ताज़ा खबर
 

कमाल की है यह करंसी, जिसने लगाए थे 15 पैसे, उसके हो गए 4 लाख रुपये

बिटकॉइन भारत में लीगल नहीं है। भारत में इसे न तो आधकारिक अनुमति मिली है और न हीं इसे रेग्यूलेट करने का कोई नियम बना है।

बिटक्वाईन में निवेश से लाखों का मुनाफा (एक्सप्रेस फाइल फोटो)

प्रसिद्ध क्रिप्टोकरेंसी बिटकॉइन ने 10 साल पूरे कर लिए हैं। यह एक डिजिटल मुद्रा है, जिसके जरिए बिना बैंक को माध्यम बनाए लेन-देन किया जा सकता है। कोई बार से पूरी तरह अवगत नहीं है कि इसकी खोज किसने की। वह कोई एक व्यक्ति था या एक समूह, पूरी पुष्ट जानकारी नहीं है। लेकिन ऐसा माना जाता है कि बिटकॉइन पहली बार क्रिप्टोग्राफी मेलिंग सूची पर पोस्ट किया गया था। जब यह पहली बार सामने आया था, तब इसकी कीमत 0.003 डॉलर यानी 15 पैसे प्रति बिटकॉइन थी। लेकिन आज दस वर्ष बाद इसकी कीमत 6,366 डॉलर यानी करीब 4,68,251.13 रुपये है। 17 दिसंबर 2017 को इसकी कीमत सबसे ज्यादा पहुंच गई थी, जो 19,343.04 डॉलर थी। भारतीय करेंसी की बात करें तो करीब 12 लाख रुपये। बिटकॉइन रुपये की तुलना में 31,21,67,233 प्रतिशत बढ़ा है।

आपकाे बताते हैं बिटकॉइन से जुड़ी अन्य जानकारी:- 
* बिटकॉइन के संस्थापक को सतोशी नाकामोतो के नाम से जाना जाता है लेकिन कोई भी यह नहीं जानता कि ये  कौन है? सतोशी नाकामोतो ने एक क्रिप्टोग्राफी मेलिंग सूची पर बिटकॉइन: ए पीयर-टू-पीयर इलेक्ट्रॉनिक कैश सिस्टम नामक एक पेपर पोस्ट किया। बाद में, यह एक ओपन सोर्स कम्यूनिटी प्रोजेक्ट बन गया।

* रिपोर्ट्स के अनुसार, बिटकॉइन से पहली बार यदि कोई वस्तु खरीदी गई थी, तो वह पिज्जा थी। तब उस समय पिज्जा की कीमत 10,000 बिटकॉइन थी।

* अंतिम रिपोर्ट के अनुसार, सतोशी नाकामोतो के पास 7.5 बिलियन कीमत की क्रिप्टोकरेंसी है।

* पिछले साल, एक बिटकॉइन की कीमत जुलाई में 2,200 डॉलर था, जो बढ़कर दिसंबर में 1 9, 000 डॉलर हो गया। हालांकि, जल्द ही यह गिर गया और इसकी कीमत 5000 डॉलर कम हो गई। इसके गिरने की वजह यह है कि कई देशों में इस अवैध घोषित कर दिया गया।

* बिटकॉइन की कई बैंकरों और व्यापारियों द्वारा आलोचना की गई। नोबेल पुरस्कार विजेता पॉल क्रुगमैन ने इसे ‘बुरा’ कहा, वहीं शीर्ष बैंकर जेमी डिमन ने इसे ‘धोखाधड़ी’ करार दिया। इस वजह से भी बिटकॉइन काफी चर्चा में रहा।

* बिटकॉइन भारत में लीगल नहीं है। भारत में इसे न तो  आधकारिक अनुमति मिली है और न हीं इसे रेग्यूलेट करने का कोई नियम बना है। इसकी ट्रेडिंग भी अवैध है। रिजर्व बैंक यह साफ कर चुका है कि देश में बिटकॉइन लीगल टेंडर नहीं है।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App