ताज़ा खबर
 

इन तीन तरीकों से SBI से भेजेंगे पैसे तो नहीं देना होगा कोई चार्ज, जानें- पूरी डिटेल्स

State Bank of India: अभी तक आईएमपीएस के जरिए 1000 रुपए तक के फंड ट्रांसफर पर कोई चार्ज नहीं लगता है। लेकिन अब एक अगस्त से इसकी मौजूदा लिमिट बढ़ जाएगी।

Author नई दिल्ली | July 12, 2019 5:22 PM
प्रतीकात्मक चित्र फोटो सोर्स- जनसत्ता

State Bank of India: स्टेट बैंक ऑफ इंडिया (एसबीआई) के ग्राहकों को बड़ी सौगात मिली है। पब्लिक सेक्टर के इस बैंक ने शुक्रवार (12 जुलाई 2019) को एलान किया कि एक अगस्त 2019 से आईएमपीएस (Immediate Payment Service) सेवा का इस्तेमाल करने पर कोई चार्ज नहीं लगेगा।

बैंक ने कहा है कि Yono एप, इंटरनेट बैंकिंग और मोबाइल बैंकिंग से फंड ट्रांसफर करने वाले ग्राहकों आईएमपीएस से जरिए पैसे भेजेंगे तो उन्हें कोई चार्ज नहीं देना होगा। एसबीआई ने एक बयान जारी कर कहा ‘बैंक इंटरनेट बैंकिंग (INB), मोबाइल बैंकिंग (MB) और YONO एप के जरिए फंड ट्रांसफर करने वाले ग्राहकों से 1 अगस्त, 2019 से आईएमपीएस शुल्क नहीं लेगा।’

मालूम हो कि अभी तक आईएमपीएस के जरिए 1000 रुपए तक के फंड ट्रांसफर पर कोई चार्ज नहीं लगता है। लेकिन अब एक अगस्त से इसकी मौजूदा लिमिट बढ़ जाएगी यानि कि 1,001 से 10,000; रुपए 10, 001 से 25,000 रुपए, 25,001 से 100,000 रुपए, और 100,001 से 200,000 रुएप तक कोई चार्ज नहीं लगेगा। हालांकि एनईएफटी, आरटीजीएस के जरिए फंड ट्रांसफर करने पर पहले की तरह ही चार्ज लगेगा।

मालूम हो कि मोदी सरकार के कैशलैस इंडिया के सपने को पूरा करने की दिशा में बैंक का यह कदम इंटरनेट बैंकिंग को बढ़ावा देगा। जो लोग ऑफलाइन फंड ट्रांसफर करते हैं उन्हें बैंक सेवा के लिए शुल्क देना पड़ता है जबकि इन तीन (Yono एप, इंटरनेट बैंकिंग और मोबाइल बैंकिंग) तरीकों से फंड करने पर कोई चार्ज नहीं लगेगा।

मालूम हो कि एसबीआई का मार्केट शेयर करीब 25 फीसदी है। बैंक के मुताबिक मार्च 2019 के अंत तक उनके 6 करोड़ ग्राहक इंटरनेट बैंकिंग का इस्तेमाल कर रहे हैं। वहीं 1.41 करोड़ लोग मोबाइल बैंकिंग का इस्तेमाल कर रहे हैं। बता दें कि बैंक की देशभर में 22010 शाखाएं और 58000 एटीएम/सीडीएम मशीनें हैं।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ लिंक्डइन पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App