ताज़ा खबर
 

केंद्रीय मंत्री नितिन गडकरी का ऐलान- पेट्रोल पंपों पर मिलेगा फास्‍टैग, तेल खरीद सकेंगे

देशभर में सड़क पर टोल का इलेक्ट्रॉनिक तौर पर संग्रह तेज करने के लिए जल्द ही पेट्रोल पंपों पर फास्टैग उपलब्ध कराए जाएंगे।

Author नई दिल्ली | January 8, 2019 11:06 AM
प्रतीकात्मक तस्वीर

देशभर में सड़क पर टोल का इलेक्ट्रॉनिक तौर पर संग्रह तेज करने के लिए जल्द ही पेट्रोल पंपों पर फास्टैग उपलब्ध कराए जाएंगे। बाद में इनका उपयोग पेट्रोल खरीदने और पार्किंग शुल्क अदा करने में भी किया जा सकेगा। केंद्रीय सड़क परिवहन एवं राजमार्ग मंत्री नितिन गडकरी ने सोमवार को कहा, ‘‘अब से फास्टैग पेट्रोल पंपों पर उपलब्ध होंगे और हमारी योजना इसे देशभर में उपलब्ध कराने की है। इसके अलावा यह योजना भी है कि ग्राहक इस कार्ड का उपयोग पेट्रोल खरीदने और पार्किंग सुविधाओं का शुल्क चुकाने में कर सकें।’’ फास्टैग एक उपकरण होता है जो वाहन के सामने वाले कांच पर लगाया जाता है।

यह रेडियो आवृत्ति पहचानने की तकनीक पर काम करता है। इससे ग्राहकों को टोल प्लाजा पर नकद लेनदेन के लिए रुकना नहीं पड़ता और टैग की मदद से टोल का भुगतान हो जाता है। इस टैग को ग्राहक सीधे अपने बैंक खाते से जोड़ सकते हैं या उसे पहले से प्रीपेड रीचार्ज भी करवा सकते हैं। आपको बता दें कि फिलहाल फास्टैग की सुविधा बैंकों द्वारा चुनिंदा टोल प्लाजाओं और बैंक शाखाओं के अलावा ऑनलाइन उपलब्ध है।

हाल में केंद्र सरकार ने पेट्रोल पंप पर लगे फास्टैग को जीएसटी से जोड़ना भी शुरू किया है। एनईटीसी के तहत फिलहाल फास्टैग की बिक्री प्रमाणित बैंकों द्वारा चुनिंदा टोल प्लाजाओं और बैंक शाखाओं के अलावा ऑनलाइन तरीके से होती है। हाल में केंद्र सरकार ने पेट्रोल पंप पर लगे फास्टैग को जीएसटी से जोड़ना भी शुरू किया है। नितिन गडकरी ने कहा, हमारी योजना देशभर के पेट्रोल पंपों पर फास्टैग उपलब्ध कराने की है। इसके अलावा यह योजना भी है कि ग्राहक इस कार्ड का उपयोग पेट्रोल खरीदने और पार्किंग सुविधाओं का शुल्क चुकाने में कर सकें।’

 

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ लिंक्डइन पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

Next Stories
1 BSNL ने प्रीपेड ग्राहकों को दी अच्‍छी खबर! मुफ्त में देख सकेंगे अनलिमिटेड फिल्में और वीडियो
2 पीएम के पूर्व सलाहकार ने कहा- सालाना रोजगार के एक करोड़ मौके पैदा करने की बात गलत, 46 लाख की ही जरूरत
3 550 करोड़ के बकाए पर अनिल अंबानी को सुप्रीम कोर्ट का नोटिस, कंपनी ने दिया यह ऑफर