ताज़ा खबर
 

खत्म नहीं हुई रिटेल किंग किशोर बियानी की पारी! भतीजे के जरिए फिर रिटेल सेक्टर में कर सकते हैं वापसी

रिलायंस से हुई डील में दोनों नॉन-कंपीटेंस एग्रीमेंट भी हुआ था, जिसमें किशोर बियानी और उनके परिवार के सदस्यों के नाम हैं। ऐसे में परिवार ने राकेश बियानी के जरिए एक बार फिर से रिटेल सेगमेंट में आने का प्लान बनाया है।

kishore biyani rakesh biyaniकिशोर बियानी और उनके भतीजे राकेश बियानी

कभी भारत के रिटेल किंग कहलाने वाले फ्यूचर ग्रुप के मुखिया किशोर बियानी एक बार फिर से रिटेल बिजनेस में वापसी कर सकते हैं। हाल ही में ग्रुप का रिटेल बिजनेस मुकेश अंबानी के रिलायंस इंडस्ट्रीज को बेचने वाले किशोर बियानी इस बार भतीजे राकेश बियानी के जरिए इस सेक्टर में एंट्री कर सकते हैं। दरअसल मुकेश अंबानी की कंपनी से हुई डील में यह करार भी शामिल था कि बियानी फैमिली अगले 15 सालों तक रिटेल बिजनेस में नहीं उतरेगी। इस करार में राकेश बियानी का नाम नहीं है। ऐसे में परिवार उनके नाम से ही इस सेक्टर में एंट्री कर सकता है। टाइम्स ऑफ इंडिया की एक रिपोर्ट में किशोर बियानी के फ्यूचर ग्रुप को लेकर यह दावा किया गया है।

दरअसल रिलायंस से हुई डील में दोनों नॉन-कंपीटेंस एग्रीमेंट भी हुआ था, जिसमें किशोर बियानी और उनके परिवार के सदस्यों के नाम हैं। ऐसे में परिवार ने राकेश बियानी के जरिए एक बार फिर से रिटेल सेगमेंट में आने का प्लान बनाया है। हालांकि इस बारे में अब तक कोई पुष्ट जानकारी नहीं मिल सकी है। राकेश बियानी फिलहाल एथनिक वियर स्टोर्स का संचालन करते हैं, जिसका नाम Ethnicity है। टाइम्स ऑफ इंडिया ने फ्यूचर ग्रुप के एक सूत्र के हवाले से लिखा है कि किशोर बियानी का इस सेक्टर में लंबा अनुभव है और वह खाली नहीं बैठ सकते। फिलहाल वह परिवार की नई पीढ़ी को कारोबार के गुर सिखाने में जुटे हैं।

बता दें कि किशोर बियानी की बेटियां अशनी और अवनि बियानी फ्यूचर कन्जयूमर और फूडहॉल के कामकाज को संभालती हैं। गौरतलब है कि किशोर बियानी ने अपने फ्चूयर ग्रुप के रिटेल बिजनेस को 24,700 करोड़ रुपये में मुकेश अंबानी के रिलायंस इंडस्ट्रीज के हाथों बेच दिया है। इसके साथ ही ग्रुप के मशहूर ब्रांड बिग बाजार, फैशन ऐट बिग बाजार आदि अब रिलायंस का हिस्सा हो गए हैं। इस डील को लेकर बीते दिनों किशोर बियानी ने कहा था कि कोरोना काल में रिटेल बिजनेस में 7,000 करोड़ रुपये का नुकसान हुआ था। ऐसे में रिटेल बिजनेस को बेचने का ही विकल्प बचा था।

किशोर बियानी ने संकट के बारे में विस्तार से बताते हुए कहा था कि बिजनेस भले ही थम जाए, लेकिन कर्ज पर चल रहा ब्याज और स्टोर का किराया कभी नहीं रुकता। हालांकि रिलायंस और फ्यूचर ग्रुप की इस डील पर आपत्ति जताते हुए अमेजॉन ने किशोर बियानी के समूह पर केस करने की तैयारी की है। अमेजॉन का कहना है कि यह उसके साथ फ्यूचर ग्रुप की डील का उल्लंघन है।

Hindi News के लिए हमारे साथ फेसबुक, ट्विटर, लिंक्डइन, टेलीग्राम पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News AppOnline game में रुचि है तो यहां क्‍लिक कर सकते हैं।

Next Stories
1 पीएम किसान योजना के लाभार्थियों का एक फॉर्म भरते ही बनेगा किसान क्रेडिट कार्ड, दो बीमा योजनाओं का फायदा भी
2 देश भर में घटी बेरोजगारी, पर इन राज्यों में अब भी 22 पर्सेंट तक है बेरोजगारी की दर, बिहार में भी 11 पर्सेंट लोगों पर काम नहीं
3 गरीबों की मदद पर टैक्स में छूट! SBI की चीफ इकोनॉमिस्ट ने केंद्र को दिया सुझाव, जानें क्या है ADOPT-A-FAMILY स्कीम
ये पढ़ा क्या?
X