ताज़ा खबर
 

द्विपक्षीय संबंधों को मजबूत बनाएंगे वेनेजुएला-भारत

भारत और वेनेजुएला ने दोहरा कराधान बचाव संधि सहित अनेक महत्वपूर्ण समझौतों को अंतिम रूप देने पर सहमति जताई है।

Author नई दिल्ली | August 19, 2016 02:30 am
नई दिल्ली में वेनेजुएला की विदेश मंत्री डेल्सी रोद्रिगुएज से हाथ मिलातीं सुषमा स्वराज। (पीटीआई फोटो)

भारत और वेनेजुएला ने व्यापार व निवेश तथा हाइड्रोकार्बन सहित विभिन्न क्षेत्रों में द्विपक्षीय संबंधों को प्रगाढ बनाने के लिए गुरुवार (18 अगस्त) को बातचीत की। दोनों देशों ने दोहरा कराधान बचाव संधि सहित अनेक महत्वपूर्ण समझौतों को अंतिम रूप देने पर सहमति जताई है। वेनेजुएला की विदेश मंत्री डेल्सी रोद्रिगुएज ने आज (गुरुवार, 18 अगस्त) यहां विदेश मंत्री सुषमा स्वराज से मुलाकात की और उन्हें गुट निरपेक्ष आंदोलन (एनएएम) शिखर सम्मेलन में भारत की भागीदारी के लिए निमंत्रण व्यक्तिगत रूप से सौंपा। यह शिखर सम्मेलन अगले महीने वेनेजुएला में होना है।

यह माना जाता है कि यह निमंत्रण पत्र प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के लिए है। विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता विकास स्वरूप ने कहा,‘दोनों पक्षों ने विभिन्न क्षेत्रों में कई समझौतों को जल्द मूर्त रूप देने पर सहमति जताई है जिनमें प्रत्यर्पण संधि, दोहरा कर बचाव संधि, आपराधिक मामलों में साझा विधि मदद संधि, हवाई सेवा समझौता शामिल है।’ गुट निरपेक्ष आंदोलन के बारे में उन्होंने कहा कि सुषमा ने रेखांकित किया कि भारत इसे कितना महत्व देता है और विशेष रूप से जबकि वह इसके संस्थापक सदस्यों में से एक है और उन्होंने इसमें भारत की भागीदारी की पुष्टि की।

सुषमा ने रोद्रिगुएज से कहा कि भारत की भागीदारी का ब्यौरा तैयार किया जाएगा और शीघ्र ही सूचित किया जाएगा। क्या इस शिखर सम्मेलन में मोदी भाग लेंगे, स्वरूप ने कहा कि भारत की भागीदारी के स्तर के बारे में अभी फैसला नहीं किया गया है। इससे पहले 1979 में चौधरी चरण सिंह ने इस शिखर सम्मेलन में भाग नहीं लिया था। उल्लेखनीय है कि रोद्रिगुएज वेनेजुएला में 17-18 सितंबर को होने वाले एनएएम शिखर सम्मेलन में भारत की भागीदारी के लिए व्यक्तिगत रूप से निमंत्रण देने के लिए यहां आई हैं।

उनके साथ 14 सदस्यों का प्रतिनिधि मंडल भी आया है जिसमें पेट्रोलियम मंत्री इयूलोगियो डेल पिनो व उपमंत्री फेलिक्स प्लासेनिसिया शामिल है। स्वरूप ने कहा,‘उन्होंने विभिन्न द्विपक्षीय मुद्दों पर चर्चा की तथा यूएनएससी सुधार, संयुक्त राष्ट्र शांति बल व आतंकवाद सहित अनेक बहुपक्षीय मुद्दों पर भी विचार किया गया।’ स्वरूप ने कहा कि मेजबान मंत्री ने सुषमा को वेनेजुएला आने का न्योता दिया जिसे उन्होंने स्वीकार कर लिया।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App