ताज़ा खबर
 

तेजस और शताब्‍दी ट्रेनों में अब नहीं मिलेगा फिल्‍मों, वीडियो गेम्‍स और गानों का मजा, जानिए क्‍यों

भारत में पहली तेजस एक्सप्रेस मुंबई और गोवा के बीच मई 2017 में शुरू की गई थी। इसमें काफी सुविधाएं दी गई थीं। इसमें दिए गए इंफोटेनमेंट एलसीडी डिवाइस यात्रियों के लिए प्रमुख आकर्षण हैं।

भारत की प्रीमियम ट्रेन तेजस एक्सप्रेस की शुरुआत इसी साल मई 2017 में हुई थी (Express photo by Nirmal Harindran 21st May 2017, मुंबई )

तेजस एक्सप्रेस और मुंबई अहमदाबाद शताब्दी में अगर आपने सफर किया होगा, तो मूवी, गेम्स और म्यूजिक का मजा भी लिया होगा। इन ट्रेनों में रेलवे ने एंटरटेनमेंट के लिए सीट के पीछे एलसीडी स्क्रीन लगाए थे। दरअसल यात्रियों ने इन एलसीडी स्क्रीन्स को तोड़ दिया है। इनके वायर तोड़ दिए हैं। हैडफोन गायब कर दिए हैं। वहीं पावर स्विच भी निकाल दिए हैं। इसी की वजह से रेलवे ने तेजस एक्सप्रेस और मुंबई-अहमदाबाद शताब्दी में लगे एलसीडी स्क्रीन्स को निकालने का फैसला किया है। अब इन ट्रेनों में ऑन बोर्ड इन्फोटेनमेंट सर्विस नहीं मिलेगी।

रेलवे बोर्ड के वरिष्ठ अधिकारी ने यह भी कहा कि सभी क्षेत्रीय रेलवे को आदेश दिए गए हैं और वे इस पर एक्शन लेंगे और एलसीडी स्क्रीन को हटा देंगे। यह आदेश फरवरी में दिया गया था। हिन्दुस्तान टाइम्स के मुताबिक रेलवे के सभी जोन ने इन एलसीडी स्क्रीन्स को हटाना शुरू कर दिया है। चूंकि रेलवे ट्रेनों से एलईडी स्क्रीन हटाने जा रहा है, वहीं सभी ट्रेनों में मुफ्त वाई-फाई उपलब्ध कराने की प्लानिंग कर रहा है। वरिष्ठ अधिकारी ने कहा कि सभी ट्रेनों में वाई-फाई सुविधा उपलब्ध होगी। अभी केवल प्रीमियम ट्रेनों में वाई फाई की सुविधा है।

भारत में पहली तेजस एक्सप्रेस मुंबई और गोवा के बीच मई 2017 में शुरू की गई थी। इसमें काफी सुविधाएं दी गई थीं। इसमें दिए गए इंफोटेनमेंट एलसीडी डिवाइस यात्रियों के लिए प्रमुख आकर्षण हैं। रेलवे बोर्ड के सूचना और प्रचार निदेशक वेद प्रकाश ने बताया कि हमने तेजस एक्सप्रेस की समीक्षा की और पाया कि इंफोटेनमेंट डिवाइसों को यात्री लगातार खराब कर रहे हैं। अब इन डिवाइसों को ट्रेनों से हटा दिया जाएगा। एंटरटेनमेंट के लिए यात्री अब अपना स्मार्टफोन इस्तेमाल करेंगे। रेलवे ट्रेन में हॉटस्पॉट वाई फाई की सुविधा देगी।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App