ताज़ा खबर
 

Corona Virus का हेल्थ इंश्योरेंस के तहत इलाज हो सकता है या नहीं? जानें- क्या है एक्सपर्ट्स की राय

Health Insurance covers Corona Virus: हेल्थ इंश्योरेंस सेक्टर के जानकारों का कहना है कि यदि आपने पहले से ही कोई पॉलिसी ले रखी है तो फिर कोरोना वायरस उस दायरे में आएगा।

corona virusस्वास्थ्य बीमा के तहत इन शर्तों में कवर होगा कोरोना वायरस

Health Insurance covers Corona Virus: चीन से फैला कोरोना वायरस का संक्रमण दुनिया भर में महामारी के तौर पर फैलता दिख रहा है। भारत में अब तक इसके मामले में ज्यादा देखने को नहीं मिले थे, लेकिन मंगलवार को अकेले उत्तर प्रदेश में ही कोरोना के 6 केस देखने को मिले हैं। ऐसे में कोरोना वायरस का बढ़ता संक्रमण किसी को भी डराने वाला है। सर्दी, जुकाम और बुखार जैसे आम लक्षणों से शुरू होने वाली यह जानलेवा बीमारी क्या हेल्थ इंश्योरेंस के दायरे में आती है? आइए जानते हैं, क्या कहते हैं एक्सपर्ट…

पहले से खरीदी पॉलिसी में होगा कवर: हेल्थ इंश्योरेंस सेक्टर के जानकारों का कहना है कि यदि आपने पहले से ही कोई पॉलिसी ले रखी है तो फिर कोरोना वायरस उस दायरे में आएगा। हालांकि कोरोना से पीड़ित होने के बाद ही यदि आप कोई पॉलिसी लेते हैं तो फिर उसमें इसके इलाज को कवर नहीं किया जाएगा।

आज खरीदेंगे तो 30 दिन करना होगा इंतजार: मान लीजिए कि आप आज स्वास्थ्य बीमा पॉलिसी खरीदते हैं और अचानक ही आपको कोरोना वायरस हो जाता है तो फिर आपका इलाज बीमा के तहत कवर नहीं होगा। एक्सपर्ट्स के मुताबिक दरअसल हेल्थ इंश्योरेंस पॉलिसी के तहत 30 दिन का वेटिंग पीरियड होता है। कोई भी व्यक्ति पॉलिसी खरीदते ही इलाज के लिए भर्ती नहीं हो सकता। उसे एक महीने इंतजार करना पड़ता है। हालांकि किसी दुर्घटना की स्थिति में यह शर्त लागू नहीं है, लेकिन बीमारी के मामले में इसका पालन करना पड़ेगा।

डेंगू, मलेरिया की तरह ही होगा कवर: कोरोना वायरस को भी डेंगू, मलेरिया या अन्य किसी भी अचानक होने वाली बीमारी की तरह ही कवर किया जाएगा। दरअसल कोरोना एक ऐसी बीमारी है, जो पहली बार अस्तित्व में आई है। ऐसे में अन्य तमाम अप्रत्याशित बीमारियों की तरह ही इसे भी इंश्योरेंस में कवर किया जाएगा।

बढ़ सकते हैं हेल्थ इंश्योरेंस के ग्राहक: जानकारों का कहना है कि कोरोना वायरस जैसी खतरनाक बीमारी के लगातार मामले आने के चलते खौफ की स्थिति है। ऐसे में सावधानी के तौर पर लोगों की ओर से हेल्थ इंश्योरेंस पॉलिसी की खरीद बढ़ सकती है। दरअसल इसका इलाज भी काफी महंगा है।

Hindi News के लिए हमारे साथ फेसबुक, ट्विटर, लिंक्डइन, टेलीग्राम पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News AppOnline game में रुचि है तो यहां क्‍लिक कर सकते हैं।

Next Stories
1 Provident Fund अकाउंट देखने के लिए जरूरी है UAN का एक्टिवेशन, जानें- क्या है प्रक्रिया और कैसे कर सकते हैं EPFO की वेबसाइट पर लॉग इन
2 किसान क्रेडिट कार्ड बनवाना है बेहद आसान, जानिए- कैसे आप कर सकते हैं ऑनलाइन आवेदन
3 इंडोनेशिया में डिजिटल पेमेंट को इस्लाम के खिलाफ मान रहे लोग, Sharia fintech के जरिए यूं तालमेल बिठा रहीं कंपनियां
ये पढ़ा क्या?
X