ताज़ा खबर
 

जल्दी ही बिना भारतीय पंजीकरण के विदेशी विमान भरेंगे उड़ान

यह प्रस्ताव लागू होने से विमान पट्टे पर देने का कारोबार करने वाली इकाइयों के लिए काम आसान होगा।

Author नई दिल्ली | Published on: October 16, 2016 7:09 PM
एयरपोर्ट पर लैंड करती एयर इंडिया की फ्लाइट। (File Photo)

भारतीय एयरलाइनों को जल्दी ही विदेशों में पंजीकृत विमानों के परिचालन का मौका मिल सकता है। सरकार एयरलाइन कारोबार की आसानी के लिए दशकों पुराने कुछ नियमों को समाप्त करने की योजना बना रही है जिसमें इस तरह की सुगमता भी शामिल की जा सकती है। यह प्रस्ताव लागू होने से विमान पट्टे पर देने का कारोबार करने वाली इकाइयों के लिए काम आसान होगा क्यों कि उन्हें विमान को स्थानीय स्तर पर पंजीकृत कर उस पर निशान आदि लगाने की जरूरत खत्म हो जाएगी। साथ ही अगर वे पट्टे पर दिए गए विमान को वापस लेते हैं तो उसमें भी आसानी होगी।

सूत्रों ने कहा कि विदेश से पट्टे पर आए विमान को स्थानीय पंजीकरण कराने की अनिवार्यता समाप्त करने से स्थानीय परिचालकों के लिये अपने बेड़े के विस्तार में आसानी होगी। नागर विमानन मंत्रालय के एक वरिष्ठ अधिकारी ने कहा, ‘हमने परिचर्चा शुरू की है और भारत में पंजीकरण के बिना विदेशी विमान को देश में परिचालन की अनुमति देने की संभावना तलाश रहे हैं।’ सूत्रों के अनुसार इस प्रकार के कदम से परिचाकलों तथा पट्टादाताओं समेत अन्य के लिये कारोबार सुगमता बढ़ेगी।

मौजूदा व्यवस्था के तहत फिलहाल जो भारतीय कंपनियां देश में विदेशी विमान के परिचालन की योजना बना रही हैं, उन्हें पहले नागर विमानन महानिदेशालय (डीजीसीए) के पास पंजीकरण कराना होगा और विमान में राष्ट्रीय चिन्ह ‘वीटी’ या ‘वायसराय टेरीटरी’ लगाना होता है। मौजूदा व्यवस्था के तहत डीजीसीए देश में सभी नागर विमानन के पंजीकरण के लिये जवाबदेह है। विमान को अपनी राष्ट्रीयता और पंजीकरण चिन्ह समेत अन्य का उपयोग करना होता है।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ लिंक्डइन पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

Next Stories
1 ब्रिक्स का एनडीबी बैंक अगले साल दो गुना ऋण मंजूर करेगा: केवी कामत
2 भारत-रूस बनाएंगे दुनिया की सबसे महंगी 25 अरब डॉलर की पाइपलाइन!
3 वॉलमार्ट-मोंडेलेज के ख़िलाफ़ जांच का ब्योरा नहीं देगी सीवीसी