ताज़ा खबर
 

भारत की जीडीपी ग्रोथ के 2.6 पर्सेंट पर सिमटने की आशंका, 30 साल के निचले स्तर पर होगी अर्थव्यवस्था, 21 दिन में डूबेंगे 8 लाख करोड़

GDP growth rate of India: फाइनेंशियल ईयर 2020-21 में देश की जीडीपी ग्रोथ के 2.6 पर्सेंट पर ही सिमट जाने का अनुमान है। बीते 30 सालों में देश की जीडीपी का यह सबसे निचला स्तर होगा।

gdpकोरोना के चलते 30 साल के निचले स्तर पर होगी भारत की जीडीपी ग्रोथ

GDP growth rate of India: कोरोना वायरस संक्रमण लोगों की ही जान नहीं ले रहा बल्कि अर्थव्यवस्था को भी झकझोर रहा है। देश के सबसे बड़े बैंक एसबीआई की मुख्य आर्थिक सलाहकार सौम्या कांति घोष ने फाइनेंशियल ईयर 2020-21 में देश की जीडीपी ग्रोथ के 2.6 पर्सेंट पर ही सिमट जाने का अनुमान जताया है। बीते 30 सालों में देश की जीडीपी का यह सबसे निचला स्तर होगा। इसके अलावा रेटिंग एजेंसी Crisil ने भी भारतीय अर्थव्यवस्था को लेकर अपने अनुमान में बड़ी कटौती की है। एजेंसी ने भारत की जीडीपी ग्रोथ के 3.5 पर्सेंट पर ही ठहर जाने का अनुमान जताया है। इससे पहले एजेंसी ने आर्थिक ग्रोथ के 5.2 फीसदी रहने की भविष्यवाणी की थी।

एसबीआई की आर्थिक सलाहकार ने कहा कि 21 दिनों के इस लॉकडाउन से 8 लाख करोड़ रुपये तक का लॉस होगा। इसके अलावा कमाई में 1.77 लाख करोड़ रुपये की गिरावट आएगी। प्रति व्यक्ति कमाई में कमी की बात की जाए तो यह भी 1.7 लाख करोड़ रुपये तक होगी। एसबीआई ने अपने अनुमान में 21 दिनों के लॉकडाउन के चलते जीडीपी में मौजूदा ग्रोथ के मुकाबले 1.7 फीसदी की गिरावट आने की आशंका जताई है। इससे पहले सिर्फ 2009 में ऐसा हुआ था, जब जीडीपी में इतनी तेजी के साथ गिरावट आई थी।

वैश्विक अर्थव्यवस्था में भी इसी गति से गिरावट की आशंका है और दुनिया की जीडीपी में भारत की हिस्सेदारी 3.5 पर्सेंट हिस्सेदारी की उम्मीद है। देश के सबसे बड़े बैंक ने लॉकडाउन के चलते 70 फीसदी कारोबारियों गतिविधियों पर ब्रेक की आशंका जताई है। यही नहीं खत्म होने जा रहे फाइनेंशियल ईयर 2019-20 की जीडीपी 5 पर्सेंट की बजाय सिर्फ 4.5 फीसदी पर ही ठहर जाने की आशंका है। दरअसल मौजूदा वित्त वर्ष की चौथी तिमाही में लॉकडाउन के चलते महज 2.5 पर्सेंट ही जीडीपी ग्रोथ का अनुमान है। इसके चलते पूरे साल की जीडीपी ग्रोथ प्रभावित होगी।

गौरतलब है कि पीएम नरेंद्र मोदी ने भी गुरुवार को कोरोना वायरस के मसले पर हुई जी-20 देशों के राष्ट्राध्यक्षों की वर्चुअल मीटिंग में कहा कि हमने अर्थव्यवस्था पर मानव जीवन को प्राथमिकता दी है। बता दें कि अमेरिका ने कोरोना संक्रमण से 1,000 से ज्यादा लोगों की मौत के बावजूद लॉकडाउन नहीं किया है। अमेरिका के दिग्गज अखबार न्यूयॉर्क टाइम्स ने राष्ट्रपति ट्रंप को भारत की तर्ज पर लॉकडाउन का सुझाव भी दिया है।

Coronavirus से जुड़ी जानकारी के लिए यहां क्लिक करें: कोरोना वायरस से बचना है तो इन 5 फूड्स से तुरंत कर लें तौबा | जानिये- किसे मास्क लगाने की जरूरत नहीं और किसे लगाना ही चाहिए |इन तरीकों से संक्रमण से बचाएं | क्या गर्मी बढ़ते ही खत्म हो जाएगा कोरोना वायरस?

Next Stories
1 30 जून तक बढ़ सकती है प्रधानमंत्री आवास योजना की आखिरी तारीख, फ्लैट की खरीद पर छूट का मौका
2 लॉकडाउन में आपकी सैलरी और कैश पर न हो संकट, केंद्र सरकार ने बैंकों को दिए मुस्तैदी से काम के आदेश
3 पीएम किसान सम्मान निधि योजना: अप्रैल के पहले सप्ताह में 8 करोड़ किसानों को एक साथ मिलेगी 2,000 रुपये की किस्त
यह पढ़ा क्या?
X