ताज़ा खबर
 

Income Tax Calculator: यहां जानें इनकम टैक्‍स कैलकुलेट करने का तरीका

Income Tax Calculator 2019-20, Income Tax New Slab Rate Budget 2019-20: मोदी सरकार ने अंतिम बजट में मध्‍यम वर्ग को साधने की पूरी कोशिश की है। अंतरिम वित्‍त मंत्री पीयूष गोयल ने अंतरिम बजट में करदाताओं को बड़ी राहत दी है। उन्‍होंने आयकर की मौजूदा सीमा 2.5 लाख रुपए को बढ़ाकर 5 लाख रुपए कर दिया गया है।

Author नई दिल्‍ली | February 1, 2019 2:31 PM
Income Tax Calculator:अंतरिम वित्‍त मंत्री पीयूष गोयल में 1 फरवरी, 2019 को मोदी सरकार का अंतरिम बजट पेश किया। (PTI)

मोदी सरकार ने मौजूदा कार्यकाल के अंतिम बजट में मध्‍य वर्ग के करदाताओं को बड़ी राहत दी है। आयकर सीमा को ढाई लाख रुपए से बढ़ाकर सीधे 5 लाख रुपए कर दिया गया है। इसका मतलब यह हुआ कि अब सालाना 5 लाख रुपए तक की आय वाले लोगों को आयकर नहीं देना होगा। इसके अलावा डेढ़ लाख रुपए तक के निवेश पर भी करदाताओं को कोई टैक्‍स नहीं देना होगा। पीपीएफ या बीमा में 1.5 लाख रुपए तक का निवेश करने पर आयकर की धारा 80(सी) के तहत इनकम टैक्‍स से छूट प्रदान की जाएगी। इसके साथ ही स्‍टैंडर्ड डिडक्‍शन की सीमा को भी 40 हजार रुपए से बढ़ाकर 50 हजार रुपए कर दिया गया है। इसका मतलब यह हुआ कि करदाताओं को पिछले वर्ष के मुकाबले 10 हजार रुपए की और राहत प्रदान की गई है। गौरतलब है कि यह सुविधा वेतनभोगी और पेंशनभोगियों के लिए है। आयकर की निम्‍न सीमा को बढ़ाने के अलावा मौजूदा कर ढांचे में और कोई बदलाव नहीं किया गया है। पांच लाख रुपए से ज्‍यादा की सालाना आय वाले करदाताओं को सिर्फ स्‍टैंडर्ड डिडक्‍शन में 10 हजार रुपए की वृद्धि का ही लाभ मिलेगा।

बजट 2019 से जुड़ी सभी प्रमुख खबरें पढ़ें

होम लोन पर दो लाख रुपए तक ब्‍याज, एजूकेशन लोन, नेशनल पेंशन स्‍कीम का निवेश, मेडिकल इंश्‍योरेंस का प्रीमियम आदि पर टैक्‍स छूट का लाभ इसमें शामिल नहीं है। यह सब पहले से लागू है और इसमें कोई बदलाव नहीं हुआ है। एक और बड़ी राहत मकान किराये से होने वाली आय पर मिली है। अब अगर आपके नाम से दो मकान हैं और दूसरे मकान से किराया नहीं आ रहा है तो आप पर इनकम टैक्‍स का बोझ नहीं पड़ेगा। बैंक या डाकघरों में जमा रकम से मिलने वाले ब्‍याज पर भी टैक्‍स राहत बढ़ा दी गई है। पहले 10 हजार रुपए तक का ब्‍याज करमुक्‍त था, पर अब 40 हजार रुपए तक के ब्‍याज पर टैक्‍स (टीडीएस) नहीं देना होगा। रेंट से होने वाली कमाई पर 2.40 लाख के बाद अब टीडीएस कटेगा। पहले 1.80 लाख रुपए पर ही टीडीएस कटता था। इस तरह मोदी सरकार ने अंतरिम बजट में उच्‍च मध्‍यवर्ग के करदाताओं को कर छूट में किसी तरह की राहत नहीं दी है।

Click here for Income Tax Calculator 2019

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ लिंक्डइन पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App