ताज़ा खबर
 

ब्रेक्जिट के झटकों का सामना करने की पूरी तैयारी: केंद्र सरकार

आर्थिक मामलों के सचिव शक्तिकान्त दास ने भारत की घरेलू बुनियाद का हवाला देते हुए कहा कि यही वजह है कि हमारे ऊपर ब्रेक्जिट का दीर्घावधि का असर नहीं होगा।

Author नई दिल्ली | June 24, 2016 15:17 pm
आर्थिक मामलों के सचिव शक्तिकान्त दास। (पीटीआई फोटो)

ब्रेक्जिट के झटकों से भारत पर पड़ने वाले प्रभाव की चिंता को खारिज करते हुए सरकार ने शुक्रवार (24 जून) को कहा कि अर्थव्यवस्था के पास स्थिति से निपटने के लिए ‘काफी तरीके’ हैं। हालांकि, इस घटनाक्रम के बीच शेयर बाजारों तथा रुपए में भारी गिरावट आई है। आर्थिक मामलों के सचिव शक्तिकान्त दास ने भारत की घरेलू बुनियाद का हवाला देते हुए कहा कि यही वजह है कि हमारे ऊपर ब्रेक्जिट का दीर्घावधि का असर नहीं होगा। उन्होंने कहा कि सरकार और रिजर्व बैंक पिछले कई सप्ताह से संभावित प्रभावों को लेकर काम कर रहे हैं। उन्होंने कहा कि विदेशी मुद्रा भंडार की संतोषजनक स्थिति, मुद्रास्फीति के नीचे आने तथा बुनियादी सुधारों पर आगे बढ़ने की वजह से भारत इन सब झटकों को झेल जाएगा। दास ने कहा कि सरकार सभी झटकों के लिए तैयार है।

एक ऐतिहासिक घटनाक्रम में ब्रिटेन ने शुक्रवार (24 जून) को 43 साल बाद यूरोपीय संघ से बाहर निकलने के पक्ष में मत दिया। इस घटनाक्रम के बीच बंबई शेयर बाजार का 30 शेयरों वाला सेंसेक्स 1,050 से अधिक अंक नीचे आ गया। वहीं सभी सूचीबद्ध कंपनियों के बाजार पूंजीकरण में करीब 4,00,000 करोड़ रुपए की गिरावट आई। रुपए भी 96 पैसे टूटकर 68 प्रति डालर से नीचे चला गया।

दास ने कहा कि जहां तक शेयर बाजारों का सवाल है, तो यह किसी ऐसे घटनाक्रम जो उनकी उम्मीद के अनुरूप नहीं है, की वजह पर तात्कालिक प्रतिक्रिया है। यह प्रतिक्रिया अगले कुछ दिन में समाप्त हो जाएगी और मुझे उम्मीद है कि बाजार की स्थिति सुधरेगी। ब्रेक्जिट जनमत संग्रह की वजह से ही दास बीजिंग नहीं जा पाए हैं जिसके चलते भारत-चीन वित्तीय वार्ता को जुलाई तक स्थगित कर दिया गया है। उन्होंने कहा कि रुपए में आई गिरावट अन्य एशियाई मुद्राओं की दर्ज पर है। उन्होंने कहा, ‘आप जानते हैं कि पौंड स्टर्लिंग में गिरावट आ रही है इसलिए सभी मुद्राओं में गिरावट आ रही है।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App