ताज़ा खबर
 

चेक बाउंस मामले में माल्या के खिलाफ वारंट

माल्या के वकील ने कहा कि वह गैर जमानती वारंट को रद्द करने के लिए हाई कोर्ट जाएंगे। 14वें अतिरिक्त मुख्य मेट्रोपालिटन मजिस्ट्रेट की अदालत ने दस मार्च को अब ठप खड़ी किंगफिशर एअरलाइंस, उसके चेयरमैन विजय माल्या और कंपनी के एक अन्य वरिष्ठ अधिकारी के खिलाफ यह गैर जमानती वारंट जारी किया।

Author हैदराबाद | March 14, 2016 3:06 AM
vijay mallya, vijay mallya passport, vijay mallya deportation, mallya deportation, MEA vijay mallya, vijay mallya loan default, mallya loan case, india news, latest newsशराब कारोबार विजय माल्या

जीएमआर हैदराबाद इंटरनेशनल एयरपोर्ट लिमिटेड को 50 लाख रुपए के चेक बाउंस मामले में उद्योगपति विजय माल्या के खिलाफ गैर जमानती वारंट जारी किया गया है। यहां की एक अदालत ने माल्या के इस मामले में पेश नहीं होने के बाद उनके खिलाफ गैर जमानती वारंट जारी किया है।

इस बीच, उद्योगपति विजय माल्या के देश से बाहर जाने को लेकर विवाद लगातार गहराता जा रहा है। वहीं माल्या ने आज कहा कि ब्रिटेन में मीडिया उनके पीछे पड़ा है और ढूंढ रहा है, लेकिन वे सही स्थान पर नहीं पहुंच पा रहे हैं। उधर, माल्या के वकील ने कहा कि वह गैर जमानती वारंट को रद्द करने के लिए हाई कोर्ट जाएंगे। 14वें अतिरिक्त मुख्य मेट्रोपालिटन मजिस्ट्रेट की अदालत ने दस मार्च को अब ठप खड़ी किंगफिशर एअरलाइंस, उसके चेयरमैन विजय माल्या और कंपनी के एक अन्य वरिष्ठ अधिकारी के खिलाफ यह गैर जमानती वारंट जारी किया। अदालत ने इस मामले की सुनवाई के लिए अगली तारीख 13 अप्रैल तय की है।

जीएमआर के वकील जी अशोक रेड्डी ने कहा कि माल्या और अन्य को अदालत के समक्ष 10 मार्च को पेश होना था। वे पेश नहीं हुए। ऐसे में अदालत ने गैर जमानती वारंट जारी किया जिसे 13 अप्रैल तक तामील किया जाना है। उद्योगपति विजय माल्या के देश से बाहर जाने पर विवाद गहराता जा रहा है। वहीं माल्या ने रविवार को कहा कि ब्रिटेन में मीडिया उनके पीछे पड़ा है और ढूंढ रहा है, लेकिन वे सही स्थान पर नहीं पहुंच पा रहे हैं।

समझा जाता है कि माल्या ब्रिटेन में हैं। वह पिछले कुछ दिन से सिर्फ ट्वीट के जरिये अपनी बात रख रहे हैं। यह नहीं बता रहे कि वह कहां हैं। उन्होंने ट्वीट कर कहा, ‘ब्रिटेन में मीडिया मुझे ढूंढ रहा है। लेकिन वे सही जगह नहीं देख पा रहे हैं। मैं मीडिया से बात नहीं करूंगा। इसलिए आप अपना समय खराब न करें।’

माल्या के समूह पर बकाया 9,000 करोड़ के ऋण और ब्याज के लिए कानूनी प्रक्रियाओं का सामना कर रहे हैं। कुछ निजी ट्वीट के अलावा माल्या कुछ समाचारों को भी दोबारा ट्वीट कर रहे हैं। इनमें विमानन क्षेत्र की दिक्कतों के अलावा उनके खेल और बेवरेज कारोबार से संबंधित खबरे हैं।

उन्होंंने अपने पुत्र सिद्धार्थ माल्या के एक ट्वीट को भी दोबारा ट्वीट किया है। इसमें सिद्धार्थ ने कहा है कि लोग यह नहीं समझ पा रहे हैं कि इससे मेरा कोई लेना-देना नहीं है। इससे पहले यूबी समूह के प्रमुख ने 11 मार्च को कई ट्वीट के जरिए कहा था कि वह भगोड़े नहीं हैं और एक अंतरराष्ट्रीय उद्योगपति के रूप में भारत से बाहर आते जाते रहते हैं।

Hindi News के लिए हमारे साथ फेसबुक, ट्विटर, लिंक्डइन, टेलीग्राम पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News AppOnline game में रुचि है तो यहां क्‍लिक कर सकते हैं।

Next Stories
1 अमीरों को न मिले आरक्षण: RSS
2 पत्रकारिता के ज्यादातर स्टूडेंट्स बनना चाहते हैं एंकर या tv रिपोर्टर
3 बनारसी परंपरा को बनाए रखने की कोशिश
IPL 2020
X