ताज़ा खबर
 

कोरोना की आंधी में भी इन कंपनियों ने दिखाई दरियादिली, नहीं लिया छंटनी और सैलरी कट का फैसला

हिंदुस्तान यूनिलीवर, एशियन पेंट्स, जॉनसन ऐंड जॉनसन, एचसीसीबी, फ्लिपकार्ट, मिंत्रा, सीएसएस कॉर्पोरेशन, भारत पे, बीएसएच होम अप्लायंसेज जैसी कंपनियों ने कर्मचारियों को इस संकट के दौर में भी प्रमोशन दिए हैं।

salary cut coronaजानें, कोरोना के संकट में भी किन कंपनियों ने नहीं की छंटनी या सैलरी कट

Salary cut due to covid 19: भले ही कोरोना के संकट के चलते कई कंपनियों ने बड़े पैमाने पर छंटनी की है, लेकिन कुछ ऐसे भी संस्थान हैं, जिन्होंने इस आंधी में भी कर्मचारियों के हितों की रक्षा की है। हिंदुस्तान यूनिलीवर, एशियन पेंट्स, जॉनसन ऐंड जॉनसन, एचसीसीबी, फ्लिपकार्ट, मिंत्रा, सीएसएस कॉर्पोरेशन, भारत पे, बीएसएच होम अप्लायंसेज जैसी कंपनियों ने कर्मचारियों को इस संकट के दौर में भी प्रमोशन दिए हैं। यही नहीं उनकी सैलरी में भी इजाफा किया गया है। जानकारों के मुताबिक कई कंपनियों ने कारोबारी माहौल खराब होने के चलते छंटनी और सैलरी कट जैसे फैसले लिए हैं, जबकि कुछ कंपनियां एंप्लॉयीज के बीच गुडविल बनाने पर फोकस कर रही हैं।

मल्टिनेशनल एफएमसीजी कंपनी हिंदुस्तान यूनिलीवर लिमिटेड ने अपने सभी कर्मचारियों को बीते साल का वैरिएबल अदा कर दिया है। भारत में अप्रैल-मार्च साइकल में काम करने वाली कंपनी ने कहा कि बीते साल का वैरिएबल दे दिया गया है और मौजूदा साल का इन्क्रीमेंट भी कर दिया गया है। CSS कॉरपोरेशन के सीईओ मनीष टंडन ने इकनॉमिक टाइम्स से बातचीत में कहा, ‘इस अप्रत्याशित समय में कंपनियों के पास यह अहम मौका है कि वे अपने कर्मचारियों का ख्याल रखें और मिसाल कायम करें। हमारा मानना है कि ऐसे अनिश्चित समय में सैलरी में इजाफा होना निश्चितता की ओर बढ़ने का फैसला है।’

आईटी सर्विसेज कंपनी ने अपने 7,000 कर्मचारियों को इन्क्रीमेंट और वैरिएबल पे का भुगतान किया है। इसमें से भी 70 पर्सेंट वर्कफोर्स को 100 फीसदी वैरिएबल पे दिया गया है। BSH होम अप्लायंसेज के सीईओ ऐंड एमडी नीरज बहल ने कहा कि यह हमारी जिम्मेदारी है कि कर्मचारियों का मनोबल इस कठिन समय में भी ऊंचा बना रहे। देश की सबसे बड़ी आईटी कंपनी टीसीएस ने भी आम कर्मचारियों की सैलरी कट का फैसला नहीं लिया है। कंपनी ने सैलरी में इजाफे को कुछ वक्त के लिए टाल दिया है।

इसके अलावा दिग्गज आईटी कंपनी विप्रो, PwC India और इन्फोसिस ने भी सालाना अप्रेजल को टाल दिया है। हालांकि रिलायंस इंडस्ट्रीज लिमिटेड, ओयो रूम्स और टीवीएस मोटर्स ने सैलरी कट का फैसला लिया है। वहीं ओला, उबर, जोमैटा, स्विगी और आईबीएम जैसी कंपनियों ने बड़ी संख्या में कर्मचारियों की छंटनी तक का फैसला लिया है।

क्‍लिक करें Corona Virus, COVID-19 और Lockdown से जुड़ी खबरों के लिए और जानें लॉकडाउन 4.0 की गाइडलाइंस

Hindi News के लिए हमारे साथ फेसबुक, ट्विटर, लिंक्डइन, टेलीग्राम पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News AppOnline game में रुचि है तो यहां क्‍लिक कर सकते हैं।

Next Stories
1 पीएम फसल बीमा योजना को झारखंड और तेलंगाना ने किया बंद, अब तक 6 राज्य हुए स्कीम के दायरे से बाहर
2 पतंजलि ने शुरू किया कोरोना का क्लिनिकल ट्रायल, कहा- इम्यून बढ़ाने पर ही नहीं, इलाज पर है हमारा फोकस