ताज़ा खबर
 

चंदा कोचर ने तोड़े नियम, करोड़ों रुपए वसूल करेगा आईसीआईसीआई बैंक

आईसीआईसीआई बैंक की जांच में यह खुलासा हुआ है कि चंदा कोचर ने नियम तोड़े हैं। बैंक उनसे करोड़ों रुपये की वसूली करेगा।

icici bank, icici case, cbi and icici, chanda kochhar, icici ceo chanda kochha, cbi and chanda kochhar, chanda kochhar husband deepak kochhar, videocon fraud, fraud, cbi inquiry, probe officer, probe officer transfered, चंदा कोचरआईसीआईसीआई बैंक की पूर्व प्रमुख चंदा कोचर। (Photo: REUTERS)

वीडियोकॉन लोन मामले में ICICI बैंक की पूर्व प्रमुख चंदा कोचर की समस्‍याएं कम होने का नाम नहीं ले रही हैं। ICICI बैंक की ओर से इस मामले की स्‍वतंत्र जांच कराने का निर्णय लिया गया था। इस जांच में चंदा कोचर को निर्धारित आचार संहिता के उल्‍लंघन का दोषी पाया गया है। हाईप्रोफाइल मामले की जांच के लिए सुप्रीम कोर्ट के पूर्व न्‍यायाधीश जस्टिस बीएन श्रीकृष्‍ण की अध्‍यक्षता में एक कमेटी बनाई गई थी।

समिति ने बुधवार (30 जनवरी 2019) को ICICI बैंक को अपनी रिपोर्ट सौंप दी है, जिसमें चंदा कोचर को दोषी पाया गया है। रिपोर्ट में कहा गया है कि कोचर के स्तर पर वार्षिक खुलासों की जांच-पड़ताल में ढिलाई बरती गई और आचार संहिता का उल्लंघन किया गया। रिपोर्ट के आधार पर बैंक के निदेशक मंडल ने बैंक की आंतरिक नीतियों के तहत कोचर के इस्तीफे को उनकी ”गलतियों पर बर्खास्तगी” के तौर लेने का फैसला किया है।

बता दें कि ICICI बैंक ने वीडियोकॉन को 3,250 करोड़ रुपए का लोन दिया था। इसमें हितों के टकराव का मामला सामने आया था। बता दें कि सीबीआई इस मामले में चंदा कोचर और उनके पति दीपक कोचर के खिलाफ पहले ही एफआईआर दर्ज कर चुकी है। जांच रिपोर्ट आने के बाद बैंक ने कहा कि चंदा कोचर से अप्रैल 2009 से मार्च 2018 के बीच दिए गए बोनस की वसूली की जाएगी।

जेटली ने सीबीआई पर साधा था निशाना: केंद्रीय मंत्री अरुण जेटली ने बीते शुक्रवार को चंदा कोचर मामले में केंद्रीय अन्वेषण ब्यूरो (सीबीआई) को निशाने पर लिया था। उन्होंने सीबीआई को दुस्साहस से बचने तथा सिर्फ दोषियों पर ध्यान देने की नसीहत दी थी। जेटली की टिप्पणी ऐसे समय में आयी थी जब एक ही दिन पहले सीबीआई ने चंदा कोचर के खिलाफ धोखाधड़ी के मामले में बैंकिंग क्षेत्र के के.वी.कामत तथा अन्य को पूछताछ के लिये नामजद किया था। अमेरिका में इलाज करा रहे जेटली ने ट्वीट किया कि भारत में दोषियों को सजा मिलने की बेहद खराब दर का एक कारण जांच तथा पेशेवर रवैये पर दुस्साहस एवं प्रशंसा पाने की आदत का हावी हो जाना है। (एजेंसी इनपुट के साथ)

Hindi News के लिए हमारे साथ फेसबुक, ट्विटर, लिंक्डइन, टेलीग्राम पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News AppOnline game में रुचि है तो यहां क्‍लिक कर सकते हैं।

Next Stories
1 Economic Survey 2019 Date and Time: जानें संसद में किस दिन और कब पेश होती है आर्थिक सर्वेक्षण की रिपोर्ट
2 पतंजलि का बाजार छीनने की तैयारी में थीं मल्‍टीनैशनल कंपनियां, उल्‍टा पड़ गया दांव
3 करप्‍शन इंडेक्‍स में भारत की रैंकिंग सुधरी, चीन और पाकिस्‍तान हमसे पीछे
ये पढ़ा क्या ?
X