ताज़ा खबर
 

HDFC बैंक को खड़ा करने वाले पहले सीईओ आदित्य पुरी अब इस संस्था से जुड़े, जानें- करेंगे क्या काम

आदित्य पुरी को एचडीएफसी बैंक के पहले सीईओ के रूप में साल 1994 में नियुक्त किया गया था, जब यह अस्तित्व में आया था। आदित्य पुरी को एचडीएफसी बैंक की लंबी और अब तक की सफल यात्रा के लिए क्रेडिट दिया जाता रहा है।

aditya puri hdfc bank ex ceoएचडीएफसी बैंक के पूर्व सीईओ आदित्य पुरी

एचडीएफसी बैंक के पहले और ढाई दशक तक सीईओ रहे आदित्य पुरी ने रिटायरमेंट के बाद अब ग्लोबल इन्वेस्टमेंट फर्म ‘द कार्लाइल ग्रुप’ को जॉइन किया है। इस ग्रुप के साथ आदित्य पुरी वरिष्ठ सलाहकार के तौर पर काम करेंगे। कार्लाइल एशिया के प्रबंध निदेशक व अध्यक्ष XD Yang ने कहा कि हम आदित्य पुरी को एशिया में एक वरिष्ठ सलाहकार के रूप में कार्लाइल के साथ जोड़ने के लिए काफी उत्साहित थे। नए निवेश के अवसरों के लिए पुरी की विशेषज्ञता का लाभ उठाने के लिए हम तत्पर हैं।

आदित्य पुरी को एचडीएफसी बैंक के पहले सीईओ के रूप में साल 1994 में नियुक्त किया गया था, जब यह अस्तित्व में आया था। आदित्य पुरी को एचडीएफसी बैंक की लंबी और अब तक की सफल यात्रा के लिए क्रेडिट दिया जाता रहा है। अपने 26 सालों के कार्यकाल में आदित्य पुरी ने 30 सितंबर 2020 तक एचडीएफसी बैंक को 210 बिलियन डॉलर की संपत्ति के साथ मार्केट कैपिटलाइजेशन के मामले में देश का नंबर वन बैंक बनाने में मदद की थी।

नई संस्था के साथ जुड़े आदित्य पुरी के काम को लेकर बात करें तो वह निवेश के अवसरों पर कार्लाइल टीम को सलाह देंगे। पुरी उभरते बाजार परिदृश्य और नए निवेश के अवसरों पर राह दिखायेंगे। इसके साथ ही कंपनी के इंनवेस्टमेंट प्रोफेशनल और पोर्टफोलियो मैनेजमेंट टीमों को अधिक गुणवत्ता वाले व्यवसायों के निर्माण की सलाह भी देगें।

आदित्य पुरी का कहना है कि कार्लाइल को व्यवसायों को विकसित करने, मैनेजमेंट टीमों और अन्य प्रमुख हितधारकों के साथ साझेदारी के रूप में काम करने की क्षमता के लिए जाना जाता है, जिससे दीर्घकालिक विकास हो सके। मैं न केवल भारत में बल्कि पूरे एशिया में वित्तीय सेवाओं में ग्रुप की नेतृत्व की स्थिति सहित कई प्रमुख उद्योग क्षेत्रों में कंपनी के ट्रैक रिकॉर्ड से बहुत प्रभावित हूं। इसलिए एशिया भर में उनकी निवेश गतिविधियों में साथ देने के लिए टीम के वरिष्ठ सलाहकार के रूप में कार्य करना खुशी की बात है।

Next Stories
1 7th Pay Commission: एलटीए कैश वाउचर स्कीम का जीएसटी के तहत यूं फायदा ले सकते हैं आप, डिटेल में जानिए पूरी बात
2 अक्टूबर में घटने की बजाय और बढ़ गई बेरोजगारी, लॉकडाउन की पाबंदियां हटने के बाद भी बढ़ रहा संकट
3 चंद घंटों में मुकेश अंबानी के डूब गए 37,200 करोड़ रुपये, जानें- क्यों अचानक आई इतनी बड़ी गिरावट
यह पढ़ा क्या?
X