ताज़ा खबर
 

एचडीएफसी बैंक का शुद्ध लाभ जून तिमाही में 20 प्रतिशत बढ़ा, फंसे कर्ज में वृद्धि

तिमाही में बैंक की कुल आय 17.08 प्रतिशत बढ़कर 19,322.63 करोड़ रुपए हो गई जो पिछले साल की इसी अवधि में 16,502.97 करोड़ रुपए थी।

Author मुंबई | July 21, 2016 7:03 PM
निजी क्षेत्र का दूसरा सबसे बड़ा बैंक है एचडीएफसी। (फाइल फोटो)

निजी क्षेत्र का दूसरा सबसे बड़ा बैंक एचडीएफसी बैंक का शुद्ध लाभ चालू वित्त वर्ष की अप्रैल-जून तिमाही में 20.2 प्रतिशत बढ़कर 3,239 करोड़ रुपए रहा। शुद्ध ब्याज आय बढ़ने से बैंक का लाभ बढ़ा है। हालांकि, इस दौरान संपत्ति गुणवत्ता की स्थिति खराब हुई। समीक्षाधीन तिमाही में बैंक की कुल आय 17.08 प्रतिशत बढ़कर 19,322.63 करोड़ रुपए हो गई जो पिछले साल की इसी अवधि में 16,502.97 करोड़ रुपए थी।

आदित्य पुरी की अगुवाई वाला बैंक खुदरा रिण पर ध्यान देने के रूप में जाना जाता है और इससे उसे उद्योग के मुकाबले अधिक वृद्धि में मदद मिली है। साथ ही बैंक ने लंबे समय तक संपत्ति की गुणवत्ता भी बनाये रखी है। लेकिन अब उसे उन चुनौतियों का भी सामना करना पड़ रहा है जो अन्य बैंक झेल रहे हैं। बैंक का सकल गैर-निष्पादित कर्ज अप्रैल-जून, 2016 में 0.95 प्रतिशत से बढ़कर 1.04 प्रतिशत हो गया। वहीं शुद्ध एनपीए 0.3 प्रतिशत पर स्थिर रहा। इससे प्रावधान बढ़कर 866.7 करोड़ रुपए हो गया जो एक वर्ष पूर्व इसी तिमाही में 728 करोड़ रुपए था।

बैंक के उप-प्रबंध निदेशक परेश सुकतांकर ने संपत्ति गुणवत्ता को लेकर चिंता को खारिज किया और कहा कि बैंक फंसे कर्ज में वृद्धि से परेशान नहीं है। उन्होंने संवाददाताओं से कहा, ‘हम अभी भी संतोषजनक स्थिति में हैं।’ सुकतांकर ने कहा, ‘आय वृद्धि में प्रमुख योगदान शुद्ध ब्याज आय का रहा। शुद्ध आय में इसका 71 प्रतिशत योगदान रहा और 21.8 प्रतिशत की वृद्धि हुई….।’ बैंक की शुद्ध ब्याज आय चालू वित्त वर्ष की अप्रैल-जून तिमाही में 21.8 प्रतिशत बढ़कर 7,781.4 करोड़ रुपए हो गई जो पिछले साल की जून तिमाही में 6,388.8 करोड़ रुपए थी। अप्रैल-जून तिमाही में बैंक की अन्य आय इस दौरान 14 प्रतिशत बढ़कर 2,806.6 करोड़ रुपए हो गई। बैंक के कुल राजस्व में अन्य आय का योगदान 26.5 प्रतिशत रहा।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App