ताज़ा खबर
 

लागत घटाने के लिए 700 कर्मियों की छंटनी करेगी फ्लिपकार्ट

सूत्रों ने बताया कि फ्लिपकार्ट कमजोर प्रदर्शन करने वाले कर्मचारियों को इस्तीफा देने या बर्खास्तगी के लिए तैयार रहने को कह रही है।

Author नई दिल्ली | Published on: July 29, 2016 9:40 PM
Flipkart GST, Amazon GST, Snapdeal GST, GST TCS Rules, Flipkart latest News, Amazon latest news, Snapdeal latest Newsदेश की ई-कॉमर्स क्षेत्र की सबसे बड़ी कंपनी फ्लिपकार्ट।

देश की ई-कॉमर्स क्षेत्र की सबसे बड़ी कंपनी फ्लिपकार्ट अपनी लागत घटाने के लिए 700 कर्मचारियों की छंटनी करने जा रही है। यह कंपनी के कुल कार्यबल का तीन प्रतिशत है। आमेजन तथा स्नैपडील जैसी कंपनियों से प्रतिस्पर्धा के लिए फ्लिपकार्ट लागत घटा रही है। सूत्रों ने बताया कि फ्लिपकार्ट कमजोर प्रदर्शन करने वाले कर्मचारियों को इस्तीफा देने या बर्खास्तगी के लिए तैयार रहने को कह रही है। सूत्रों ने कहा कि ऊंचे स्तर पर 1,000 तक कर्मचारियों को बाहर का रास्ता दिखाया जा सकता है। सूत्रों ने कहा कि इससे कंपनी के एक से दो प्रतिशत कर्मचारी प्रभावित होंगे। फ्लिपकार्ट को हाल के दिनों में अपने मूल्यांकन में कमी को देखना पड़ा है। इसके मद्देनजर कंपनी ने अपने कारोबारी मॉडल में बदलाव किया है। इसी के तहत विक्रेताओं से लिया जाने वाला मार्जिन भी कम किया है।

इस बारे में संपर्क करने पर फ्लिपकार्ट के प्रवक्ता ने इस बात की पुष्टि की कि कर्मचारियों के एक वर्ग के प्रदर्शन की समीक्षा की जा रही है। हालांकि, उन्होंने यह नहीं बताया कि कितने कर्मचारियों को बाहर का रास्ता दिखाया जाएगा। फ्लिपकार्ट ने कहा है कि यह विभिन्न उद्योगों में एक सामान्य प्रक्रिया है। विशेषरूप से उच्च प्रदर्शन वाले इंटरनेट संगठनों में। यह घटनाक्रम ऐसे समय हो रहा है जबकि बेंगलुरु की कंपनी का मूल्यांकन कम किया गया है। निवेश प्रबंधन कंपनी टी रो प्राइस ने इस महीने कंपनी में अपनी हिस्सेदारी का मूल्यांकन दूसरी बार घटाया है।

Hindi News के लिए हमारे साथ फेसबुक, ट्विटर, लिंक्डइन, टेलीग्राम पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News AppOnline game में रुचि है तो यहां क्‍लिक कर सकते हैं।

Next Stories
1 भारत में 20 लाख लोग कर रहे हैं रेलवे स्टेशनों पर मुफ्त वाईफाई का इस्तेमाल: सुंदर पिचाई
2 राजकोषीय घाटा अप्रैल-जून तिमाही में बजटीय अनुमान का 61 फीसद
3 नेस्ले को दूसरी तिमाही में 231 करोड़ रुपए का मुनाफा
ये पढ़ा क्या?
X