ताज़ा खबर
 

अमेजॉन के खिलाफ फ्यूचर ग्रुप की हाई कोर्ट में याचिका, जानें- किशोर बियानी ने अब चला है क्या दांव

लीगल एक्पर्ट्स के मुताबिक फ्यूचर ग्रुप ने यह प्रतिवाद इसलिए दायर किया है ताकि अमेज़ॉन की ओर से उच्च न्यायालय या फिर सुप्रीम कोर्ट में अर्जी डाली जाती है तो फिर उसका पक्ष लिए बिना कोई फैसला न दिया जाए।

kishore biyaniफ्यूचर ग्रुप के मुखिया किशोर बियानी

रिलायंस इंडस्ट्रीज के साथ रिटेल बिजनेस बेचने की डील पर अमेजॉन की आपत्ति के खिलाफ फ्यूचर ग्रुप के मुखिया किशोर बियानी ने दिल्ली हाई कोर्ट का रुख किया है। फ्यूचर ग्रुप ने उच्च न्यायालय में प्रतिवाद दायर किया है और कहा है कि यदि अमेजॉन की अर्जी कोर्ट में आती है तो फिर इसकी सुनवाई की जानी चाहिए। बिजनेस स्टैंडर्ड की रिपोर्ट के मुताबिक अमेजॉन की ओर से कोर्ट का रुख किए जाने की आशंका है। ऐसे में फ्यूचर ग्रुप ने पहले ही दिल्ली हाई कोर्ट का रुख करने का फैसला लिया है। बता दें कि फ्यूचर ग्रुप ने मुकेश अंबानी की लीडरशिप वाले रिलायंस इंडस्ट्रीज को 24,713 करोड़ रुपये में अपना रिटेल बिजनेस बेचने का फैसला लिया है।

दरअसल अमेजॉन ने इस डील के खिलाफ सिंगापुर की आर्बिट्रेशन कोर्ट में याचिका दाखिल की थी। उसकी याचिका पर सुनवाई करते हुए आर्बिट्रेशन कोर्ट ने डील को होल्ड करने का आदेश दिया है। हालांकि आर्बिट्रेशन का यह आदेश सीधे तौर पर भारत में लागू नहीं होता है। ऐसे में इसे लागू कराने के लिए अमेजॉन की ओर से किसी उच्च न्यायालय का रुख किया जा सकता है।

लीगल एक्पर्ट्स के मुताबिक फ्यूचर ग्रुप ने यह प्रतिवाद इसलिए दायर किया है ताकि अमेज़ॉन की ओर से उच्च न्यायालय या फिर सुप्रीम कोर्ट में अर्जी डाली जाती है तो फिर उसका पक्ष लिए बिना कोई फैसला न दिया जाए। सूत्रों के मुताबिक फ्यूचर ग्रुप ने अपने प्रतिवाद की एक प्रति अमेजॉन को भी भेजी है।

बता दें कि रिलायंस के साथ फ्यूचर ग्रुप की डील का अमेजॉन ने यह कहते हुए विरोध किया है कि 2019 में उसने ग्रुप में निवेश किया था और उस डील में जो करार तय हुए थे, उनका उल्लंघन किया गया है। अमेजॉन का कहना है कि उस डील में यह करार भी था कि हिस्सेदारी बेचने का फैसला यदि फ्यूचर ग्रुप लेता है तो फर्स्ट राइट टू रिफ्यूज का अधिकार अमेजॉन के पास होगा। इसका अर्थ यह है कि बिजनेस बेचने की स्थिति में अमेजॉन से संपर्क किया जाना चाहिए। हालांकि फ्यूचर ग्रुप के प्रतिवाद को लेकर अब तक अमेजॉन का रुख सामने नहीं आया है।

गौरतलब है कि लगातार कर्ज के संकट के बढ़ने की वजह से किशोर बियानी ने अपने रिटेल बिजनेस को मुकेश अंबानी के रिलायंस समूह को बेच दिया है। अगस्त में हुई 24,713 करो़ड़ रुपये की डील के तहत बिग बाजार, फैशन ऐट बिग बाजार समेत कई चर्चित रिटेल ब्रांड अब रिलायंस इंडस्ट्रीज का हिस्सा हो जाएंगे।

Hindi News के लिए हमारे साथ फेसबुक, ट्विटर, लिंक्डइन, टेलीग्राम पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News AppOnline game में रुचि है तो यहां क्‍लिक कर सकते हैं।

Next Stories
1 ग्रोथ को लेकर चिंतित हैं कारोबारी, राजीव बजाज बोले- अभी हाल चिंताजनक, फेस्टिवल सीजन के बाद क्या होगा
2 चीन सरकार का अलीबाबा ग्रुप के मुखिया जैक मा को समन, जानें- क्यों आई दिग्गज कारोबारी के साथ यह नौबत
3 7th Pay Commission: केंद्रीय कर्मियों के बाद अब इस राज्य में सरकारी कर्मचारियों को दिवाली गिफ्ट, मिलेगा बोनस
यह पढ़ा क्या?
X