ताज़ा खबर
 

लोक लेखा समिति को वित्त मंत्रालय के अधिकारियों ने दिया लिखित जवाब- नोटबंदी से बढ़ेगा टैक्स कलेक्शन

पीएसी को सौंपे गए लिखित जवाब में कहा गया है कि जो नकदी बैंकों में लौटी है, उस पर नजर रखना आसान है, अत: इससे कर चोरी अधिक कठिन होगी।

Author January 22, 2017 3:44 PM
बैंकों, एटीएम के बाहर लंबी कतारें अभी तक खत्‍म नहीं हो सकी हैं। (Photos: PTI)

वित्त मंत्रालय ने कहा है कि नोटबंदी से कर आधार बढ़ेगा और ब्याज दरें कम होंगी। इस प्रकार, टिकाऊ एवं तीव्र आर्थिक का रास्ता साफ होगा। लोक लेखा समिति को लिखित में दिये जवाब में राजस्व विभाग ने कहा कि उच्च राशि की पुरानी मुद्रा को चलन से वापस लिये जाने से निष्क्रिय पड़ी या छिपाकर रखी गयी नकदी बैंकों में आयी है जिससे इसका उपयोग उत्पादक मकसद से किया जाएगा।

विभाग ने कहा, ‘‘भारी मात्रा में जमा की गयी राशि के लक्षित सत्यापन से कर आधार बढ़ेगा।’’ पीएसी को सौंपे गए लिखित जवाब में कहा गया है कि जो नकदी बैंकों में लौटी है, उस पर नजर रखना आसान है, अत: इससे कर चोरी अधिक कठिन होगी। विभाग के अनुसार साथ ही बैंकों के पास कोष की उपलब्धता बढ़ने तथा ब्याज दर कम होने से रिण वितरण में वृद्धि, उत्पादक आर्थिक गतिविधियों में निवेश को बढ़ावा तथा वृद्धि को गति मिलने की उम्मीद है।

सूत्रों ने कहा कि आर्थिक वृद्धि पर नोटबंदी के प्रभाव के ऊपर अपने जवाब में राजस्व विभाग ने यह बात कही। नोटबंदी के अन्य प्रभाव के सदर्भ में विभाग ने कहा कि इससे गैर-नकदी लेन-देन बढ़ेगा और फलस्वरूप पारदर्शिता आएगी तथा कर संग्रह पर सकारात्मक प्रभाव पड़ेगा। विभाग ने कहा कि साथ ही पारदर्शिता बढ़ाने के अन्य उपायों के साथ नोटबंदी से टिकाऊ एवं तीव्र आर्थिक वृद्धि का रास्ता साफ होगा।

गौरतलब है कि संसद की लोक लेखा समिति (पीएसी) ने नोटबंदी के मुद्दे पर वित्त मंत्रालय के अधिकारियों और रिजर्व बैंक के गवर्नर उर्जित पटेल से पूछताछ की है। पीएसी अध्यक्ष ने कहा था कि इनका जवाब संतोषजनक नहीं रहने पर प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी को भी बुलाया जा सकता है। इस बयान की भाजपा ने कड़ी आलोचना की थी।

वीडियो देखिए- शिवसेना ने नोटबंदी पर ‘सामना’ के संपादकीय में लिखा- “पीएम मोदी ने देश पर ‘न्यूक्लियर बॉम्ब’ गिराया”

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ लिंक्डइन पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App