ताज़ा खबर
 

मनमोहन सिंह के कार्यकाल में अर्थव्यवस्था अच्छी स्थिति में नहीं थी: नायडू

वेंकैया नायडू ने कहा, 'यह राजग सरकार थी जिसके कार्यकाल में भारत ने सात प्रतिशत से अधिक की वृद्धि दर हासिल की और गरीब, विकास प्रक्रिया का हिस्सा बने।'

Author नई दिल्ली | January 31, 2017 4:32 PM
Venkaiah Naidu news, Venkaiah Naidu latest news, Venkaiah Naidu vs Manmohan Singh, Indian Economy newsसंसद भवन में केंद्रीय सूचना एवं प्रसारण मंत्री एम. वैंकैया नायडू (फाइल फोटो)

पूर्व प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह पर पलटवार करते हुए केन्द्रीय मंत्री वेंकैया नायडू ने मंगलवार (31 जनवरी) को कहा कि उनके कार्यकाल में अर्थव्यवस्था अच्छी स्थिति में नहीं थी और यह राजग सरकार थी जिसके कार्यकाल में भारत ने सात प्रतिशत से अधिक की वृद्धि दर हासिल की और गरीब, विकास प्रक्रिया का हिस्सा बने। नायडू ने कहा कि मुद्रास्फीति को इसके सबसे निचले स्तर पर लाया गया है और प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी के नेतृत्व में भारत निवेशकों के लिए आकर्षक गंतव्य बन गया है एवं भारत के पास अब ‘सबसे अधिक’ विदेशी मुद्रा भंडार है। विमुद्रीकरण के बाद अधिक संख्या में लोग कर के दायरे में आ रहे हैं जिससे कर की दरें स्वत: ही नीचे आने वाली हैं।

सोमवार को मनमोहन सिंह ने मोदी सरकार पर हमला बोलते हुए कहा था कि भारतीय अर्थव्यवस्था अच्छी स्थिति में नहीं है और यहां तक कि अंतरराष्ट्रीय मुद्राकोष ने देश की जीडीपी वृद्धि का अनुमान घटा दिया है और यह 7.6 प्रतिशत नहीं रहेगी, बल्कि 6.6 प्रतिशत से कम रहेगी। नायडू ने यहां एक कार्यक्रम के दौरान कहा, ‘देश की अर्थव्यवस्था उनके (सिंह के) कार्यकाल में अच्छी स्थिति में नहीं थी। हमें राजकोषीय घाटा, राजस्व घाटा और चालू खाते का घाटा विरासत में मिला। वहां से हमने सुधार किया और देश को सात प्रतिशत से ऊपर की वृद्धि दर पर पहुंचाया। अब देश में सबसे अधिक विदेशी मुद्रा भंडार, सबसे कम मुद्रास्फीति है, आपको और किस चीज की जरूरत है।’

उन्होंने कहा कि राजग के शासनकाल में तेज गति से बदलाव हो रहा है और देश में पहली बार गरीबों ने यह महसूस करना शुरू किया है कि वे भी विकास प्रक्रिया का हिस्सा हैं। नायडू ने कहा, ‘हम पहले ही कह चुके हैं कि विमुद्रीकरण प्रधानमंत्री द्वारा उठाया गया एक जबरदस्त कदम है। यह अल्पावधि में दर्द देने वाला, लेकिन दीर्घकाल में फायदा पहुंचाने वाला कदम है। यह एक पुरानी बीमारी के लिए कड़वी गोली है क्योंकि पिछली सरकार की खराब नीतियों के चलते देश इन बीमारियों से जूझ रहा था।’

Hindi News के लिए हमारे साथ फेसबुक, ट्विटर, लिंक्डइन, टेलीग्राम पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News AppOnline game में रुचि है तो यहां क्‍लिक कर सकते हैं।

Next Stories
1 सूरत के डायमंड मर्चेंट सावजी ढोलकिया ने कर्मचारियों को नए साल के बोनस में दी 1200 कारें
2 हर महीने सिर्फ 3000 रुपए जमा करके इस तरह से कमा सकते हैं 2 करोड़ से ज्यादा, जानिए कैसे
3 जल संरक्षण पर टाटा समूह, आॅस्ट्रेलिया के साथ शुरू करेगा 15 लाख अमेरिका डॉलर का पुरस्कार
ये पढ़ा क्या?
X