ताज़ा खबर
 

ICICI ने कमाया धुआंधार मुनाफा, रच दिया इतिहास, जानिए बैंक की पूरी सक्सेस स्टोरी

ICICI बैंक ने सितंबर में खत्म होने वाली तिमाही में 5 गुना से भी ज्यादा शुद्ध लाभ कमाया है। 1955 में वर्ल्ड बैंक की सलाह पर बनाए गए इस बैंक ने अब तक 65 सफल वर्ष पूरे किए हैं। इसकी स्थापना निजी क्षेत्र के तेज विकास के लिए की गई थी।

ICICI, Home loan, Bank LoanICICI बैंक ने कमाया रेकॉर्ड मुनाफा।

ICICI बैंक ने इस तिमाही में धुआंधार मुनाफा कमाकर इतिहास रच दिया है। प्राइवेट सेक्टर के इस बैंक ने सितंबर में खत्म होने वाली तिमाही में 4,251 करोड़ का मुनाफा कमाया है जो कि पिछले साल में इसी क्वार्टर के मुकाबले 549 प्रतिशत ज्यादा है। पहले भी जानकारों ने 2500 से 4000 तक के फायदे का अनुमान लगाया था। वर्ल्ड बैंक की सलाह पर 1955 में बने इस बैंक ने निजी क्षेत्र में क्रांतिकारी काम किया है और विकास के मॉडल के रूप में उभरकर सामने आया है।

कब बना था आईसीआईसीआई बैंक?
इंडियन क्रेडिट ऐंड इन्वेस्टमेंट कॉर्पोरेशन ऑफ इंडिया (ICICI) की पैरंट कंपनी की शुरआत 1955 में ही हो गई थी। वर्ल्ड बैंक और अमेरिकी प्रतिनिधियों ने भारत दौरे के समय देश में प्राइवेट सेक्टर को बढ़ावा देने के उद्दश्य से भारत सरकार के एक संस्थान के गठन की सलाह दी। इसके बाद भारतीय कंपनी अधिनियम के अंतरगत कंपनी के रूप में इसे स्थापित किया गया। इसका उद्देश्य प्राइवेट सेक्टर के उद्योगों को लॉन्ग टर्म वित्तीय सहायता देना था। आज ICICI बैंक निजी क्षेत्र का सबसे बड़ा और देश में तीसरे नंबर का बैंक है।

बैंक की अंतरराष्ट्रीय पहचान
ICICI के गठन में अमेरिका और इंग्लैंड के प्रतिनिधियों ने भी अपना योगदान दिया था। अब भी अमेरिका की एजेंसी फॉर इंटरनैशनल डिवेलपमेंट का सहयोग इसमे मिला हुआ है। यह बैंक अमेरिकी डॉलर में भी ऋण लेने में सफल रहा है। इसके अलावा जर्मनी में भी बैंक ने सफल कारोबार किया है। 1987 और 88 में बैंक ने अपना विस्तार किया। इसके तहत टेक्नॉलजी डिवेलपमेंट ऐंड इन्फॉर्मेशन कंपनी ऑफ इंडिया लिमिटेड (TDICI) का भी गठन किया गया जो कि तकनीकी ज्ञान और व्यावहारि विकास में योगदान देता है। इसके अलावा अमेरिका के साथ भी विस्तार के प्रयास किए गए।

साल 1994 में इस बैंक को ICICI ग्रुप के रूप में इनकॉर्पोरेट कर दिया गया। जनवरी 2002 में ICICI बैंक में पर्सनल फाइनैंशल सर्विस लिमिटेड और कैपिटल सर्विस लिमिटेड को मर्ज कर दिया गया। इसके बाद एक ही इकाई में होलसेल और रिटेल फाइनैंसिंग की सुविधा उपलब्ध हो गई।

बैंक की 2883 ब्रांच, विदेशों में भी शाखाएं
यह पहला ऐसा एशियाई बैंक बैंक था जिसकी लिस्टिंग न्यूयॉर्क स्टॉक एक्सचेंज में की गई। आज ICICI बैंक की भारत में 2883 ब्रांच हैं और 9 अन्य देशों मे भी इसकी शाखाएं काम कर रही हैं। इस समय बैंक के साथ यूके, रूस कनाडा, बहरीन, श्रीलंका, कतर, दुई, दक्षिण अफ्रीका और मलेशिया के भी बैंक मिलकर काम कर रहे हैं।

Hindi News के लिए हमारे साथ फेसबुक, ट्विटर, लिंक्डइन, टेलीग्राम पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News AppOnline game में रुचि है तो यहां क्‍लिक कर सकते हैं।

Next Stories
1 सरकारी तेल कंपनी इंडियन ऑयल के मुनाफे में हुआ 13 गुना का इजाफा, जानें- कैसे मिली इतनी ग्रोथ
2 शादी का ऑफर ठुकरा देतीं नीता अंबानी तो क्या करते? जानें- रिलायंस के मुखिया मुकेश अंबानी ने क्या कहा
3 7th Pay Commission: लाखों गैर केंद्रीय कर्मचारियों को भी मिलेगा LTC स्कीम का फायदा, जानें- कैसे उठा सकते हैं लाभ
आज का राशिफल
X