scorecardresearch

इस बैंक ने गलती से खातों में ट्रांसफर किए 100 करोड़, वापस मांगे तो कुछ गाहकों ने दर्ज कराई एफआईआर  

HDFC Bank : बीक्यू प्राइम की रिपोर्ट के अनुसार, बैंक अभी तक ट्रांसफर की गई राशि में से 35 से 40 करोड़ रुपए की रिकवरी नहीं कर पाया है। ट्रांसफर की गई रकम की वसूली के लिए बैंक की ओर से संपर्क करने पर कुछ ग्राहक सहयोग नहीं कर रहे हैं।

HDFC Bank | Business News | HDFC News
बैंक की ओर से ये रकम मई के महीने में ट्रांसफर की गई थी। (एक्सप्रेस फाइल फोटो)

देश के सबसे बड़े प्राइवेट सेक्टर के एचडीएफसी बैंक को तकनीकी खराबी के कारण गलती से ट्रांसफर हुए रुपयों को रिकवर करने में काफी मशक्कत करनी पड़ रही है। बिजनेस न्यूज वेबसाइट मिंट की एक रिपोर्ट के मुताबिक बैंक की ओर से 4468 खातों में 100 करोड़ रुपए की राशि गलती से ट्रांसफर हो गई है, जिसके बाद अब कई ग्राहक पैसे लौटाने ने आनाकानी कर रहे हैं।

दूसरी तरफ बिजनेस वेबसाइट बीक्यू प्राइम की रिपोर्ट के अनुसार बैंक अभी तक ट्रांसफर की गई राशि में से 35 से 40 करोड़ रुपए की रिकवरी नहीं कर पाया है। ट्रांसफर की गई रकम की वसूली के लिए बैंक की ओर से संपर्क करने पर कुछ ग्राहक सहयोग नहीं कर रहे हैं जबकि रिकवरी के लिए किए जा रहे प्रयासों को लेकर कुछ ग्राहकों ने बैंक पर प्रताड़ना करने का केस दर्ज करा दिया है। वहीं, रिपोर्ट सूत्रों के हवाले दावा किया गया है कि पैसे ना लौट आने वाले लोगों के खिलाफ बैंक जल्द कानूनी कार्रवाई शुरू करेगा।

इस पूरे मामले पर बीक्यू प्राइम से बातचीत करते हुए एचडीएफसी बैंक ने कहा कि “पैसों के ट्रांसफर से जुड़े मुद्दे को लगभग पूरा सुलझा लिया गया है। उन्होंने टेक्निकल गड़बड़ी के बारे में बताते हुए कहा कि 28 मई से 29 के बीच सिस्टम अपडेट करते समय कुछ लोगों के खाते में पैसे ट्रांसफर हो गए थे”

बता दें, तमिलनाडु के चेन्नई में उस्मान रोड पर स्थित ब्रांच में मई महीने के दौरान तकनीकी खराबी के कारण कुछ खातों में पैसे ट्रांसफर हो गए थे, जिसके कुछ ग्राहकों ने बैंक में शिकायत दर्ज कराई थी कि उनके खाते में बैंक की ओर से 13 करोड़ रुपए ट्रांसफर किए गए हैं, जिसके बाद बैंक ने करीब 100 खातों को फ्रिज कर दिया था।

लगातार आ रही तकनीकी दिक्कतों को लेकर इस साल मार्च में आरबीआई की ओर से एचडीएफसी बैंक पर कार्रवाही करते हुए कुछ प्रतिबंध लगा दिए थे, जिसमें नए क्रेडिट कार्ड जारी न करने का प्रतिबंध भी शामिल था।

पढें व्यापार (Business News) खबरें, ताजा हिंदी समाचार (Latest Hindi News)के लिए डाउनलोड करें Hindi News App.

अपडेट

X