ताज़ा खबर
 

सैलरी और सेविंग अकाउंट्स वालों को तगड़ा झटका, महीने में सिर्फ 4 बार निकाल सकेंगे फ्री में कैश, 25 हजार से ज्यादा निकालने पर भी लगेगा चार्ज

बैंक के एक अधिकारी ने कहा कि एचडीएफसी बैंक ने एक मार्च से कुछ लेन-देन पर शुल्क बढ़ाने का फैसला किया है। साथ अन्य मामलों में नकदी की सीमा तय करने और कुछ लेन-देन पर शुल्क लगाने का निर्णय किया है।

तस्वीर का इस्तेमाल केवल प्रतीक के तौर पर किया गया है। (फाइल फोटो)

निजी क्षेत्र का दूसरा सबसे बड़ा बैंक एचडीएफसी बैंक ने नकद से जुड़ी कुछ गतिविधियों के लिये बचत खाताधारकों हेतु शुल्क में उल्लेखनीय वृद्धि का फैसला किया है। यह नकद लेन-देन से लोगों को हतोत्साहित करने का एक प्रयास है। सरकार नोटबंदी के बाद लोगों को नकद-रहित और डिजिटल लेन-देन के लिये प्रोत्साहित कर रही है। इस लिहाज से बैंक का यह कदम महत्वपूर्ण है।

बैंक के एक अधिकारी ने कहा कि एचडीएफसी बैंक ने एक मार्च से कुछ लेन-देन पर शुल्क बढ़ाने का फैसला किया है। साथ अन्य मामलों में नकदी की सीमा तय करने और कुछ लेन-देन पर शुल्क लगाने का निर्णय किया है। बैंक की वेबसाइट के अनुसार थर्ड पार्टी लेन-देन 25,000 रुपये की सीमा तय की है। साथ ही शाखाओं में मुफ्त लेन-देन की संख्या पांच से कम कर चार कर दिया और गैर-शुल्क लेन-देन के लिये शुल्क भी 50 प्रतिशत बढ़ाकर 150 रुपये कर दिया है। अधिकारी ने कहा कि इससे पहले, प्रतिदिन निकासी और जमा दोनों में 50,000 नकद लेन-देन की अनुमति थी। समीक्षा केवल वेतन और बचत खातों के लिए है।

साथ ही बैंक ने अपनी शाखाओं में मुफ्त नकद लेन-देन दो लाख रुपये पर नियत किया है। इसमें जमा और निकासी शामिल हैं। इससे ज्यादा जमा और निकासी करने पर ग्राहकों को न्यूनतम 150 रुपये या पांच रुपये प्रति हजार का भुगतान करना होगा। वहीं दूसरी शाखाओं में मुफ्त लेन-देन 25,000 रूपये है। उसके बाद शुल्क उसी स्तर पर लागू होगा।

वहीं, देश के सबसे बड़े प्राइवेट बैंक ICICI की वेबसाइट पर भी इस संबंध में जानकारी दी गई है। बैंक की वेबसाइट के मुताबिक चार ट्रांजेक्शन से ज्यादा करने पर मिनिमम 150 प्रति ट्रांजेक्शन देने होंगे। एक्सिस बैंक भी एक लाख रुपये प्रति महीने से ऊपर के जमा पर या पांचवीं निकासी से 150 रुपये या प्रति हजार रुपये पर 5 रुपये चार्ज कर रहा है।

गौरतलब है कि बजट 2017-18 में वित्त मंत्री अरुण जेटली ने भी कैश ट्रांजेक्शन पर लगाम लगाने और डिजीटल पेमेंट को बढ़ावा देने के लिए नकदी लेन-देन की सीमा तय की थी। बजट में कहा गया कि 3 लाख रुपए से ज्यादा का कैश ट्रांजेक्शन नहीं किया जा सकता।

वीडियो: बचत खाते से रुपए निकालने की सीमा जल्‍द होगी खत्‍म!

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ लिंक्डइन पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App