ताज़ा खबर
 

रिपोर्ट: एक रुपये में भी सोना खरीद रहे भारतीय, पर अब घट रही डिमांड

पिछले साल लॉन्च होने के बाद से, लगभग 3 मिलियन लोग प्लेटफॉर्म और कंपनी से पहले से ही लेनदेन कर चुके हैं, जो कि वर्ल्ड गोल्ड काउंसिल में निवेशकों के रूप में गिना जाता है।

पिछले साल सोने की मांग 2010 में 1,002 टन की चोटी से लगभग 23 प्रतिशत गिर गई।

भारतीय कम से कम एक रुपए में सोना खरीद रहे हैं। एक रुपए में सोना खरीदने का विकल्प ऑनलाइन उपलब्ध है, लेकिन अब इसकी डिमांड घट रही है। सरकारी उपायों और ऊंची स्थानीय कीमतों की वजह से यंग कस्टमर्स में इसकी डिमांड में कमी आ रही है। यह ज्वेलर्स को ज्यादा इंटरनेट सेवी, आबादी के लिए ऑनलाइन खरीद को अनुकूलित करने के लिए मजबूर कर रहा है। डिजिटल प्लेटफॉर्म सेफगोल्ड के मैनेजिंग डायरेक्टर गौरव माथुर के मुताबिक, “बहुत से लोग एक रुपये में खरीद रहे हैं, यह उत्पाद को आजमाने का एक कम जोखिम वाला तरीका है।” इस कीमत पर सोने की बिक्री शुरू करने के लिए फ्लिपकार्ट ऑनलाइन सर्विसेज प्राइवेट के फोनपे जैसे भुगतान ऐप के साथ साझेदारी की है। हिन्दुस्तान टाइम्स के मुताबिक खरीदारों को कम से कम एक ग्राम सोने का भुगतान करने के बाद इसकी फिजिकल डिलीवरी मिलती है, वर्तमान में एक ग्राम सोने की कीमत लगभग 3,200 रुपये है। माथुर ने कहा कि पारंपरिक बाजार में 1 ग्राम की न्यूनतम खरीद की तुलना में प्रवेश की कम बाधा, और तेजी से लेनदेन, जो लगभग 40 सेकंड में फोन पर किया जा सकता है, उत्पाद के लिए सबसे बड़ा आकर्षण है।

पिछले साल लॉन्च होने के बाद से, लगभग 3 मिलियन लोग प्लेटफॉर्म और कंपनी से पहले से ही लेनदेन कर चुके हैं, जो कि वर्ल्ड गोल्ड काउंसिल में निवेशकों के रूप में गिना जाता है, अगले साल तक इसे 15 मिलियन तक बढ़ाने का टारगेट है। देश की सोने की कुल खपत की तुलना में बाजार अभी भी छोटा है, जो सितंबर को समाप्त हुए नौ महीनों में 524 टन था। भारत में सोने की खपत का लगभग पूरा का पूरा आयात किया जाता है, सरकार के अपने घाटे को रोकने और टैक्स से बचने के लिए सोने का इस्तेमाल करने और काले धन से लड़ने के प्रयास इसकी डिमांड में गिरावट की वजह है।

पिछले साल सोने की मांग 2010 में 1,002 टन की चोटी से लगभग 23 प्रतिशत गिर गई। ऑगोंट की वेबसाइट के मुताबिक वह जनता के लिए 100 मिलीग्राम तक कम मात्रा के साथ सोने और चांदी के सिक्के सेल करता है। एक बयान में कहा गया है कि खुदरा दुकानों की तुलना में कम मात्रा में सोने उचित कीमत पर उपलब्ध है, लोगों की प्राथमिकता धीरे-धीरे डिजिटल सोने की खरीद में बदल रही है।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ लिंक्डइन पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App