ताज़ा खबर
 

आज खुलेंगे 12 आइपीओ, 70 करोड़ रुपए जुटाए जाएंगे

निवेशकों की धारणा में सुधार के बीच शुक्रवार को 12 छोटे व मझोले उपक्रम (एसएमई) अपने पब्लिक इश्यू (आइपीओ) लेकर आ रहे हैं।

Author नई दिल्ली | September 30, 2016 5:01 AM

निवेशकों की धारणा में सुधार के बीच शुक्रवार को 12 छोटे व मझोले उपक्रम (एसएमई) अपने पब्लिक इश्यू (आइपीओ) लेकर आ रहे हैं। इनके आइपीओ से 70 करोड़ रुपए जुटाए जाएंगे। इस महीने पहले ही 12 अन्य कंपनियां पूंजी बाजार में उतर चुकी हैं। चालू वित्त वर्ष की पहली छमाही में भारतीय कंपनियों ने आइपीओ से 17283 करोड़ रुपए जुटाए हैं। यह नौ साल का उच्चस्तर है। शुक्रवार को जिन छह कंपनियों के आइपीओ आएंगे, उनमें ग्रेटेक्स इंडस्ट्रीज, धानुका रीयल्टी, साकार हेल्थकेयर, आर्ट निर्माण, पंसारी डवलपर्स, औरंगाबाद डिस्टिलरी, ग्लोब इंटरनेशनल कैरियर्स, डीआरए कंसल्टेंट्स, शशिजीत इन्फ्राप्रोजेक्ट्स, मेवाड़ हाईटेक इंजीनियरिंग, इंडिया ग्रीन रीयल्टी और बिंदल एक्सपोर्ट्स शामिल है। इनमें से सात कंपनियां एनएसई के एसएमई प्लेटफार्म पर सूचीबद्ध होंगी, जबकि पांच कंपनियां बीएसई प्लेटफार्म पर सूचीबद्ध होंगी।

आइपीओ के जरिए जुटाई गई राशि का इस्तेमाल ये कंपनियां कारोबार विस्तार योजनाओं, कार्यशील पूंजी की जरूरत व अन्य कंपनी कामकाज के लिए करेंगी। आगे 33 और कंपनियों ने बीएसई के एसएमई प्लेटफार्म पर आइपीओ की योजना बनाई है। एनएसई की उसके एसएमई प्लेटफार्म पर सूचीबद्ध होने के लिए विभिन्न कंपनियों से बातचीत चल रही है। कुल मिलाकर 2015-16 में 44 एसएमई ने 290 करोड़ रुपए जुटाए हैं।

प्राइम डाटाबेस के प्रबंध निदेशक प्रणव हल्दिया ने कहा कि अब हम अधिक आकार के आइपीओ देखेंगे। कुल मिलाकर आइपीओ की पाइपलाइन उत्साहवर्द्धक है। फिलहाल 16 कंपनियों ने आइपीओ के जरिए 5745 करोड़ रुपए जुटाने की योजना बनाई है। इन कंपनियों को इसके लिए भारतीय प्रतिभूति एवं विनिमय बोर्ड (सेबी) की मंजूरी मिल गई है। पांच अन्य कंपनियों का आइपीओ के जरिए 6,810 करोड़ रुपए जुटाने का इरादा है। इन कंपनियों को इसके लिए नियामक की मंजूरी का इंतजार है।

चालू वित्त वर्ष की अप्रैल-सितंबर छमाही में 56 कंपनियों ने सामूहिक रूप से आइपीओ के जरिए 17,283 करोड़ रुपए जुटाए हैंं। यह 2007-08 की पहली छमाही के बाद इसका सबसे ऊंचा आंकड़ा है। उस समय कंपनियों ने आइपीओ से 21,244 करोड़ रुपए जुटाए थे। इससे पिछले वित्त वर्ष की समान तिमाही में 39 कंपनियों ने आइपीओ से 4,950 करोड़ रुपए जुटाए थे। इसमें महत्त्वपूर्ण तथ्य यह है कि इन 56 आइपीओ में से 41 लघु व मझोले उपक्रमों (एसएमई) क्षेत्र के हैं। 15 बड़ी कंपनियों ने आइपीओ से 16,924 करोड़ रुपए जुटाए, वहीं 41 एसएमई ने आइपीओ से 358 करोड़ रुपए जुटाए। सबसे बड़ा आइपीओ आइसीआइसीआइ पू्रडेंशियल लाइफ इंश्योरेंस का रहा जिसने 6,057 करोड़ रुपए जुटाए। एसएमई में सबसे बड़ा आइपीओ राधिका ज्वेलटेक का रहा, जिसने आइपीओ से 47 करोड़ रुपए जुटाए। इस बीच एलआइसी म्यूचुअल फंड एसेट मैनेजमेंट कंपनी ने म्यूचुअल फंड उत्पादों के वितरण के लिए कर्नाटक बैंक के साथ करार किया है। करार के तहत कंपनी बैंक की 730 शाखाआें के जरिए अपने उत्पादों का वितरण करेगी। एलआइसी म्यूचुअल फंड की सीईओ सरोजनी दिखाले ने कहा-‘हमें एक प्रमुख व आगे की सोच रखने वाले बैंक के साथ गठजोड़ कर काफी खुशी है।’

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App