ताज़ा खबर
 

ब्रिटेन में तीसरा सबसे बड़ा FDI निवेशक बना भारत

ब्रिटेन में भारतीय कंपनियों का निवेश 2015 में करीब 65 प्रतिशत बढ़ा और अमेरिका तथा फ्रांस के बाद भारत इस देश में प्रत्यक्ष विदेशी निवेश (एफडीआई) का तीसरा सबसे बड़ा स्रोत बना गया है।

Author लंदन | April 30, 2016 12:11 AM
ब्रिटेन में भारतीय कंपनियों का निवेश 2015 में करीब 65 प्रतिशत बढ़ा और अमेरिका तथा फ्रांस के बाद भारत इस देश में प्रत्यक्ष विदेशी निवेश (एफडीआई) का तीसरा सबसे बड़ा स्रोत बना गया है। (FDI File Photo)

ब्रिटेन में भारतीय कंपनियों का निवेश 2015 में करीब 65 प्रतिशत बढ़ा और अमेरिका तथा फ्रांस के बाद भारत इस देश में प्रत्यक्ष विदेशी निवेश (एफडीआई) का तीसरा सबसे बड़ा स्रोत बना गया है। शुक्रवार को जारी एक रपट में यह बात सामने आयी है। रपट के अनुसार ब्रिटेन में तीव्र-वृद्धि दर्ज करने वाली भारतीय कंपनियों की संख्या साल भर पहले के 36 की तुलना में बढ़कर 62 हो गई। इस श्रेणी में ऐसी कंपनियों को रखा गया है जिनका कारोबार 10 प्रतिशत से अधिक की दर से बढ़ रहा है।

ग्रांट थार्नटन यूके एलएलपी द्वारा भारतीय उद्योग मंडल सीआईआई के साथ मिल कर प्रकाशित इस रपट में कहा गया कि तीव्र वृद्धि वाली भारतीय कंपनियों का कुल कारोबार 2015 में बढ़कर 26 अरब पाउंड हो गया जो 2014 में 22 अरब पाउंड था। इस रपट का शीर्षक है- इंडिया मीट्स ब्रिटेन 2016 ट्रैकिंग दी यूकेज टाप इंडियन कंपनीज।

ग्रांट थार्नटन यूके एलएलपी में दक्षिण एशियाई समूह प्रमुख अनुज चंदे ने कहा कि इस रपट से स्पष्ट है कि भारतीय कंपनियों द्वारा ब्रिटेन में निवेश का स्तर ऊंचा है। 2015 में भारत से यहां प्रत्यक्ष विदेशी निवेश 65 प्रतिशत बढ़ा जिससे ब्रिटेन के लिए भारत एफडीआई का तीसरा सबसे बड़ा स्रोत बन गया है।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App