अबतक कोई जवाब नहीं आया।

HOT DEALS
  • Apple iPhone 6 32 GB Space Grey
    ₹ 25799 MRP ₹ 30700 -16%
    ₹3750 Cashback
  • Moto G6 Deep Indigo (64 GB)
    ₹ 15694 MRP ₹ 19999 -22%
    ₹0 Cashback

बता दें कि रेल मंत्रालय देश के सभी रेलवे स्टेशनों का कायाकल्प करने वाली है। इस परियोजना में रेल मंत्रालय अरबों रुपये खर्च करने वाला है। रेलवे की योजना है कि स्टेशनों पर स्वचालित सीढ़ियां लगाई जाए, मॉल बनाए जाएं और लिफ्ट लगाकर इसे यूजर फ्रेंडली किया जाए। पिछले साल रेलवे ने 400 स्टेशनों के आधुनिकीकरण की घोषणा की थी, बाद में इस लक्ष्य को बढ़ाकर 600 कर दिया गया था। इतने बड़े प्रोजेक्ट को पूरा करने के लिए रेलवे को बड़े फंड की जरूरत है। इधर रेलवे फिलहाल किराये को भी बढ़ाने में असमर्थ है। आम चुनाव को देखते हुए अभी इसकी संभावना कम ही नजर आती है। इसलिए रेलवे ने कमाई के लिए अप्रत्यक्ष तरीकों का सहारा लिया है। रेलवे का मानना है कि अगर यात्रियों को सुविधाएं दी जाए तो वे खर्च करने के लिए तैयार दिखते हैं। ऐसा कई सर्वे में सामने आया है। लिहाजा कमाई बढ़ाने के लिए विकास शुल्क एक सही रास्ता रेलवे को नजर आता है।

 

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App