scorecardresearch

Adani News: हिमाचल में अडानी ग्रुप से नाराज हुए किसान बोले – सरकार इनके दबाव में कार्य कर रही है

Adani News: अडानी एग्री फ्रेश ने ए-ग्रेड के प्रीमियम सेबों के लिए 76 रुपए प्रति किलोग्राम की शुरुआती कीमत देने का ऐलान किया है, जो पिछली बार 72 रुपए था। इससे किसान नाराज हो गए हैं।

Adani News: हिमाचल में अडानी ग्रुप से नाराज हुए किसान बोले – सरकार इनके दबाव में कार्य कर रही है
Adani Group: अडानी एग्रो फ्रेश की ओर से ऑफर किए जा रहे दामों का किसानों ने किया विरोध रहे हैं। (फोटो: रॉयटर्स)

Adani News: हिमाचल प्रदेश में अडानी ग्रुप के खिलाफ सेब के किसानों ने आवज उठाई है। मामला अडानी ग्रुप की कंपनी अडानी एग्री फ्रेश से जुड़ा हुआ है, जो कि फलों का कारोबार करती है, हिमाचल और कश्मीर के किसानों से बड़ी मात्रा में सेब खरीदती है। इस साल अडानी एग्री फ्रेश ने ए-ग्रेड के प्रीमियम सेबों के लिए 76 रुपए प्रति किलोग्राम की शुरुआती कीमत देने का ऐलान किया है, जो पिछली बार 72 रुपए था। इससे किसान नाराज हो गए हैं।

हिमाचल की कुल जीडीपी का 13.5 फीसदी हिस्सा सेब की खेती से आता है। किसानों को डर यह है कि अडानी एग्री फ्रेश लिमिटेड का ऐलान स्थानीय बाजार में फलों की कीमत पर नकारात्मक प्रभाव डालेगा। बता दें, अडानी एग्री फ्रेश हिमाचल में सेब की सबसे बड़ी खरीदार है। कंपनी के पास पूरे राज्य में तीन कोल्ड स्टोरेज फैसिलिटी है।

बता दें, पिछले साल हिमाचल में 5,500 करोड़ सेब का व्यापार हुआ था, जो फ्री मार्किट मॉडल पर चलता है। पिछले साल अडानी ग्रुप ने ए- ग्रेड के सेब के लिए 72 रुपए प्रति किलो का भाव का ऐलान किया था, जो 2020 में किए गए 88 रुपए प्रतिकिलो के दिए गए भाव के काफी कम था।

अडानी एग्री फ्रेश के असिस्टेंट मैनेजर पंकज मिश्रा ने कहा कि हमारी ओर से दी जाने वाली कीमत पिछले साल के मुकाबले 4 रुपए अधिक है। इसके साथ, हमने किसानों से बातचीत के बाद छोटे और पितु सेबों के लिए प्रतिकिलों 6 से 8 रुपए बढ़ाए गये हैं।

संयुक्त किसान मोर्चा के नेता संजय चौहान ने कहा कि नई शुरुआती कीमत का आज जिस तरह से ऐलान किया गया है, उससे साफ हो गया है कि सरकार अडानी और अन्य कंपनियों के दबाव में कार्य कर रही है। किसान यूनियन ने मांग की है कि सरकार को तत्काल इस मामले में दखल देना चाहिए।  इसके साथ ही किसान यूनियन ने 17 जून को ‘जेल भरो आंदोलन’ का ऐलान किया है। इसके साथ ही किसान यूनियन मुख्यमंत्री जय राम ठाकुर के साथ अपनी 20 सूत्रीय मांग को लेकर बातचीत कर रहे हैं।

पढें व्यापार (Business News) खबरें, ताजा हिंदी समाचार (Latest Hindi News)के लिए डाउनलोड करें Hindi News App.