scorecardresearch

RBI Monetary Policy Meet: HDFC और केनरा बैंक ने बढ़ा दीं ब्याज दर, होम और कार लोन की बढ़ेगी EMI

RBI Monetary Policy Meet: देश के सबसे बड़े प्राइवेट बैंक एचडीएफसी बैंक के साथ केनरा बैंक और करुर वैश्य बैंक ने ब्याज दरों में 0.4 फीसदी तक का इजाफा किया है।

HDFC Bank | Canara Bank | Karur Vaishya Bank
एचडीएफसी बैंक की ओर से ब्याज दरें मौद्रिक नीति समीति की बैठक खत्म होने से पहले लागू की गई है। ( एक्सप्रेस फोटो: पार्थ पॉल)

ब्याजदरों की समीक्षा के लिए चल रही आरबीआई की मौद्रिक नीति समिति (Monetary Policy Committee) की तीन दिवसीय बैठक खत्म होने से पहले ही बैंकों ने ब्याज दरों को बढ़ाना शुरू कर दिया है। देश के सबसे बड़े प्राइवेट बैंक एचडीएफसी बैंक के साथ केनरा बैंक और करुर वैश्य बैंक ने ब्याज दरों में इजाफा किया है। एचडीएफसी बैंक और केनरा बैंक ने मार्जिनल कॉस्ट ऑफ लैंडिंग रेट (MCLR)  में 0.35 फीसदी और 0.05 फीसदी का इजाफा किया है। वहीं, करुर वैश्य बैंक ने बेंचमार्क प्राइम लेंडिंग रेट्स (BPLR)  को 0.40 फीसदी तक बढ़ाया है।

क्या होता है MCLR और BPRL?

एमसीएलआर को मार्जिनल कॉस्ट ऑफ लैंडिंग रेट कहा जाता है। यह बैंकों के लिए एक बेंचमार्क का कार्य करती है या फिर आसान भाषा में कहा जाए तो कोई भी अपने द्वारा तय की गई एमसीएलआर रेट से कम दर पर लोन  नहीं दे सकता है। एमसीएलआर का संबंध सीधे लोन से होता है जब किसी बैंक द्वारा इसे बढ़ाया जाता है तो ईएमआई में बढ़ोतरी होती है जबकि कम किया जाता है तो इसका उल्टा होता है।

बीपीएलआर को बेंचमार्क प्राइम लेंडिंग रेट कहा जाता है ये भी लगभग एमसीएलआर की तरह ही होता है। बीपीएलआर उन लोग पर लागू होता है जो  बेस रेट की शुरुआत से पहले दिए गए थे। बता दें, 1 जुलाई 2010 से बीपीएलआर सिस्टम को हटाकर बेस रेट सिस्टम लागू कर दिया था।

केनरा बैंक की ओर से 6 महीने के लोन का एमसीएलआर रेट बढ़ाकर 7.30 फीसदी से बढ़ाकर 7.35 फीसदी कर दिया है जबकि एक साल के लोन पर ब्याज दर को 7.35 से बढ़ाकर 7.40 फीसदी कर दिया है। वहीं, करुर वैश्य बैंक ने बीपीएलआर रेट को बढ़ाकर 0.4 फीसदी बढ़ाकर 13.75 फीसदी कर दिया है।

देश में ब्याज दरों की समीक्षा के लिए सोमवार (7-जून-2022) को आरबीआई की मौद्रिक नीति समिति की बैठक शुरू हुई है जिसके नतीजे बुधवार को घोषित किए जाएगे। एक्सपर्ट्स का मानना है कि महंगाई के चलते देश में एक बार फिर से आरबीआई ब्याज दरों में बढ़ोतरी कर सकता है।

पढें व्यापार (Business News) खबरें, ताजा हिंदी समाचार (Latest Hindi News)के लिए डाउनलोड करें Hindi News App.

अपडेट

X