ताज़ा खबर
 
  • राजस्थान

    Cong+ 94
    BJP+ 80
    RLM+ 0
    OTH+ 25
  • मध्य प्रदेश

    Cong+ 108
    BJP+ 110
    BSP+ 6
    OTH+ 6
  • छत्तीसगढ़

    Cong+ 64
    BJP+ 18
    JCC+ 8
    OTH+ 0
  • तेलांगना

    TRS-AIMIM+ 89
    TDP-Cong+ 22
    BJP+ 2
    OTH+ 6
  • मिजोरम

    MNF+ 29
    Cong+ 6
    BJP+ 1
    OTH+ 4

* Total Tally Reflects Leads + Wins

मोदी सरकार का सिरदर्द बढ़ा, नवंबर में एक लाख करोड़ से भी कम हुआ जीएसटी कलेक्‍शन

अप्रैल में जीएसटी संग्रह 1.03 लाख करोड़, मई में जीएसटी संग्रह 94,016 करोड़ रुपये, जून में 95,610 करोड़ रुपये, जुलाई में 96,483 करोड़ रुपये, अगस्त में 93,960 करोड़ रुपये, सितंबर में 94,442 करोड़ रुपये और अक्टूबर में 1,00,710 करोड़ रुपये रहा।

Author December 2, 2018 12:39 PM
सरकार हर महीने एक लाख करोड़ रुपये का जीएसटी संग्रह का लक्ष्य लेकर चल रही है। (Express Archive)

सरकार का माल एवं सेवा कर (जीएसटी) संग्रह नवंबर में 97,637 करोड़ रुपये रहा जबकि अक्तूबर में यह एक लाख करोड़ रुपये से ऊपर था। वित्त मंत्रालय ने शनिवार को यह जानकारी दी। मंत्रालय ने बयान में कहा कि 30 नवंबर 2018 तक अक्टूबर के लिये कुल 69.6 लाख जीएसटीआर 3बी रिटर्न जमा किये गये। अगस्त से सितंबर के दौरान राज्यों को क्षतिपूर्ति के रूप में 11,922 करोड़ रुपये जारी किये गये हैं। नवंबर महीने में जीएसटी संग्रह 97,637 करोड़ रुपये रहा। जिसमें केंद्रीय जीएसटी (सीजीएसटी) 16,812 करोड़ रुपये, राज्य जीएसटी (एसजीएसटी) 23,070 करोड़ रुपये, एकीकृत जीएसटी (आईजीएसटी) 49,726 करोड़ रुपये (आयात से 25,308 करोड़ रुपये का संग्रह शामिल) और उपकर 8,031 करोड़ रुपये रहा। उपकर में 842 करोड़ रुपये आयात पर किया गया संग्रह शामिल है।

नियमित निस्तारण के तहत सरकार ने आईजीएसटी की वसूली में से 18,262 करोड़ रुपये सीजीएसटी (केंद्र सरकार) और 15,704 करोड़ रुपये एसजीएसटी (राज्यों) को दिये। मंत्रालय ने कहा, केंद्र सरकार और राज्य सरकार द्वारा प्राप्त किया गया जीएसटी राजस्व नवंबर 2018 में सीजीएसटी (केंद्र) 35,073 करोड़ रुपये और एसजीएसटी(राज्य) 38,774 करोड़ रुपये रहा है।

अप्रैल में जीएसटी संग्रह 1.03 लाख करोड़, मई में जीएसटी संग्रह 94,016 करोड़ रुपये, जून में 95,610 करोड़ रुपये, जुलाई में 96,483 करोड़ रुपये, अगस्त में 93,960 करोड़ रुपये, सितंबर में 94,442 करोड़ रुपये और अक्टूबर में 1,00,710 करोड़ रुपये रहा।

ईवाई टैक्स पार्टनर के अभिषेक जैन ने जीएसटी संग्रह के आंकड़ों पर कहा, “पिछले महीने की तुलना में इस महीने जीएसटी संग्रह घट गया है लेकिन यह साल के औसत मासिक संग्रह से अधिक है। औसत संग्रह में यह वृद्धि दर्शाती है कि एक लाख करोड़ रुपये का नियमित मासिक संग्रह का लक्ष्य जल्द पूरा होने की उम्मीद है।” उल्लेखनीय है कि सरकार हर महीने एक लाख करोड़ रुपये का जीएसटी संग्रह का लक्ष्य लेकर चल रही है।

देश के सकल घरेलू उत्पाद (जीडीपी) दर में भी जुलाई-सितंबर की अवधि में गिरावट दर्ज की गई है, जोकि 7.1 फीसदी रही, जबकि इसकी पिछली तिमाही में यह 8.2 फीसदी थी। इस गिरावट का मुख्य कारण डॉलर के मुकाबले रुपये के मूल्य में आई गिरावट और ग्रामीण मांग में कमी आना है। इसके साथ ही विनिर्माण और खनन गतिविधियों में गिरावट का भी जीडीपी आंकड़ों पर असर पड़ा है।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App