ताज़ा खबर
 

शेयर बाज़ार पर दिखा जीडीपी का असर, सेंसेक्स ने लगाई 241 अंक की छलांग

सेंसेक्स के 30 शेयरों में 21 में लाभ रहा।

Author मुंबई | March 1, 2017 6:36 PM
शेयर बाज़ार में बुधवार (1 मार्च) की स्थिति। (पीटीआई ग्राफिक्स)

दिसंबर तिमाही के उम्मीद से बेहतर सकल घरेलू उत्पाद (जीडीपी) की वृद्धि दर के आंकड़ों से शेयर बाजारों ने बुधवार (1 मार्च) को राहत की सांस ली। इन आंकड़ों और मजबूत वैश्विक संकेतों के बीच बंबई शेयर बाजार का सेंसेक्स 241 अंक की छलांग के साथ 28,985 अंक के छह माह के उच्च स्तर पर पहुंच गया। नेशनल स्टॉक एक्सचेंज का निफ्टी भी 8,900 अंक के आंकड़े को पार कर गया। केंद्रीय सांख्यिकी कार्यालय (सीएसओ) द्वारा मंगलवार (28 फरवरी) को जारी आंकड़ों के अनुसार चालू वित्त वर्ष की तीसरी तिमाही (अक्तूबर-दिसंबर 2016) में जीडीपी की वृद्धि दर 7 प्रतिशत रही। इससे यह आशंका खत्म हुई है कि नोटबंदी से अर्थव्यवस्था लड़खड़ा गई है। सीएसओ ने चालू वित्त वर्ष में वृद्धि 7.1 प्रतिशत रहने के पहले के अग्रिम अनुमान को बरकार रखा है।

बंबई शेयर बाजार का 30 शेयरों वाला सेंसेक्स सकारात्मक रुपए के साथ खुलने के बाद जल्द 29,000 अंक के आंकड़े को पार कर 29,029.17 अंक पर पहुंच गया था। अंत में सेंसेक्स 241.17 अंक या 0.84 प्रतिशत की बढ़त के साथ 28,984.49 अंक पर बंद हुआ। इससे पहले पिछले साल 8 सितंबर को सेंसेक्स 29,045.28 अंक पर बंद हुआ था। इससे पिछले दो सत्रों में सेंसेक्स 149.65 अंक टूटा था। नेशनल स्टाक एक्सचेंज का निफ्टी 66.20 अंक या 0.75 प्रतिशत के लाभ से 8,945.80 अंक पर बंद हुआ। कारोबार के दौरान यह 8,960.80 से 8,898.60 अंक के दायरे में रहा।

मासिक पीएमआई सर्वेक्षण के अनुसार फरवरी में लगातार दूसरे महीने देश की विनिर्माण क्षेत्र की वृद्धि दर बढ़ी है। इस बीच, अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप ने कहा है कि आव्रजन कानून में सुधारों को लेकर वह तैयार हैं। मूडीज इन्वेस्टर सर्विसेज ने अपनी रिपोर्ट में कहा है कि नोटबंदी भारत की वित्तीय साख के लिए सकारात्मक है क्योंकि इससे कर अपवंचना रुकेगा और भ्रष्टाचार पर अंकुश लगेगा। जियोजित फाइनेंशियल सर्विसेज के शोध प्रमुख विनोद नायर ने कहा कि तीसरी तिमाही में जीडीपी की वृद्धि दर 7 प्रतिशत रही है। ट्रंप के भाषण में कोई नकारात्मक टिप्पणी नहीं देखने को मिली है। इससे बाजार में लिवाली बढ़ी।’ पिछले दो महीने में सेंसेक्स और निफ्टी दोनों करीब 9 प्रतिशत चढ़े हैं।

एशियाई बाजारों में बुधवार को मजबूती का रुख रहा। यूरोपीय बाजारों की शुरुआत भी बेहतर रही। फरवरी के बेहतर बिक्री आंकड़ों से वाहन कंपनियों के शेयर लाभ में रहे। महिंद्रा एंड महिंद्रा, हीरो मोटोकॉर्प और बजाज ऑटो के शेयर 3.13 प्रतिशत तक चढ़ गए। अन्य कंपनियों में टाटा स्टील, डॉ रेड्डीज लैब, आईटीसी लि., सनफार्मा, एचडीएफसी लि., एक्सिस बैंक, इन्फोसिस, एसबीआई, हिंदुस्तान यूनिलीवर, आईसीआईसीआई बैंक, पावर ग्रिड और सिप्ला 3.68 प्रतिशत तक चढ़ गए।

सेंसेक्स के 30 शेयरों में 21 में लाभ रहा। वहीं गेल, एनटीपीसी, टाटा मोटर्स, भारती एयरटेल, रिलायंस इंडस्ट्रीज, कोल इंडिया, ल्यूपिन और विप्रो यानी कुल नौ शेयरों में गिरावट आई। स्मॉलकैप 0.45 प्रतिशत और मिडकैप 0.13 प्रतिशत चढ़ा। एशियाई बाजारों में हांगकांग का हैंगसेंग 0.15 प्रतिशत और जापान का निक्की 1.44 प्रतिशत चढ़ गए। शंघाई कम्पोजिट में 0.16 प्रतिशत का लाभ रहा। शुरुआती कारोबार में यूरोपीय बाजार ऊपर चल रहे थे।

RBI ने नहीं सरकार ने लिया था नोटबंदी का फैसला; 2000 रुपए के नए नोट को मई 2016 में ही दे दी गई थी मंज़ूरी

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App