ताज़ा खबर
 

फ्लिपकार्ट से कर्मचारियों की छंटनी पर को-फाउंडर सचिन बंसल बोले- मुझे भी निकाल दिया गया

फ्लिपकार्ट ने पिछले महीने 300 कर्मचारियों को खराब प्रदर्शन के चलते निकाल दिया। इसके बाद अन्‍य कर्मचारियों में भी अपने भविष्‍य को लेकर चिंता थी।

फ्लिपकार्ट कंपनी के सहसंस्‍थापक सचिन बंसल।

फ्लिपकार्ट से कर्मचारियों को निकाले जाने की खबरों के बीच कंपनी के सहसंस्‍थापक सचिन बंसल का कहना है कि उन्‍हें भी खराब प्रदर्शन के चलते हटाया गया था। कंपनी की मासिक बैठक में बसंल ने बताया कि यह बात सभी लोगों पर लागू होती है। गौरतलब है कि फ्लिपकार्ट ने पिछले महीने 300 कर्मचारियों को खराब प्रदर्शन के चलते निकाल दिया। इसके बाद अन्‍य कर्मचारियों में भी अपने भविष्‍य को लेकर चिंता थी।

कंपनी की शुक्रवार को हुई बैठक में बंसल ने कहा, ”उन्‍हें भी प्रदर्शन के चलते सीईओ के पद से हटा दिया गया था।” उन्‍हें जनवरी में सीईओ पद से हटाया गया था। उनकी जगह बिन्‍नी बंसल ने ली थी। बिन्‍नी इससे पहले कंपनी में सीओओ के पद पर थे और वर्तमान में वे मुखिया की जिम्‍मेदारी निभा रहे हैं। बिन्‍नी और सचिन दोनों पहले अमेजन में काम करते थे। दोनों ने मिलकर साल 2007 में इसकी स्‍थापना की। बैठक के दौरान कर्मचारियों ने कहा कि मैनेजमेंट के लिए गए फैसले अगर गलत असर डालते हैं तो इसका नतीजा वे क्‍यों भुगते। सूत्रों के अनुसार सचिन के बयान के बाद कर्मचारियों ने चैन की सांस ली और उनके बयान का तालियों से स्‍वागत किया गया।

बैठक में मौजूद लोगों ने बताया कि सचिन ने कहा, ”आपके ऊपर देखिए। सब बदल गए हैं। सच कहूं तो मुझे भी हटाया गया। हमारे कुछ टारगेट हासिल नहीं हुए और टॉप मैनेजमेंट सहित सबको इसकी कीमत चुकानी पड़ी।” सचिन बंसल के बयान पर फ्लिपकार्ट के आधिकारिक बयान में कहा गया कि कंपनी में खुला और पारदर्शी माहौल है। इसमें कंपनी से जुड़े सभी फैसलों पर चर्चा की जाती है और सवाल पूछे जाते हैं।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ लिंक्डइन पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

X