ताज़ा खबर
 

वैश्विक संकेतक, कच्चे तेल के दाम तय करेंगे शेयर बाजार की चाल

शेयर बाजार विशेषज्ञों का मानना है कि घरेलू स्तर के साथ साथ वैश्विक बाजारों में किसी तरह को कोई बड़ा संकेत नहीं होने की वजह से बाजार सीमित दायरे में रहने की संभावना है।

Author नई दिल्ली | December 18, 2016 17:32 pm
शेयर बाजार (फाइल फोटो)

वैश्विक बाजारों का रुख और कच्चे तेल की कीमतें आगामी सप्ताह के दौरान शेयर बाजार में कारोबार चाल तय करेंगी। विशेषज्ञों ने हालांकि यह भी कहा है कि आकर्षक दाम पर शेयरों की उपलब्धता से भी बाजार को सहारा मिल सकता है और इसमें सुधार की गुंजाइश है। शेयर बाजार विशेषज्ञों का मानना है कि घरेलू स्तर के साथ साथ वैश्विक बाजारों में किसी तरह को कोई बड़ा संकेत नहीं होने की वजह से बाजार सीमित दायरे में रहने की संभावना है। इसके अलावा वर्षांत की आगामी छुट्टियों के कारण भी कारोबार धीमा रहने की संभावना है। आम्रपाली आद्या ट्रेडिंग एंड इंवेस्टमेन्ट्स के निदेशक एवं शोध प्रमुख अबनीश कुमार सुधांशु ने कहा, ‘निरंतर वैश्विक और घरेलू घटनाक्रमों की स्थिति रहने के बाद आने वाले सप्ताह में ऐसा कुछ नहीं दिख रहा जिससे की बाजार संकेत ग्रहण करे।’ उन्होंने आगे कहा कि कुछ नोटों को चलन से बाहर करने का भी अल्पावधि में शेयर बाजार में असर दिख रहा है तथा इससे संबंधित कोई अच्छी या बुरी खबर बाजार को प्रभावित कर सकती है। बाजार में कुछ शेयर विशेष में कारोबारी दिलचस्पी लेंगे। टाटा समूह की कुछ कंपनियों की असाधारण आम बैठक (ईजीएम) इस सप्ताह होगी जो साइरस मिस्त्री को निदेशक पद से हटाने के प्रस्ताव पर मतदान होगा।

सुधांशु ने कहा, ‘हम निवेशकों को फेडरल रिजर्व के फैसले के बाद मुद्रा के उतार चढ़ाव पर नजर रखने की सलाह देंगे। हमें कुछ समय के लिए आईटी कंपनियों के शेयरों पर निवेशकों की निगाह होने की उम्मीद है। इसके अलावा सरकार के डिजिटल भारत अभियान में सरकार के बढ़ते ध्यान पर भी निवेशकों की निगाह होगी।’ जियोजित बीएनपी परिबा फाइनेंशल सर्विसेज लिमिटेड के शोध प्रमुख विनोद नायर ने कहा कि निकट भविष्य में भारत के कारोबार का स्तर कम रहने की उम्मीद है क्योंकि मजबूत होते डॉलर और बढ़ती तेल कीमतों पर पहले ही बाजार पर दबाव कायम है। वैश्विक संकेतों के लिहाज से आने वाले सप्ताह में अमेरिका के घरों की बिक्री के आंकड़े और उसके कच्चे तेल के भंडार के आंकड़े जारी होने हैं। गत 16 दिसंबर को समाप्त सप्ताह के दौरान सेंसेक्स 257.62 अंक यानी 0.96 प्रतिशत और एनएसई का निफ्टी 122.30 अंक यानी 1.48 प्रतिशत गिरकर बंद हुआ। यह साप्ताहिक गिरावट 18 नवंबर के बाद किसी एक सप्ताह की सबसे बड़ी गिरावट है।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App