गौतम अडानी के लिए राहत भरी खबर, अडानी ग्रुप से नहीं था मॉरिशस के 3 निवेशकों के जीडीआर खाते फ्रीज होने का कोई कनेक्शन

Gautam Adani: 14 जून को एक रिपोर्ट में कहा गया था कि अडानी ग्रुप से जुड़े मॉरिशस के 6 फंड हाउस में से 3 खाते फ्रीज कर दिए गए हैं। इस रिपोर्ट के सामने आने के बाद अडानी ग्रुप की कंपनियों के शेयरों में 25 फीसदी तक की गिरावट आई थी।

adani enterprises share, adani enterprises, adani group, Gautam Adani, reliance Industries, RIL Share Price, Mukesh ambani, business news, adani hindi news, jansatta
अडानी ग्रुप के तमाम शेयर जबरदस्त परफॉर्म कर रहे हैं। (express file)

अडानी ग्रुप के चेयरमैन गौतम अडानी के लिए कारोबारी मोर्चे पर अच्छी खबर आई है। नेशनल सिक्युरिटीज डिपॉजिटरी लिमिटेड (NSDL) ने स्पष्ट किया है कि अडानी ग्रुप से जुड़े विदेशी निवेशकों अलबुला इन्वेस्टमेंट्स, एपीएमएस इन्वेस्टमेंट और क्रेस्टा फंड के केवल ग्लोबल डिपॉजिटरी रिसीप्ट (GDR) खाते जब्त किए गए थे।

एनएसडीएल की वेबसाइट के ताजा अपडेट के अनुसार, अलबुला इन्वेस्टमेंट्स, एपीएमएस इन्वेस्टमेंट और क्रेस्टा फंड का जीडीआर अकाउंट उन 9425 जीडीआर अकांउट शामिल हैं, जिनको फ्रीज किया गया है। 14 जून को एक रिपोर्ट में कहा गया था कि अडानी ग्रुप की कंपनियों से जुड़े 6 विदेशी फंडों में से 3 के खाते एनएसडीएल ने फ्रीज कर दिए हैं। रिपोर्ट में कहा गया था कि इन फंडों की अधिकांश राशि अडानी ग्रुप की कंपनियों में निवेश की गई है। इस खबर के सामने आने के बाद अडानी ग्रुप की कंपनियों के शेयरों में 25 फीसदी तक की गिरावट आ गई थी।

सेबी के आदेश पर फ्रीज किए गए थे खाते: एनएसडीएल ने 14 जून को ही स्पष्ट किया था कि अलबुला, क्रेस्टा और एपीएमएस फंड के फ्रीज किए गए खातों का अडानी ग्रुप से कोई लेना-देना नहीं है। मॉरिशस से जुड़े तीन फंड हाउस के खातों को जीडीआर इन्वेस्टमेंट से जुड़े जून 2016 के एक केस में फ्रीज किए गए थे। यह कार्रवाई सेबी के आदेश पर की गई थी।

अडानी ग्रुप ने किया था खंडन: तीन फंड हाउस के खातों के फ्रीज होने की खबरों का अडानी ग्रुप ने खंडन किया था। अडानी ग्रुप ने कहा था कि तीन खातों को फ्रीज नहीं किया गया है। अडानी ग्रुप ने कहा था कि खातों को फ्रीज करने संबंधी रिपोर्ट्स स्पष्ट रूप से गलत और भ्रामक करने वाली हैं। एनएसडीएल की वेबसाइट पर 31 मई तक फ्रीज किए गए खातों में इन तीनों फंड हाउस के खाते शामिल थे। इसी कारण यह भ्रम पैदा हुआ है। अब एनएसडीएल ने इन तीनों फंड हाउस के खातों को डीजीआर की फ्रीज लिस्ट में डाल दिया है।

सेबी कर रही है अडानी ग्रुप की कंपनियों की जांच: 19 जुलाई को वित्त राज्यमंत्री पंकज चौधरी ने लोकसभा में कहा था कि सेबी और डायरेक्टोरेट ऑफ रेवेन्यू इंटेलीजेंस अडानी ग्रुप की कुछ कंपनियों की जांच कर रही हैं। यह जांच नियमों के पालन को लेकर हो रही है। केंद्रीय मंत्री ने स्पष्ट किया था कि मॉरिशस के 6 में से 3 फंड हाउसेज के खाते 2016 में फ्रीज किए गए थे। कुछ निश्चित लिस्टेड कंपनियों की ओर से जीडीआर जारी करने को लेकर इन खातों को फ्रीज किया गया था।

शेयरों में आया उछाल: एनएसडीएल का स्पष्टीकरण सामने आने के बाद अडानी ग्रुप की कंपनियों के शेयरों में उछाल आ गया है। गुरुवार को अडानी ग्रुप की कंपनियों में 3 फीसदी तक का उछाल देखा गया। हालांकि, कारोबार के अंत में सभी शेयर गिरावट के साथ लाल निशान में बंद हुए। बुधवार को भी अडानी ग्रुप की कंपनियों के शेयरों में 4 फीसदी तक का उछाल रहा था। शेयर बाजार में अडानी ग्रुप की कुल 6 कंपनियां लिस्टेड हैं।

पढें व्यापार समाचार (Business News). हिंदी समाचार (Hindi News) के लिए डाउनलोड करें Hindi News App. ताजा खबरों (Latest News) के लिए फेसबुक ट्विटर टेलीग्राम पर जुड़ें।

अपडेट