ताज़ा खबर
 

ऊर्जा मंत्रालय ने सौर उपकरणों के लिए मानक नियमों पर टिप्पणियां मांगी

सौर ऊर्जा क्षमता को बढ़ाने के लक्ष्य के तहत मंत्रालय ने इस क्षेत्र में सौर फोटोवाल्विक प्रणाली, उपकरण, कलपुर्जों का तकनीकी नियमन करने का निर्णय किया है।

Author नई दिल्ली | August 26, 2016 03:27 am
Fle Photo( Reuters)

सौर उपकरणों के लिए मानक नियम तय करने के क्रम में नवीन व नवीकरणीय ऊर्जा मंत्रालय ने इस संबंध में जनता और हितधारकों से राय मांगी है ताकि इस क्षेत्र का तकनीकी नियमन किया जा सके। यह टिप्पणियां छह सितंबर 2016 तक भेजी जानी है। इस क्षेत्र में खराब गुणवत्ता के सौर उपकरणों की डंपिंग के कारण सरकार ने पहले इनके आयात का नियमन भारतीय मानक ब्यूरो कानून के तहत करने का निर्णय किया था। मंत्रालय के एक वरिष्ठ अधिकारी ने कहा- 2022 तक 10,0000 गीगा वाट की सौर ऊर्जा क्षमता को बढ़ाने के लक्ष्य के तहत मंत्रालय ने इस क्षेत्र में सौर फोटोवाल्विक प्रणाली, उपकरण, कलपुर्जों का तकनीकी नियमन करने का निर्णय किया है।

यह प्रयास नवीकरणीय उर्च्च्जा क्षेत्र में परीक्षण, मानकीकरण और प्रमाणीकरण के लिए सरकार की ओर से लाई जाने वाली प्रयोगिक नीति (लैब पॉलिसी)का ही हिस्सा है। इस पर सरकार ने छह सितंबर तक लोगों से प्रतिक्रियाएं मांगी हैं। नई दिल्ली, 25 अगस्त(भाषा)। सौर उपकरणों के लिए मानक नियम तय करने के क्रम में नवीन व नवीकरणीय ऊर्जा मंत्रालय ने इस संबंध में जनता और हितधारकों से राय मांगी है ताकि इस क्षेत्र का तकनीकी नियमन किया जा सके। यह टिप्पणियां छह सितंबर 2016 तक भेजी जानी है। इस क्षेत्र में खराब गुणवत्ता के सौर उपकरणों की डंपिंग के कारण सरकार ने पहले इनके आयात का नियमन भारतीय मानक ब्यूरो कानून के तहत करने का निर्णय किया था।

मंत्रालय के एक वरिष्ठ अधिकारी ने कहा- 2022 तक 10,0000 गीगा वाट की सौर ऊर्जा क्षमता को बढ़ाने के लक्ष्य के तहत मंत्रालय ने इस क्षेत्र में सौर फोटोवाल्विक प्रणाली, उपकरण, कलपुर्जों का तकनीकी नियमन करने का निर्णय किया है।यह प्रयास नवीकरणीय उर्च्च्जा क्षेत्र में परीक्षण, मानकीकरण और प्रमाणीकरण के लिए सरकार की ओर से लाई जाने वाली प्रयोगिक नीति (लैब पॉलिसी)का ही हिस्सा है। इस पर सरकार ने छह सितंबर तक लोगों से प्रतिक्रियाएं मांगी हैं।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App