31 मार्च को भी रामदेव की कंपनी को झटका, दो दिन में हो गया इतना नुकसान

योगगुरु रामदेव की कंपनी रुचि सोया भारतीय शेयर बाजार के बीएसई पर लिस्टेड है। इस कंपनी के शेयर भाव में एक बार फिर गिरावट आई है।

ramdev, ruchi soya, ramdev companyरामदेव की कंपनी है रुचि सोया (Photo-Indian Express )

वैसे तो नए साल का आखिरी दिन 31 दिसंबर होता है लेकिन फाइनेंशियल ईयर का हिसाब थोड़ा अलग है। फाइनेंशियल ईयर का आखिरी दिन 31 मार्च को माना जाता है। इस साल 31 मार्च का दिन शेयर बाजार के लिए सही नहीं रहा। शेयर बाजार के साथ ही योगगुरु रामदेव की कंपनी को भी नुकसान हुआ है।

दरअसल, योगगुरु रामदेव की कंपनी रुचि सोया भारतीय शेयर बाजार के बीएसई इंडेक्स पर लिस्टेड है। इस कंपनी के शेयर भाव में एक बार फिर गिरावट आई है। बीते कुछ दिनों से कंपनी का शेयर भाव लगातार लुढ़क रहा है। फिलहाल, शेयर का भाव 641.35 रुपये के स्तर पर है। वहीं, कंपनी का मार्केट कैपिटल 18,973.76 करोड़ रुपये है। बीते सप्ताह के आखिरी दिन यानी शुक्रवार को रुचि सोया का मार्केट कैपिटल 19,145 करोड़ रुपये था। इस लिहाज से देखें तो मार्केट कैपिटल में 172 करोड़ रुपये की कमी आई है।

बीते सोमवार को होली की वजह से शेयर बाजार में कारोबार नहीं हुआ। कहने का मतलब है कि ये नुकसान दो कारोबारी दिनों का है।आपको बता दें कि पतंजलि आयुर्वेद ने साल 2019 में 4,350 करोड़ रुपये में रुचि सोया का अधिग्रहण किया था। इसके बाद 29 जून 2020 को रुचि सोया का शेयर भाव 1,535 रुपये के स्तर को छु लिया था। इस लिहाज से देखें तो रुचि सोया का शेयर भाव आधे से भी कम हो चुका है।

शेयर बाजार का क्या रहा हाल: फाइनेंशियल ईयर के आखिरी दिन वैश्विक बाजारों में कमजोर रुख के बीच बीएसई सेंसेक्स 627 अंक लुढ़क कर बंद हुआ। तीस शेयरों पर आधारित बीएसई सेंसेक्स 627.43 अंक यानी 1.25 प्रतिशत की गिरावट के साथ 49,509.15 पर बंद हुआ। वहीं, नेशनल स्टॉक एक्सचेंज का निफ्टी 154.40 अंक यानी 1.04 प्रतिशत टूटकर 14,690.70 अंक पर बंद हुआ।

सेंसेक्स के शेयरों में गिरावट एचडीएफसी बैंक और एचडीएफसी में दर्ज की गयी। इनमें करीब 4 प्रतिशत की गिरावट आयी। इसके अलावा पावर ग्रिड, टेक महिंद्रा, आईसीआईसीआई बैंक, ओएनजीसी, कोटक बैंक, एशियन पेंट्स, इन्फोसिस और रिलायंस इंडस्ट्रीज में भी गिरावट दर्ज की गयी। वहीं, मुनाफे में रहने वाले शेयर आईटीसी, बजाज फिनसर्व, एचयूएल, भारतीय स्टेट बैंक और टीसीएस रहे।

दरअसल, कोविड-19 मामलों में तेजी को लेकर निवेशकों में चिंता देखने को मिल रही है। यही वजह है कि शेयर बाजार को भी फाइनेंशियल ईयर के आखिरी दिन नुकसान हुआ है।

Next Stories
1 अडानी ग्रुप और म्यांमार सेना-नियंत्रित कंपनी के बीच हुई डील! BJP सांसद ने उठाए सवाल
2 Amazon ने की 108 करोड़ की डील, मुकेश अंबानी के रिलायंस के लिए नई चुनौती
3 टाटा से हार के बाद शापूरजी ग्रुप की कंपनी ने बेची अपनी हिस्सेदारी, 397 करोड़ में हुई डील
आज का राशिफल
X