ताज़ा खबर
 

एक से ज्यादा क्रेडिट कार्ड रखने से हैं परेशान, जानिए कैसे करें मैनेज, अच्छा रहेगा क्रेडिट स्कोर

Credit card: एक से अधिक क्रेडिट कार्ड होने से ज्यादा से ज्यादा खर्च करने का मन कर सकता है। इसलिए एक बजट के हिसाब से खर्च करना बहुत जरूरी है।

क्रेडिट कार्ड। प्रतीकात्मक तस्वीर

आदिल शेट्टी,
फाइनेंशियल इकोसिस्टम के डिजिटलीकरण में बढ़ोतरी होने के साथ, क्रेडिट कार्ड ने तरह-तरह की सुविधाएं और लाभ देकर हमारी जेब में अपनी जगह बना ली है। आखिरकार, यह एक ऐसा खर्च साधन है जो आपको पहले खरीदने और बाद में पैसे चुकाने की सुविधा प्रदान करता है। इसके अलावा यह कैशबैक, डिस्काउंट और रिवार्ड पॉइंट्स देकर पैसे बचाने में भी आपकी मदद करता है। ग्राहकों को आकर्षित करने के लिए खास तौर पर बने क्रेडिट कार्ड पर मिलने वाले ऑफर अलग-अलग कंपनी और अलग-अलग कार्ड पर अलग-अलग होते हैं। जहां कुछ कार्ड, एयर टिकट की खरीदारी पर हाई रिवार्ड देते हैं वहीं कुछ कार्ड फ्यूल सरचार्ज माफ कर देते हैं और अन्य कार्ड, ब्रांड लॉयलिस्ट के लिए शॉपिंग रिवार्ड देते हैं। इस तरह के आकर्षक ऑफर मिलने के कारण और आसानी से क्रेडिट कार्ड मिल जाने के कारण, लोग अक्सर एक से अधिक कार्ड रख लेते हैं, लेकिन क्या एक से अधिक क्रेडिट कार्ड रखना फायदेमंद है? यदि हां, तो कितने क्रेडिट कार्ड रखना काफी होगा?

कितने क्रेडिट कार्ड रखने चाहिए?
इसके लिए कोई सीमा निर्धारित नहीं है कि एक व्यक्ति को कितने कार्ड रखने चाहिए। एक से अधिक कार्ड रखने से आपको कई तरह के फायदे मिल सकते हैं लेकिन इसके साथ जिम्मेदारियों की संख्या भी बढ़ जाती है। क्रेडिट कार्ड का गलत इस्तेमाल करने पर, चाहे आपके पास एक कार्ड हो या अनेक, आपके कर्ज का बोझ बढ़ सकता है, आपके क्रेडिट स्कोर पर बुरा असर पड़ सकता है, और भविष्य में लोन मिलने की संभावना समाप्त हो सकती है। आपके क्रेडिट स्कोर पर आम तौर पर तीन बातों का बहुत ज्यादा (80%) असर पड़ता है – पेमेंट का इतिहास, क्रेडिट का इस्तेमाल, और पेमेंट इतिहास का टर्म। इस तरह आप देख सकते हैं कि आप अपने क्रेडिट कार्ड का इस्तेमाल कैसे करते हैं वह, आपके पास कितने कार्ड हैं उससे ज्यादा मायने रखता है। आइए अब एक से अधिक कार्ड रखने के फायदों पर नजर डालते हैं।

एक से अधिक क्रेडिट कार्ड रखने का मामला– यदि आप एक जिम्मेदार उधारकर्ता हैं तो यह निम्नलिखित तरीके से आपके लिए फायदेमंद हो सकता है।
आपको ज्यादा फायदा मिल सकता है: एयर टिकट बुकिंग पर फ्री लाउंज एक्सेस से लेकर रिवार्ड तक, क्रेडिट कार्ड आपको कई तरह की खरीदारी पर तरह-तरह के लाभ दे सकता है। यदि आपने एक वेनीला कार्ड की मदद से एक अच्छा क्रेडिट इतिहास तैयार कर लिया है तो आप एक या दो प्रीमियम कार्ड लेकर अपनी बुद्धिमानी से कुछ खास खरीदारियों पर कुछ अतिरिक्त लाभ प्राप्त कर सकते हैं। अपने पिछले तीन से छः महीने का बैंक स्टेटमेंट देखकर पता लगाएं कि आप सबसे ज्यादा कहां खर्च करते हैं। उदाहरण के लिए, यदि आप बार-बार यात्रा पर जाते हैं तो एक ऐसा कार्ड चुनें जो एयर टिकट बुकिंग पर ज्यादा रिवार्ड देता हो, लेकिन, ध्यान रखें कि हाई रिवार्ड कार्ड या प्रीमियम कार्ड की सालाना फीस भी अधिक होती है लेकिन उस पर कई सारी सुविधाएं फ्री में मिलती हैं जो कि वेनीला कार्ड में नहीं मिलती हैं।

क्रेडिट यूटिलाइजेशन रेशियो कम हो जाता है: क्रेडिट यूटिलाइजेशन रेशियो (CUR) या ऋण उपयोग अनुपात का मतलब है – टोटल क्रेडिट लिमिट की तुलना में बकाया शेष जिन्हें प्रतिशत में व्यक्त किया जाता है। उदाहरण के लिए, यदि आपका क्रेडिट लिमिट 1 लाख रुपए है और आपने एक महीने में 60,000 रुपए का क्रेडिट लिया है तो आपका CUR, 60% होगा। CUR अधिक होने से यही पता चलता है कि उधारकर्ता, कर्ज का भूखा है। इससे उसके क्रेडिट स्कोर पर बुरा असर पड़ेगा। इसलिए, अपने CUR को 30% से अधिक न जाने दें। यदि आपका खर्च इस सीमा को पार कर जाता है तो आप अपने प्रत्येक कार्ड पर अपने CUR को कम बनाए रखने के लिए अपने खर्च को एक से अधिक कार्ड में बांट सकते हैं। उदाहरण के लिए, यदि आप एक महीने में 60,000 रुपए खर्च कर रहे हैं और आपके पास 1 लाख रुपए की क्रेडिट लिमिट वाले दो क्रेडिट कार्ड हैं तो अपने CUR को 30% पर रखने के लिए अपने खर्च को दो कार्ड में बांट दें। इससे आपका क्रेडिट स्कोर भी अच्छा हो जाएगा।

एक बैकअप की तरह काम करता है: हर कार्ड हर जगह स्वीकार नहीं किया जाता है, खास तौर पर तब जब आप विदेश की यात्रा कर रहे होते हैं और यात्रा के दौरान, यदि आप कैश ले जाते हैं तब भी आप एक क्रेडिट कार्ड रख सकते हैं। सिर्फ इसलिए नहीं क्योंकि इससे कई तरह के लाभ हैं बल्कि इसलिए भी क्योंकि यह किसी फाइनेंशियल इमरजेंसी में आपकी काफी मदद कर सकता है। इसलिए, एक दूसरा कार्ड होने से और ज्यादा मदद मिल सकती है।

ध्यान में रखने लायक बातें: एक से अधिक कार्ड रखने के कई फायदे होने के बावजूद आपको संबंधित और असंबंधित कार्डों में से संबंधित कार्ड को ही चुनना चाहिए। जरूरी और गैर जरूरी चीजों में से सिर्फ जरूरी चीजों पर ही खर्च करना चाहिए, क्योंकि अपनी क्षमता से अधिक खर्च करने पर आपकी फाइनेंशियल परेशानी बढ़ सकती है। इसलिए अपने कार्ड को अच्छी तरह मैनेज करने के लिए यहां नीचे कुछ उपाय बताए जा रहे हैं।

एक क्रेडिट कार्ड लेने के उद्देश्य को समझें: एक क्रेडिट कार्ड लेने से पहले उसकी जरूरत को समझने की कोशिश करें। एक ही तरह के लाभ देने वाले दो कार्ड रखने से कोई फायदा नहीं है। इसके अलावा आप बिना किसी कारण के अपने फाइनेंशियल दायित्वों की सूची को लंबा करना नहीं चाहेंगे।

ड्यू डेट से पहले अपना पूरा बिल पे कर दें: आपके पास जितने अधिक क्रेडिट कार्ड होंगे आपको उतने अधिक बिलिंग साइकिल का ट्रैक रखना होगा। इस तरह एक से अधिक कार्ड को हैंडल करना मुश्किल लग सकता है। लेकिन, आप अपने बैंक को आपके सैलरी अकाउंट से बिल की रकम काट लेने का एक स्टैंडिंग इंस्ट्रक्शन दे सकते हैं ताकि आपका बिल, ड्यू डेट से पहले क्लीयर हो सके। याद रखें, आपको पूरा बिल अमाउंट पे करना है, न कि मिनिमम अमाउंट, क्योंकि क्रेडिट कार्ड पर बहुत ज्यादा इंटरेस्ट लगता है, हर महीने लगभग 3% से 4% के आसपास।

जरूरत से ज्यादा खर्च न करें: एक से अधिक क्रेडिट कार्ड होने से ज्यादा से ज्यादा खर्च करने का मन कर सकता है। इसलिए एक बजट के हिसाब से खर्च करना बहुत जरूरी है। अपने खर्च को कंट्रोल करने के लिए आप जरूरत पड़ने पर अपने हरेक कार्ड की खर्च सीमा निर्धारित करने पर विचार कर सकते हैं।
लेखक बैंक बाजार डॉट कॉम के सीईओ हैं।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App