ताज़ा खबर
 

टिकट कैंसिलेशन से रेलवे हुआ मालामाल! एक साल में कमाए 13.94 अरब रुपये

अपनी जीवन गाथा के बारे में सोशल मीडिया पर जिक्र करने के कारण साइबर हमलों और ट्रोल की शिकार होने के बाद चर्चा में आयीं हानन ने यहां खादी के प्रचार में पारंपरिक साड़ी पहनकर रैम्प वॉक किया।

Author August 2, 2018 6:51 PM
तस्वीर का प्रयोग प्रतीक के तौर पर किया गया है। (एक्सप्रेस आर्काइव फोटो)

अपनी जीवन गाथा के बारे में सोशल मीडिया पर जिक्र करने के कारण साइबर हमलों और ट्रोल की शिकार होने के बाद चर्चा में आयीं हानन ने यहां खादी के प्रचार में पारंपरिक साड़ी पहनकर रैम्प वॉक किया। हानन एक कॉलेज छात्रा हैं। सरकारी केरल खादी बोर्ड के ओणम-बकरीद एक्सपो के तहत कल आयोजित फैशन शो में चेहरे पर मुस्कान लिये हानन बेहद आत्मविश्वास के साथ रैम्प पर उतरीं। 21 वर्षीय छात्रा ने हाल में सोशल मीडिया पर अपने जीवन संघर्ष की गाथा साझा की थी। अपने पोस्ट में उन्होंने बताया था कि किस तरह से उन्हें पढ़ाई और अपने परिवार की देखभाल में दुश्वारियों का सामना करना पड़ा। उन्होंने दावा किया अपनी पढ़ाई पूरी करने और परिवार चलाने के लिये उन्होंने मछलियां बेचीं।

शहर के बीचोंबीच कनकाक्कुन्नू पैलेस में आयोजित फैशन शो में केरल की पारंपरिक साड़ी पहने हानन ने दर्शकों की तालियों की गड़गड़ाहट के बीच रैम्प पर चहलकदमी की।
यह मंच और वहां मौजूद दर्शक हानन के लिये नये नहीं थे क्योंकि अपनी आजीविका के लिये पहले भी वह इन कार्यक्रमों में एंकर और अन्य तरह से काम कर चुकी हैं।
खादी बोर्ड की उपाध्यक्ष शोभना जॉर्ज ने पीटीआई-भाषा से कहा कि सरकार प्रायोजित कार्यक्रम में हिस्सा लेकर छात्र बेहद खुश थे।

फैशन शो में हिस्सा लेने से पहले हानन ने कल राज्य के मुख्यमंत्री पिनाराई विजयन और विपक्ष के नेता रमेश चेन्नीतला से मुलाकात की और उनके समर्थन के लिये शुक्रिया अदा किया।
पिछले सप्ताह एक मलयालम अखबार में हानन की संघर्ष की दास्तां प्रकाशित होने के बाद उनकी कहानी वायरल हो गयी थी, जिसे सोशल मीडिया पर खूब साझा किया गया था। हालांकि सोशल मीडिया पर एक वर्ग ने उनकी कहानी पर संदेह जाहिर किया और इसे ‘झूठा’ बताया। यहां के एक निजी कॉलेज में बीएससी की छात्रा हानन को केरल के मुख्यमंत्री ने ‘‘सरकार की बेटी’’ बताया और उसे हरसंभव मदद का आश्वासन दिया।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App