गौतम अडानी के लिए घाटे का सौदा बना यह कारोबार, इस वजह से हुआ करोड़ों का नुकसान

अडानी ग्रुप ने अडानी एयरपोर्ट होल्डिंग्स लिमिटेड के जरिए पिछले साल ही एविएशन सेक्टर में कदम रखा है। कंपनी के पास अभी 7 एयरपोर्ट्स के संचालन का जिम्मा है। इसमें से कंपनी ने 4 एयरपोर्ट्स का संचालन अपने हाथ में ले लिया है।

gautam adani, adani share
गौतम अडानी (Photo-PTI )

Adani Gautam: देश के दिग्गज कारोबारी और अडानी ग्रुप के चेयरमैन गौतम अडानी के लिए कारोबारी मोर्चे पर बुरी खबर आई है। अडानी ग्रुप ने 2019 में अडानी एयरपोर्ट होल्डिंग्स लिमिटेड के जरिए एविएशन सेक्टर में कदम रखा था। लेकिन इस कारोबार से गौतम अडानी को पिछले साल करोड़ों रुपए का नुकसान झेलना पड़ा है।

दरअसल, एविएशन सेक्टर पर कोरोना का बहुत बुरा असर पड़ा है। इसके चलते वित्त वर्ष 2020-21 में देशभर के 136 एयरपोर्ट्स को 2,883 करोड़ रुपए का नुकसान हुआ है। इसमें मुंबई और दिल्ली एयरपोर्ट को सबसे ज्यादा नुकसान हुआ है। जबकि वित्त 2019-20 में इन एयरपोर्ट्स को 80.18 करोड़ रुपए का नुकसान हुआ था। पिछले साल दिल्ली और मुंबई एयरपोर्ट को सबसे ज्यादा नुकसान झेलना पड़ा है। इसमें से मुंबई एयरपोर्ट में अडानी एयरपोर्ट होल्डिंग्स की बड़ी हिस्सेदारी है।

मुंबई एयरपोर्ट्स को 384.81 करोड़ रुपए का नुकसान: वित्त वर्ष 2020-21 में सबसे ज्यादा नुकसान झेलने वालों में टॉप पांच में मुंबई, दिल्ली, चेन्नई, त्रिवेंद्रम और अहमदाबाद के एयरपोर्ट शामिल हैं। मनी कंट्रोल की एक रिपोर्ट में सरकारी डाटा के हवाले से कहा गया है कि मुंबई के छत्रपति शिवाजी महाराज इंटरनेशनल एयरपोर्ट को सबसे ज्यादा 384.81 करोड़ रुपए का नुकसान हुआ है। इस एयरपोर्ट में अडानी एयरपोर्ट होल्डिंग्स लिमिटेड की 74 फीसदी और एयरपोर्ट अथॉरिटी ऑफ इंडिया की 26 फीसदी हिस्सेदारी है। इसके बाद दिल्ली के इंदिरा गांधी हवाई अड्डे का नंबर आता है। इस एयरपोर्ट को पिछले साल 317.41 करोड़ रुपए का नुकसान हुआ है। 253.59 करोड़ रुपए के नुकसान के साथ चेन्नई एयरपोर्ट का नंबर आता है। त्रिवेंद्रम और अहमदाबाद के एयरपोर्ट चौथे व पांचवें नंबर हैं। इन दोनों को क्रमश: 100.31 करोड़ और 94.1 करोड़ रुपए का नुकसान हुआ है।

पुणे एयरपोर्ट को सबसे ज्यादा प्रॉफिट: कोरोनाकाल के दौरान पुणे एयरपोर्ट को सबसे ज्यादा प्रॉफिट रहा है। डाटा के मुताबिक, पिछले साल पुणे एयरपोर्ट को 16.09 करोड़ रुपए का प्रॉफिट रहा है। पुणे एयरपोर्ट का संचालन इंडियन एयरफोर्स की ओर से किया जाता है। रनवे की मरम्मत और विस्तार के कारण अभी पुणे एयरपोर्ट का पूरी क्षमता के साथ संचालन नहीं हो पा रहा है। इसके बाद जुहू एयरपोर्ट का नंबर आता है। इस एयरपोर्ट का कुल मुनाफा 15.94 करोड़ रुपए रहा है। प्रॉफिट वाले टॉप-5 एयरपोर्ट में श्रीनगर, पटना और कानपुर चकेरी एयरपोर्ट भी शामिल हैं। इनका प्रॉफिट क्रमश: 10.47 करोड़, 6.44 करोड़ और 6.07 करोड़ रुपए रहा है। कई ऐसे एयरपोर्ट भी रहे हैं जिनको कोई नफा-नुकसान नहीं हुआ है।

अडानी एयरपोर्ट होल्डिंग्स के पास कुल 7 एयरपोर्ट: गौतम अडानी की कंपनी अडानी एयरपोर्ट होल्डिंग्स के पास कुल 7 एयरपोर्ट के संचालन का जिम्मा है। इसमें से 6 एयरपोर्ट के संचालन का जिम्मा पिछले साल नीलामी के जरिए मिला था। जबकि मुंबई एयरपोर्ट के संचालन में प्राइवेट इक्विटी के जरिए हिस्सेदारी खरीदी गई थी। फिलहाल अडानी एयरपोर्ट होल्डिंग्स मुंबई एयरपोर्ट के साथ अहमदाबाद, लखनऊ और मेंगलुरु एयरपोर्ट का संचालन कर रही है। कंपनी ने अभी तीन अन्य एयरपोर्ट का संचालन अपने हाथ में नहीं लिया है।

पढें व्यापार समाचार (Business News). हिंदी समाचार (Hindi News) के लिए डाउनलोड करें Hindi News App. ताजा खबरों (Latest News) के लिए फेसबुक ट्विटर टेलीग्राम पर जुड़ें।

अपडेट