ताज़ा खबर
 

मोदी सरकार के लिए अच्छी खबर, जनवरी में 9 फीसदी बढ़ा निर्यात पर व्यापार घाटा भी बढ़ा

वाणिज्य मंत्रालय द्वारा जारी आंकड़ों के अनुसार व्यापार घाटा जनवरी महीने में बढ़कर 16.3 अरब डालर हो गया। कच्चे तेल के आयात में वृद्धि से इस दौरान आयात 26.1 प्रतिशत बढ़कर 40.68 अरब डालर रहा।

Author February 16, 2018 00:29 am
प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी। (फाइल फोटो)

भारत का निर्यात जनवरी महीने में नौ प्रतिशत बढ़कर 24.38 अरब डालर हो गया। इस दौरान रसायन, अभियांत्रिकी सामान व पेट्रोलियम उत्पादों के निर्यात में काफी अच्छी वृद्धि दर्ज की गई जिससे कुल निर्यात बढ़ा। हालांकि इसी दौरान व्यापार घाटा बढ़कर तीन साल से भी अधिक हो गया। वाणिज्य मंत्रालय द्वारा जारी आंकड़ों के अनुसार व्यापार घाटा जनवरी महीने में बढ़कर 16.3 अरब डालर हो गया। कच्चे तेल के आयात में वृद्धि से इस दौरान आयात 26.1 प्रतिशत बढ़कर 40.68 अरब डालर रहा।

इससे पहले नवंबर 2014 में देश का व्यापार घाटा सबसे अधिक 16.86 अरब डालर रहा था। व्यापार घाटे से आशय आयात व निर्यात में अंतर से है। व्यापार घाटा जनवरी 2017 में 9.90 अरब डालर रहा था। मंत्रालय के बयान मे कहा गया है, ‘अगस्त 2016 से जनवरी 2018 के दौरान निर्यात में बढ़ोतरी देखने को मिली हालांकि इस बीच अक्तूबर 2017 में यह 1.1 प्रतिशत घटा।’ जहां तक अप्रैल-जनवरी 2017-18 का सवाल है तो ष्कुल निर्यात 11.77 प्रतिशत बढ़कर 247.89 अरब डालर रहा जो कि एक साल पहले की समान अवधि में 221.82 करोड़ रुपये रहा था। मौजूदा वित्त वर्ष के पहले दस महीने आयात 22.21 प्रष्तिशत बढ़कर 379 अरब डालर रहा।

इस अवधि में व्यापार घाटा बढ़कर 131.15 अरब डालर हो गया। जनवरी महीने के दौरान रसायन, अभियांत्रिकी सामान व पेट्रोलियम उत्पादों का निर्यात क्रमश: 33 प्रतिशत, 15.77 प्रतिशत व 39.5 प्रतिशत बढ़ा। हालांकि इसी दौरान तैयार गारमेंट का निर्यात 8.38 प्रतिशत घटकर 1.39 अरब डालर रहा। इस दौरान सोने का आयात 22 प्रतिशत घटकर 1.59 अरब डालर रहा। तेल व ष्गैर तेल आयात जनवरी माह में 42.64 प्रतिशत व 20.49 प्रतिशत बढ़कर क्रमश: 11.65 अरब डालर तथा 29 अरब डालर रहा। अप्रैल-जनवरी 2017-18 के दौरान तेल आयात 26.35 प्रतिशत बढ़कर 87.80 अरब डालर रहा। इस बीच भारतीय रिजर्व बैंक के आंकड़ों के अनुसार सेवाओं का निर्यात दिसंबर 2017 में 16 अरब डालर रहा। आयात 9.85 अरब डालर रहा। वाणिज्य मंत्री सुरेश प्रभु ने एक ट्वीट में कहा है कि ‘निर्यात केंद्रित पहलों के परिणाम आ रहे हैं।’ निर्यात संगठनों के महासंघ (फियो) हालांकि निर्यात में लगातार तीसरी बार सकारात्मक वृद्धि हुई लेकिन वृद्धि की दर में मासिक आधार पर गिरावट दर्ज की गई है।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App