ताज़ा खबर
 

2,000 Rupee note: अब Indian Bank के एटीएम से नहीं निकलेंगे 2,000 रुपये के नोट, ब्रांच में छोटे नोटों के लिए भीड़ लगने का हवाला देकर लिया फैसला

2000 rupee note: इंडियन बैंक के देश भर में कुल 3,988 एटीएम हैं। इनमें से 3,289 एटीएम ब्रांच के साथ ही हैं, जबकि 699 अलग हैं। अब इंडियन बैंक के किसी भी एटीएम से 100, 200 और 500 रुपये के नोट ही निकलेंगे।

प्रतीकात्मक तस्वीर

2000 rupee note latest news: अब तक 2,000 रुपये के नोटों को लेकर चल रहे तमाम तरह के कयासों के बीच यह बड़ी खबर है। इंडियन बैंक ने 2,000 रुपये के नोटों को एटीएम में न डालने का फैसला लिया है। सरकारी क्षेत्र के इस बैंक के देश भर में करीब 4,000 एटीएम हैं और लगभग 3,000 ब्रांच हैं। बता दें कि कुछ दिनों पहले ही इस संबंध में खबर थी कि एक सरकारी बैंक ने अपने सभी शाखाओं से 2,000 रुपये के नोटों को वापस मंगा लिया है। इसके अलावा अपने एटीएम में 2,000 रुपये के नोटों को न डालने का फैसला लिया है।

बैंक ने 2,000 रुपये के नोटों को एटीएम से हटाने के अपने फैसले को लेकर कहा है कि इससे ब्रांचों में अव्यवस्था फैल रही थी। बैंक ने कहा, ‘ग्राहक एटीएम से 2,000 रुपये निकालने के बाद शाखा में आ जाते हैं और उसके बदले में छोटे नोटों की मांग करते हैं। यह समस्या उन शाखाओं में ज्यादा आती है, जहां एटीएम भी लगे हुए हैं। ब्रांचों में लंबी लाइनें देखने को मिलती थीं। ऐसी स्थिति से बचने के लिए हमने 2,000 रुपये के नोटों को ही एटीएम से हटाने का फैसला लिया है।’

भारतीय रिजर्व बैंक के डेटा के मुताबिक इंडियन बैंक के देश भर में कुल 3,988 एटीएम हैं। इनमें से 3,289 एटीएम ब्रांच के साथ ही हैं, जबकि 699 अलग हैं। अब इंडियन बैंक के किसी भी एटीएम से 100, 200 और 500 रुपये के नोट ही निकलेंगे। बैंक का कहना है कि अभी जिन एटीएम में 2,000 रुपये के नोट मौजूद हैं, उन्हें 1 मार्च तक निकाल लिया जाएगा।

बता दें कि इंडियन बैंक का इलाहाबाद बैंक के साथ विलय होने वाला है। विलय के बाद इस फैसले का क्या होगा? इस संबंध में पूछे जाने पर इंडियन बैंक के अधिकारियों ने कहा कि विलय के बाद तैयार नए बैंक के प्रशासन के हाथ में यह फैसला होगा। वह तय कर सकते हैं कि आगे क्या करना है, लेकिन फिलहाल यह व्यवस्था लागू रहेगी।

गौरतलब है कि कई बार 2,000 रुपये के नोटों को लेकर यह अफवाह फैलती रही है कि सरकार इन्हें बंद करने पर विचार कर रही है। इसकी वजह यह भी बताई जाती रही है कि नकली नोट के कारोबारियों और ब्लैक मनी में डील करने वाले लोगों के लिए 2,000 रुपये का नोट आसान हथियार बनता रहा है।

Next Stories
ये पढ़ा क्या?
X