फॉर्चुन इंडिया नेक्स्ट 500 लिस्ट में पहली बार शामिल हुई जस्ट डायल, IRCTC को मिला 199वां स्थान - Jansatta
ताज़ा खबर
 

फॉर्चुन इंडिया नेक्स्ट 500 लिस्ट में पहली बार शामिल हुई जस्ट डायल, IRCTC को मिला 199वां स्थान

पहली बार सूची में यूटीआई एसेट मैनेजमेंट कंपनी तथा जस्ट डायल को शामिल किया गया है जो क्रमश: 442 और 449वें स्थान पर हैं।

Author नई दिल्ली | June 16, 2016 6:20 PM
भारती रेलवे की इकाई आईआरसीटीसी 2015 में 328वें स्थान पर थी।

जस्ट डायल, यूटीआआई एसेट मैनजमेंट कंपनी तथा आईआरसीटीसी भारतीय कंपनियों की फॉर्चुन नेक्स्ट 500 सूची में शामिल हैं। सूची में डायनामैटिक टेक्नोलाजीज शीर्ष स्थान पर है। जो कंपनियां नेक्स्ट 500 सूची में शामिल हैं, उनमें ज्यादातर मझोले आकार की हैं और उन्हें ‘छोटे अनूठे’ करार दिया है। सूची में 1,693 करोड़ रुपए से अधिक के सालाना आय के साथ डायनामैटिक टेक्नोलाजीज सूची में अव्वल है। उसके बाद क्रमश: नेक्टर लाइफसाइंस (1,692 करोड़ रुपए), ओसवाल वूलेन मिल्स(1,689 करोड़ रुपए), वीआरएल लॉजिस्टिक्स (1,682.5 करोड़ रुपए) तथा हिताची होम एंड लाइफ सोल्यूशंस (1,682.18 करोड़ रुपए) शामिल हैं।

नेक्टर लाइफसासंइ को सूची में पहली बार शामिल किया गया है जबकि अन्य कंपनियों ने पिछले साल के मुकाबले अपनी स्थिति सुधारी है। पत्रिका के अनुसार कुल मिलाकर नेक्स्ट 500 कंपनियों की आय 5,14,788 करोड़ रुपए रही जबकि औसतन इन कंपनियों की आय 1,000 करोड़ रुपए से अधिक है। शीर्ष 10 कंपनियों में गुजरात मिनरल डेवलपमेंट कॉरपोरेशन, लुकास-टीवीएस, गति, एडेको इंडिया तथा जिंदल एल्यूमीनियम शामिल हैं।

भारती रेलवे की इकाई आईआरसीटीसी इस साल 199वें स्थान पर है जबकि 2015 में वह 328वें स्थान पर थी। पहली बार सूची में यूटीआई एसेट मैनेजमेंट कंपनी तथा जस्ट डायल को शामिल किया गया है जो क्रमश: 442 और 449वें स्थान पर हैं। इसके अलावा सूची में नारायण हृदायलय, उज्जीवन फाइनेंशियन सर्विसेज, डा. लाल पैथलैब्स तथा पराग मिल्क फूड्स को भी जगह मिली है। हाल ही में इन कंपनियों के आईपीओ बाजार में आए। सूची में शामिल अन्य कंपनियों में पीवीआर (62), मॉयल (142), बजाज कॉर्प (319), फ्रैंकलिन टेम्पल्टन एसेट मैनेजमेंट (351), मोतीलाल ओसवाल फाइनेंशियल सर्विसेज (355), रेपको होम फाइनेंस (415) तथा मोनसैंटो इंडिया (447) हैं।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App