ताज़ा खबर
 

How to Pay Home Loan EMI: कुछ यूं करें प्लानिंग कि होम लोन की किस्त न बिगड़े बजट, जानिए- कैसे करें कर्ज का मैनेजमेंट

How to Pay Home Loan EMI: यदि आप भारी किस्त को लेकर असहज हैं और हर महीने बैलेंस बिगड़ने की स्थिति हो जाती है तो यह बेहतर होगा कि आप बैंक बात करें और ईएमआई को कम करने को कहें। लोन की अवधि बढ़ाते हुए बैंक ईएमआई में कमी कर सकता है।

प्रतीकात्मक तस्वीर।

How to Pay Home Loan EMI: कोई भी कामकाजी व्यक्ति अपनी जिंदगी में जितने भी कर्ज लेता है, उनमें होम लोन सबसे अहम होता है। हालांकि अपने सपनों के घर के लिए हम कई बार बहुत बड़ा लोन ले लेते हैं और आने वाले वक्त में ईएमआई यानी मासिक किस्तों के संकट में फंस जाते हैं। ऐसी स्थिति से बचने के लिए जरूरी है कि कुछ फाइनेंशियल प्लानिंग करके ही लोन जैसा फैसला लिया जाए। आइए जानते हैं, कैसे होम लोन के चलते आप खुद को संकट में फंसने से बचा सकते हैं…

एक साथ कई लोन ठीक नहीं: यदि आपके पास कई संपत्तियां हैं और होम लोन बढ़ रहा है तो यह बेहतर होगा कि आप ऐसी कोई संपत्ति बेच दें, जिसमें आप नहीं रहते या फिर रहना नहीं चाहते। जॉब के मार्केट में जैसी स्थिति है, उसे देखते हुए यह बेहतर है कि अपने ऊपर ईएमआई के बोझ को कम रखा जाए। खासतौर पर उस घर को लेकर जहां आप रहते हैं।

बजट है कम तो बढ़वा लें अवधि: यदि आप भारी किस्त को लेकर असहज हैं और हर महीने बैलेंस बिगड़ने की स्थिति हो जाती है तो यह बेहतर होगा कि आप बैंक बात करें और ईएमआई को कम करने को कहें। लोन की अवधि बढ़ाते हुए बैंक ईएमआई में कमी कर सकता है। इसके साथ आपको मासिक बोझ कम रहेगा और जब भी आप सहज हों या फिर आर्थिक स्थिति बेहतर हो तो आप अधिक राशि अदा करके बोझ को कम कर सकते हैं।

6 महीने का इमरजेंसी फंड है जरूरी: यदि आप निजी सेक्टर की जॉब में हैं तो आपके लिए यह बेहतर होगा कि 6 महीने का आपातकालीन फंड हमेशा रखें। नौकरी जाने या फिर किसी आर्थिक संकट की स्थिति में आप नियमित तौर पर अपनी ईएमआई भर सकेंगे।

बेरोजगारी बीमा भी करा सकते हैं: आजकल बेरोजगारी बीमा भी होने लगे हैं। इस बीमा को यदि आप लेते हैं तो आपकी नौकरी जाने की स्थिति में बीमा कंपनी की ओरसे कुछ किस्तें भरी जाएंगी। इस उपाय के बारे में मार्केट में बहुत ज्यादा चर्चा नहीं है, लेकिन खराब आर्थिक स्थिति के दौर में यह अहम साबित हो सकता है।

किसी भी लग्जरी से पहले लोन का रखें ध्यान: किसी भी अन्य महंगी खरीददारी या लग्जरी चीजों से पहले आपको होम लोन की ईएमआई को प्राथमिकता देनी चाहिए। जितनी कमाई, उतने खर्च का फॉर्मूला इस पर लागू होता है। यानी यदि आपकी कमाई बहुत ज्यादा नहीं है तो फिर महंगी टूर बनाने की बजाय कर्ज चुकाने को ही प्राथमिकता देनी चाहिए।

Next Stories
1 Ujjwala Yojna beneficiaries: उत्तराखंड में उज्ज्वला स्कीम के 99 फीसदी लाभार्थियों ने नहीं लिया दूसरा सिलेंडर
2 Donald Trump’s India visit: राष्ट्रपति बनने से पहले भी भारत आए हैं डोनाल्ड ट्रंप, मुंबई से गुड़गांव तक ट्रंप टावर बना किया है निवेश
3 PM Vaya Vandana Yojana benefits: बंद होने वाली है पीएम वय वंदना योजना, जानें, हर महीने पेंशन वाली इस स्कीम में कैसे कर सकते हैं निवेश
ये पढ़ा क्या?
X