India GDP News: दूसरी तिमाही में 8.4 प्रतिशत की दर से बढ़ी देश की अर्थव्‍यवस्‍था, अनुमानों के हिसाब से हुई ग्रोथ

अर्थव्यवस्था में सुधार का सबसे बड़ा कारण निजी खपत और निवेश में सुधार रहा है। 2020-21 की इसी जुलाई-सितंबर तिमाही में जीडीपी में 7.4 फीसदी की गिरावट आई थी।

India GDP News: दूसरी तिमाही में 8.4 प्रतिशत की दर से बढ़ी देश की अर्थव्‍यवस्‍था, अनुमानों के हिसाब से हुई ग्रोथ (File Photo)

देश की अर्थव्‍यवस्‍था में पहली तिमाही में भारी गिरावट के बाद बढ़ी है। यह विकास दर सभी अनुमानों के अनुसार ही 8.4 प्रतिशत दर से बढ़ी है। अर्थव्यवस्था में सुधार का सबसे बड़ा कारण निजी खपत और निवेश में सुधार रहा है। 2020-21 की इसी जुलाई-सितंबर तिमाही में जीडीपी में 7.4 फीसदी की गिरावट आई थी।

सांख्यिकी और कार्यक्रम कार्यान्वयन मंत्रालय की ओर से जानकारी दी गई है कि दूसरे क्‍वार्टर में 2021-22 में लगातार (2011-12) कीमतों पर सकल घरेलू उत्‍पाद (GDP) 35.73 लाख करोड़ रुपये होने का अनुमान है, जबकि 2020-21 की दूसरी तिमाही में 32.97 लाख करोड़ रुपये के मुकाबले, Q2 2020 में 7.4% की तुलना में 8.4% की वृद्धि रही है।

24.4 फीसद की दर से गिरी थी अर्थव्‍यवस्‍था
पिछली तिमाही (अप्रैल-जून) में, अर्थव्यवस्था ने पिछले साल की इसी अवधि की तुलना में 20.1 प्रतिशत की रिकॉर्ड वृद्धि देखी गई। हालाकि जब कोविड -19 महामारी के दौरान एक राष्ट्रीय तालाबंदी ने लगभग सभी आर्थिक गतिविधियों को रोक दिया था। इस कारण अप्रैल-जून 2020 में जीडीपी 24.4 फीसदी रही थी।

आठ सेक्‍टरों मे अच्‍छी रही बढ़त
वाणिज्‍य व उद्योग मंत्रालय द्वारा जारी आंकड़ों के अनुसार कोयला, कच्चा तेल, प्राकृतिक गैस, रिफाइनरी उत्पाद, उर्वरक, इस्पात, सीमेंट और बिजली के आठ बुनियादी ढांचा क्षेत्रों का उत्पादन अक्टूबर 2020 में 0.5 प्रतिशत कम हो गया था, जो अक्टूबर में 7.5 प्रतिशत की वृद्धि रही। इस साल सितंबर में कोर सेक्टर की ग्रोथ 4.5 फीसदी रही।

SBI के अनुसार 8.1% रह सकती है विकास दर
देश के सबसे बड़े बैंक भारतीय स्टेट बैंक (SBI) का अनुमान है कि GDP की विकास दर 8.1% रह सकती है। इसने कहा है कि दुनिया के सभी देशों की अर्थव्यवस्था की तुलना में भारत की विकास की रफ्तार ज्यादा रह सकती है।

यह भी पढ़े: दिसंबर में 12 दिन बैंकों में नहीं होगा कामः जानें- कहां, कब-कब बंद रहेंगे बैंक?

एलारा कैपिटल का अनुमान 9% का
एलारा कैपिटल ने जहां 9% की ग्रोथ की संभावना जताई है, वहीं सिटी बैंक ने 8.7% की संभावना जताई है। डच बैंक और बैंक ऑफ अमेरिका का मानना है कि भारत की ग्रोथ रेट 8% रह सकती है। कोटक सिक्योरिटीज ने 7% की ग्रोथ रेट की उम्मीद जताई है।

आरबीआई ने 7.9 प्रतिशत वृद्धि का अनुमान
भारतीय रिजर्व बैंक ने पहले जुलाई-सितंबर के लिए वास्तविक जीडीपी विकास दर 7.9 प्रतिशत रहने का अनुमान लगाया था। कोर सेक्टर ने 7.5% की वृद्धि मापी थी।

पढें व्यापार समाचार (Business News). हिंदी समाचार (Hindi News) के लिए डाउनलोड करें Hindi News App. ताजा खबरों (Latest News) के लिए फेसबुक ट्विटर टेलीग्राम पर जुड़ें।

अपडेट