health insurance benefits apart from treatment claims - बीमारी के इलाज का खर्च उठाने के अलावा और भी कई सुविधाएं देता है "हेल्थ इंश्योरेंस", जानिए - Jansatta
ताज़ा खबर
 

बीमारी के इलाज का खर्च उठाने के अलावा और भी कई सुविधाएं देता है “हेल्थ इंश्योरेंस”, जानिए

स्वास्थ्य बीमा सिर्फ बीमारी के इलाज का खर्चा पूरा करने के लिए नहीं होता, इसके जरिए फ्री मेडिकल चेकअप, बोनस और कई तरह के फायदे मिलते हैं। जानिए उनके बारे में।

इस तस्वीर का इस्तेमाल केवल प्रतीक के तौर पर किया गया है।

स्वास्थ्य बीमा या हेल्थ इंश्योरेंस कराने के कई फायदे होते हैं। यह न सिर्फ आपका स्वास्थ गंभीर रूप से खराब होने की स्थिति में आपको सहारा देता है बल्कि इसे कराने के और भी कई फायदे होते हैं। जानते हैं उन फायदों और सुविधाओं के बारे में।

हेल्थ बोनस– हेल्थ इंश्योरेंस सिर्फ बीमारी के समय ही क्लेम के फायदे नहीं देता बल्कि इससे आपको समय-समय पर बोनस भी मिलता है लेकिन इसके लिए आपको कम से कम क्लेम लेने की कोशिश करनी होगी। इसे नो-क्लेम बोनस भी कहा जाता है। ज्यादातकर पॉलिसीज़ में यह सुविधा मिलती है। अगर आप पॉलिसी में मिलने वाला कोई क्लेम नहीं लेते तो साल में आपको प्रीमियम भरने में डिस्काउंट या फिर पॉलिसी की तय की गई बीमा रकम से ज्यादा का बेनिफिट मिलता है। कुछ कंपनियां तो 5% से 20% तक की बढ़ोतरी का बोनस भी ऑफर करते हैं।
फ्री हेल्थ चेकअप– स्वास्थ्य बीमा कराने से पॉलिसी होल्डर्स को फ्री हेल्थ चेकअप या भारी डिस्काउंट्स पर चेकअप कराने की सुविधा भी मिल जाती है। अमूमन यह सुविधा 2-5 क्लेम्स के बाद मिल जाती है। इन टेस्ट्स का प्रीमियम्स पर कोई असर नहीं होता। सभी कंपनियों का इस सुविधा पर अलग-अलग स्लैब होता है जिसकी जानकारी आपको पॉलिसी खरीदते समय लेनी चाहिए।

सिर्फ एलोपैथिक इलाज कवर नहीं करते स्वास्थ्य बीमा– स्वास्थ्य बीमा में सिर्फ एलोपैथिक ट्रीटमेंट पर ही ध्यान नहीं दिया जाता। इसमें नॉन-एलोपैथिक ट्रीटमेंट की सुविधा भी मिलती है। केंद्र सरकार ने आयुर्वेदिक पद्दति से बीमारी का इलाज कराने पर खासा जोर दिया है और इसके लिए अलग से आयुष मंत्रालय का भी गठन किया गया है। ऐसे में अब इंश्योरेंस सिर्फ एलोपैथिक इलाज पर नहीं मिलता बल्कि आप और कई पद्दतियों जैसे योगा, यूनानी, आयुर्वेदिक ट्रीटमेंट्स की सुविधा भी ले सकते हैं। हालांकि यह आपको लेते समय चेक करना होगा।

रिकवरी बेनिफिट्स- बीमारी होने पर इलाज का खर्च उठाने के अलावा कई हेल्थ इंश्योरेंस, आपका इलाज या अस्पताल से डिस्चार्ज होने के बाद का खर्च भी उठाते हैं। इसमें आपके बीमारी की वजह से हुए एक्सपेंसिस पर भी बेनिफिट्स मिलते हैं। अस्पताल में भर्ति होने या इलाज कराने में आपका जो इनकम लॉस होता है उसे भी कई हेल्थ इंश्योरेंस कवर करते हैं। इसके जरिए आपको एक मुश्त रकम भी दी जाती है। इस विषय पर पूरी जानकारी लेकर ही पॉलिसी का चुनाव करें।

डेली कैश आवंटन से ज्यादा की सुविधा- आम तौर पर कई हेल्थ इंश्योरेंस पॉलिसीज आपको सिर्फ अस्पताल के खर्चों का कवर देती हैं, लेकिन वहीं कई पॉलिसीज भी हैं जो आपके इनसे ज्यादा खर्चों को भी कवर करती हैं। उदाहरण के लिए अगर पॉलिसी हॉल्डर इलाज कराने किसी दूसरे राज्य या विदेश जाता है, तो उसके रहने, ट्रैवल, खान-पान के खर्चों को भी कुछ पॉलिसीज कवर करती है।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App